विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

तेंदुए के हमले में युवक घायल

श्रावस्ती। खेत से लौट रहे जौगढ़ निवासी एक युवक पर शुक्रवार देर शाम तेंदुए ने हमला कर दिया। युवक की चीख पुकार पर ग्रामीणों को आता देख तेंदुआ खेतों में चला गया। घायल युवक को संयुक्त जिला चिकित्सालय भिनगा में भर्ती कराया गया है। भिनगा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम जौगढ़ निवासी मूने शुक्ला (21) पुत्र समय प्रसाद शुक्ला ने अपने खेत में मक्के की फसल लगा रखी है।
शुक्रवार शाम मूने अपना खेत देखने गया था। जहां से लौटते समय रास्ते में खेत से निकले एक तेंदुए ने उस पर हमला कर दिया। मूने की चीख पुकार सुनकर आसपास खेतों में मौजूद किसानों सहित ग्रामीण दौड़ पड़े। जिन्हें आता देख तेंदुआ खेतों की ओर चला गया। तेंदुए का पंजा मूने की गर्दन में लगने से वह घायल हो गया।
जिसे ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची एंबुलेंस से संयुक्त जिला चिकित्सालय भिनगा ले जाया गया। जहां उसका इलाज चल रहा है। तेंदुए के हमले की घटना के बाद आसपास के गांवों में भी लोग दहशत में हैं।
... और पढ़ें

प्रवासियों से गांव में बढ़ी विकास की रफ्तार

श्रावस्ती। लॉकडाउन के कारण घर लौटे प्रवासी मजदूरों से जिले में विकास की उम्मीद बढ़ गई है। विगत वर्ष जहां मनरेगा का श्रम लक्ष्य जिले में अधूरा रह गया था। वहीं इस वर्ष वित्तीय वर्ष के दो माह बीतने पर ही मानव श्रम दिवस का लक्ष्य पचास फीसदी से अधिक हो चुका है। श्रमिकों की कमी के चलते जहां अभी तक मिट्टी के कार्य नहीं हो पाते थे, वहां आज हर गांव में विकास ने रफ्तार पकड़ रखी है।
कोरोना संक्रमण के दौरान हुए लॉकडाउन के चलते प्रवासी श्रमिक घर लौट आए हैं। इससे गांवों में विकास की गति तेज हो गई है। मनरेगा योजना के तहत गांव के चारों ओर कहीं जल संरक्षण के लिए तालाब की सफाई हो रही है, तो कहीं नए तालाब का निर्माण कराया जा रहा है। गांव को चारों तरफ से संपर्क मार्ग से जोड़ने के लिए गड्ढों में तब्दील चक मार्गों की पटाई हो रही है।
स्थिति यह है कि ग्राम पंचायत चाहे जितने स्थानों पर एक साथ काम प्रारंभ कर दें, लेकिन मजदूरों की कमी नहीं हो रही है। यह विकास की बानगी मात्र है। जिस दिन महानगरों से लौटे श्रमिकों के होम क्वारंटीन की अवधि पूरी हो जाएगी। उस दिन गांवों में चहुं ओर विकास दिखेगा। देखा जाए तो इस विकास के पीछे जिले में लौटे 37748 प्रवासी मजदूरों का बड़ा योगदान है।
जो अब तक महानगरों से वापस कर चुके है। इसमें से मात्र 7349 श्रमिक ही काम पर पहुंचे है। यह वह मजदूर हैं जिनकी होम क्वारंटीन अवधि पूरा हो चुकी है। जबकि अभी भी जिले में 31399 मजदूर होम क्वारंटीन है। जिनका क्वारंटीन अवधि पूरा होने के बाद विकास की गति अपने चरम पर पहुंच जाएगी।
विगत वर्ष जिले में 2204977 मानव श्रम सृजन दिवस का लक्ष्य था। इसके सापेक्ष यह 2168752 अर्थात 98.6 प्रतिशत ही पूरा हो पाया था। इस लक्ष्य में इकौना विकास खंड का 381017 के सापेक्ष 357329 यानी 93.78 प्रतिशत, गिलौला में 499327 के सापेक्ष 499711, हरिहरपुररानी में 408343 के सापेक्ष 396589, जमुनहा में 436967 के सापेक्ष 438398 व सिरसिया में 479323 के सापेक्ष 476725 मानव श्रम दिवस का लक्ष्य ही पूरा हो पाया था।
प्रवासी मजदूरों की वापसी के बाद मनरेगा योजना के तहत मानव श्रम सृजन दिवस लक्ष्य अभी से 58.39 प्रतिशत पहुंच गया है। इस वर्ष मानव श्रम सृजन दिवस का वार्षिक लक्ष्य जिले में 2260099 रखा गया है। इसके सापेक्ष मई में 58.39 प्रतिशत लक्ष्य पूरा हो चुका है। इसके साथ ही जिले में लगभग प्रत्येक ग्राम पंचायत में प्रतिदिन 200 से 250 मजदूर विभिन्न योजना में कार्य कर रहे हैं।
डीसी मनरेगा उपेंद्र पाठक ने बताया कि इस समय सभी ग्राम पंचायतों में प्रवासी मजदूरों की वापसी हुई है। किसी भी मजदूर के लिए काम की कमी न रहे, इसलिए मनरेगा योजना के तहत उन्हें काम दिया जा रहा है। मजदूरों की अधिकता होने के कारण कार्य में गति दिखाई दे रही है। जिले का कुल श्रमिक लक्ष्य अभी ही 58 फीसदी से अधिक हो चुका है। यह एक अच्छा संकेत है। - उपेंद्र पाठक, डीसी मनरेगा
... और पढ़ें

सोशल डिस्टेंसिंग से रुकेगा कोरोना संक्रमण

श्रावस्ती। वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग अनिवार्य है। जिसे अपना कर कोरोना के संक्रमण से निजात पाई जा सकती है। आगामी दिनों ईद का त्योहार मनाया जाएगा। ऐसे में बाजार गुलजार है। इस लिए सभी को सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गंभीर होना होगा।
यदि सोशल डिस्टेंसिंग को नजरअंदाज किया गया तो कोरोना के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। इसके लिए हम लोग ही जिम्मेदार होंगे। ऐसे में सभी लोग सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करे। यह बातें शनिवार को सिरसिया थाना क्षेत्र के चेकपोस्ट व बैरियर की जांच के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दुबे ने कहीं। उन्होंने कोरोना वॉरियर्स को भी मास्क, ग्लब्स पहनने व सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखने की सलाह दी।
पुलिस क्षेत्राधिकारी इकौना तारकेश्वर पांडेय ने सोनवा के रतनापुर, गिलौला के तिलकपुर मोड़, खुटेहना व इकौना के कटरा चेकपोस्ट पर जाकर लॉकडाउन की स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान जिले की सीमा पार आने जाने वालों की सघनता से जांच करने, बिना मास्क किसी भी व्यक्ति को जिले की सीमा में प्रवेश न होने देने, दो पहिया वाहन पर दो व चौपहिया वाहनों पर तीन से अधिक लोगों को कदापि बैठ कर आने जाने न देने का निर्देश दिया।
साथ ही वहां तैनात कर्मियों को नियमों का कड़ाई से पालन करने, मास्क, ग्लब्स पहनने तथा सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने का निर्देश दिया। वहीं पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर हौसला प्रसाद ने मल्हीपुर क्षेत्र के बैंकों, बाजारों, जन सेवा केंद्रों, एटीएम सहित अन्य सार्वजनिक स्थलों पर जाकर सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में जानकारी दी।
वहां मौजूद लोगों को मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने तथा घर लौटने पर साबुन से हाथ धोने की सलाह दी। थाना व चौकी प्रभारियों ने क्षेत्र के प्रमुख कस्बों व बाजारों में जाकर दुकानदारों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सभी ग्राहकों को सैनिटाइजर का प्रयोग करने के लिए प्रेरित करने की सलाह दी।
... और पढ़ें

विवाहिता की हत्या में छह पर केस

इकौना (श्रावस्ती)। ग्राम इटवरिया के सफेरनपुरवा निवासी विवाहिता की मौत के मामले में बुधवार को पिता ने दहेज के लिए छह लोगों पर हत्या का केस दर्ज कराया है। फिलहाल सभी छह आरोपी सास, ससुर, जेठ, जेठानी व ननद-ननदोई घर छोड़कर फरार है। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम ने तलाश शुरू कर दी है।
भिनगा कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत ग्राम लखहिया निवासी कामता प्रसाद वर्मा ने अपनी पुत्री रीना (22) का विवाह इकौना थाना क्षेत्र के ग्राम इटवारिया के मजरा सफेरन पुरवा निवासी राजेश कुमार पुत्र भगतराम के साथ किया था। कुछ माह पूर्व राजेश कुमार मेहनत मजदूरी करने दूसरे प्रदेश चला गया था।
जहां से अभी वापस नहीं लौटा है। सोमवार को संदिग्ध हालात में रीना की मौत हो गई थी। उसके गले में रस्सी का निशान भी था। घटना के बाद मृतका के ननद, ननदोई, जेठ, जेठानी, सास व ससुर घर छोड़कर फरार हो गए थे। मृतका के पिता ने ससुरालीजनों पर दहेज की मांग को लेकर उसकी पुत्री को परेशान करने व उसकी हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने भगत राम, लालबाबू, शकुंतला देवी, सुशीला, दिनेश व रामलाली पर दहेज हत्या का मामला दर्ज कर के आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

पुस्तकालय निर्माण में मानक विहीन सामग्री देख भड़के सीडीओ

श्रावस्ती। प्राथमिक विद्यालय गिलौल में निर्माणाधीन पुस्तकालय में मानक विहीन निर्माण सामग्री का उपयोग किया जा रहा है। इसका खुलासा मंगलवार सीडीओ की जांच में हुआ। इस दौरान सीडीओ ने कार्यदाई संस्था से स्पष्टीकरण तलब करने के साथ ही निर्माण सामग्री की जांच लैब से कराने का निर्देश दिया है। ऐसे ही सामुदायिक शौचालय सहित कई अन्य निर्माण कार्यों में भी खामियां पाई गई।
जिले में निर्माण कार्य गति पकड़ रहा है। इसी के साथ ही कार्यों में अनियमितता भी बरती जा रही है। इसका खुलासा बुधवार को सीडीओ की जांच में हुआ। सीडीओ ने प्राथमिक विद्यालय गिलौला कैंपस में निर्माणाधीन पुस्तकालय का औचक निरीक्षण किया था।
निर्माण कार्य में मानक के अनुरूप सामग्री का प्रयोग नहीं किया जा रहा था। ऐसे ही गिलौला बाजार में निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालय के निरीक्षण के दौरान भी मानक विहीन निर्माण सामग्री का उपयोग होता देख सीडीओ ने यहां तत्काल हो रहे कार्य को रुकवा दिया।
जबकि दोनों स्थानों पर कार्यदाई संस्था से स्पष्टीकरण तलब करते हुए निर्माण में प्रयुक्त सामग्रियों की जांच लैब से कराने का आदेश दिया। इस दौरान सीडीओ अवनीश राय ने भिनगा स्थित ड्रग वेयर हाउस के पीछे निर्माणाधीन आशा-एएनएम ट्रेनिग सेंटर के साथ कलेक्ट्रेट के नजदीक निर्माणाधीन आप की सखी आशा ज्योति केंद्र (वन स्टाप सेंटर) का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि कार्य को समयावधि पर पूर्ण किया जाए। इस दौरान परियोजना निदेशक बाल गोविंद शुक्ल, अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण सहित कई विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

खरीद एजेंसियों ने किसानों के 9.56 करोड़ दबाए

श्रावस्ती। गेहूं खरीद एजेंसियां किसानों का नौ करोड़ 56 लाख 92 हजार रुपये दबाए बैठी हैं। वहीं किसानों को खेती के लिए पैसों की आवश्यकता है। किसान कभी खरीद केंद्र तो कभी बैंक का चक्कर लगा रहे हैं। इसके बाद भी उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। इससे वह परेशान हैं।
किसानों ने गेहूं की फसल क्रय केंद्रों पर बेच दिया है। खेत खाली होने के बाद अब किसान अगली फसल बोने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन उनकी तैयारी गति नहीं पकड़ पा रही है। इसका कारण है कि फसल बेचने के बाद भी किसानों का हाथ खाली होना है।
किसानों को अपने उपज बेचने के बाद भी उसका अभी तक पूरा भुगतान नहीं मिला है। यदि विभागीय आंकड़ों पर गौर करें तो अब तक जिले के 34 क्रय केंद्रों पर 3433 किसानों ने अपनी फसल बेची है। इस पर उनको 32 करोड़ 76 लाख 39 हजार रुपये भुगतान होना था।
इसके सापेक्ष उन्हें 23 करोड़ 19 लाख 47 हजार रुपये अब तक दिया गया है। अभी भी किसानों का नौ करोड़ 56 लाख 92 हजार रुपये बाकी है। इसके चलते किसान अपनी अगली खेती की तैयारी नहीं कर पा रहे हैं। इसके साथ ही लॉकडाउन में उनके सामने दैनिक खर्च को लेकर समस्या है।
क्रय केंद्रों पर खरीद व भुगतान की स्थिति बेहतर नहीं है। इसीलिए किसानों का रुख क्रय केंद्रों के प्रति ठीक नहीं है। किसान क्रय केंद्रों की अपेक्षा बाजार में आढ़तियों के हाथों औने पौने दामों पर भी फसल बेचने को मजबूर हैं। हाला कि आढ़तियों के यहां उन्हें प्रति कुंतल 200-300 रुपये का नुकसान हो रहा है।
क्रय केंद्रों पर जहां 1925 रुपये प्रति कुंतल का मूल्य दिया जा रहा है। वहीं बाजार में 1400 से 1500 रुपये के बीच ही खरीद हो रही है। इसके बाद भी क्रय केंद्र में जहां पैसे का भुगतान बात में तो बाजार में तुरंत हो जा रहा है। इसलिए अब तक लक्ष्य के सापेक्ष मात्र 51.73 प्रतिशत की ही खरीद हो पाई है। जिले में इस वर्ष गेहूं खरीद के लिए 32900 एमटी का लक्ष्य दिया गया था। मंगलवार देर शाम तक जिले में 17020.217 एमटी की ही खरीद हो पाई है।
जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि खरीद एजेंसियों को लक्ष्य पूरा करने के लिए लगातार नोटिस भेजा जा रहा है। खरीद हो भी रही है। इसके साथ ही भुगतान भी किया जा रहा है। उम्मीद है कि जल्द ही खरीद लक्ष्य के अनुसार व किसानों को शत प्रतिशत भुगतान हो जाएगा। वैसे भी इस वर्ष विगत वर्ष की तुलना में खरीद ज्यादा हुई है। इसके साथ ही विगत एक दो दिन में मंडी में खरीद की दर 1870 रुपये तक पहुंच गई है। इसके चलते भी किसान सरकारी खरीद केंद्र पर कम आ रहे हैं। -
... और पढ़ें

न्यायिक अधिकारी ने स्क्रीनिंग सेंटर का किया निरीक्षण, दिया राशन किट

श्रावस्ती। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव ने बुधवार को भिनगा के स्पोर्ट्स स्टेडियम स्थित स्क्रीनिंग सेंटर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने जिला एवं सत्र न्यायाधीश के निर्देश पर स्क्रीनिंग सेंटर में आए प्रवासियों को राशन किट आदि प्रदान की।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव व सिविल जज प्रशांत कुमार सिंह बुधवार को जनपद न्यायाधीश मृदुलेश कुमार सिंह के निर्देश पर स्पोर्ट्स स्टेडियम भिनगा स्थित स्क्रीनिंग सेंटर पहुंचे। जहां उन्होंने सेंटर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने देखा कि यहां आए प्रवासी प्रोटोकॉल के तहत उचित शारीरिक दूरी का ध्यान रख रहे हैं।
साथ ही स्वास्थ्य विभाग की ओर से निर्धारित मानक के अनुरूप स्वास्थ्य एवं चिकित्सीय जांच कराई जा रही है। स्क्रीनिंग सेंटर पर मौजूद लोगों की ओर से साफ सफाई का भी ध्यान रखा जा रहा है। मौके पर उपस्थित एसडीएम भिनगा प्रवेंद्र कुमार व तहसीलदार भिनगा राजकुमार पांडेय ने बताया कि स्क्रीनिंग सेंटर को नियमित रूप से दिन में दो बार सैनिटाइज किया जाता है।
यहां आने वाले प्रवासी मजदूरों की स्क्रिीनिंग व हेल्थ चेकअप किया जाता है। इसके बाद उन्हें बिस्किट, पानी व लंच पैकेट प्रदान किया जाता है। यदि कोई व्यक्ति कोरोना संदिग्ध पाया जाता है तो उसको सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भंगहा भेजा जाता है।
अन्य व्यक्तियों को होम क्वारंटीन करने के लिए उन्हें दस किलो चावल, दस किलो आटा, दो किलो दाल, दो किलो चना, आधा किलो नमक, एक किलो तेल, 250 ग्राम हल्दी, मिर्च एवं धनिया का पैकेट देकर घर भेजा जाता है। सिविल जज ने स्क्रीनिंग सेंटर पर भोजन पकाने की व्यवस्था भी जांची। बुधवार को यहां 61 प्रवासी मजदूरों की स्क्रीनिंग की गई थी।
... और पढ़ें

मां बेटे की हत्या कर झाड़ियों में फेंका शव

इकौना (श्रावस्ती)। मलौना खसियारी के मजरा बसंतपुर स्थित एक खेत में लगे बांस की झाड़ियों के किनारे सोमवार सुबह एक महिला व मासूम का शव पड़ा मिला। दोनों के शरीर पर चोट के कई निशान थे। इससे यह लगता था जैसे किसी ने मां व बेटे की हत्या कर लाश को झाड़ियों में छिपाने के लिए फेंका हो। प्रधान प्रतिनिधि की सूचना पर पहुंची इकौना पुलिस ने शवों का पंचनामा भरा कर उन्हें पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेजा है। पुलिस ने आसपास के गांव के लोगों से महिला व बालक की शिनाख्त कराने का प्रयास किया मगर कोई जानकारी नहीं मिल सकी।
इकौना थाना क्षेत्र के ग्राम मलौना खसियारी का मजरा बसंतपुर बलरामपुर जिले के थाना ललिया के सीमा पर स्थित है। मलौना खसियारी निवासी कृपाराम यादव ने अपने खेत में बांस लगा रखा है। इसके आसपास झाड़ियां हैं। सोमवार सुबह कुछ ग्रामीण नित्य क्रिया के लिए खेत गए थे। जहां उन्हें बांस के झुरमुट में एक 24 वर्षीय विवाहिता व एक वर्षीय बालक का शव पड़ा दिखा। दोनों के शरीर पर चोट के कई निशान थे। महिला ने लाल रंग की साड़ी व ब्लाउज तथा कत्थई चूड़ी पहन रखी थी।
जबकि बालक ने लाल टी शर्ट पहन रखी थी। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि ने इसकी सूचना इकौना पुलिस को दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक अनूप सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दूबे, सीओ इकौना तारकेश्वर पांडे व प्रभारी निरीक्षक इकौना मनोज कुमार पांडेय ने ग्रामीणों से मां बेटे की शिनाख्त कराने का तमाम प्रयास किया, लेकिन कोई जानकारी नहीं मिल सकी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेजा है।
इस बारे में एएसपी बीसी दुबे ने बताया कि बसंतपुर ललिया थाना क्षेत्र की सीमा पर स्थित है। ललिया पुलिस को भी शिनाख्त के लिए बुलाया गया, लेकिन महिला व बालक की पहचान नहीं हो पाई। पुलिस व फोरेंसिक टीम की ओर से मामले की जांच की गई है। देखने से मामला हत्या का प्रतीत होता है। मामले की जांच कराई जा रही है। जल्द ही इसका खुलासा कर दिया जाएगा। फिलहाल शव को भिनगा स्थित पोस्टमार्टम हाउस में शिनाख्त के लिए रखा गया है।
... और पढ़ें

चेकपोस्टों पर पुलिस व स्वास्थ्यकर्मी बरतें सतर्कता

चेकपोस्टों पर पुलिस व स्वास्थ्यकर्मी बरतें सतर्कता
पुलिस अधिकारियों ने लॉकडाउन का लिया जायजा, दिया निर्देश
संवाद न्यूज एजेंसी
फोटो - 12
श्रावस्ती। गैर प्रांत व महानगरों से श्रमिकों का दल लगातार जिले में आ रहा हैं। इससे कोरोना संक्रमण का खतरा हो सकता है। ऐसे में सीमा क्षेत्र में बने चेकपोस्ट पर तैनात पुलिस व स्वास्थ्य कर्मी सतर्कता बरतें। उनकी लापरवाही घातक साबित हो सकती है। इसलिए कोई चूक न होने दें।
यह बातें मंगलवार को अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दूबे ने क्षेत्र भ्रमण के दौरान सीमा पर बने चेकपोस्टों पर तैनात कर्मचारियों से कहीं। लॉकडाउन का जायजा लेने पहुंचे एएसपी ने बैरियर व चेक पोस्ट पर तैनात कर्मियों को नियमों का कड़ाई से पालन करने, मास्क व ग्लब्स पहनने तथा सामाजिक दूरी के नियमों का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया। वहीं क्षेत्राधिकारी नगर हौसला प्रसाद व सीओ इकौना तारकेश्वर पांडेय ने भी अपने अपने क्षेत्र में भ्रमण कर लॉकडाउन की स्थित का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने बैंक, एटीएम, ग्राहक सेवा केन्द्र, गैस एजेंसी, बैरियर व चेकपोस्ट आदि की जांच की। जहां तैनात कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया। इसके साथ ही अनावश्यक रुप से घूमने वालों के विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही करने का निर्देश दिया। थाना व चौकी प्रभारियों ने अपने अपने क्षेत्रों में पैदल गश्त कर लॉकडाउन का जायजा लिया। लोगों को शासन व प्रशासन की ओर से बताए गए नियमों का पालन करने, मास्क व ग्लब्स पहनने, अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न निकलने तथा सामाजिक दूरी बनाए रखने का निर्देश दिया।
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात में मिला विवाहिता का शव, हत्या का आरोप

इकौना (श्रावस्ती)। इकौना के ग्राम इटवरिया के सफेरनपुरवा निवासी एक विवाहिता का शव संदिग्ध हालात में सोमवार को उसी के घर में पड़ा मिला। वहीं घटना के बाद ससुरालीजन घर छोड़ कर फरार हो गए। सूचना पर पहुंचे मृतका के पिता ने पुत्री की हत्या का आरोप लगाते हुए जेठ, जेठानी, सास व ससुर के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
भिनगा कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत ग्राम लखहिया निवासी कामता प्रसाद ने अपनी पुत्री रीना (22) का विवाह इकौना थाना क्षेत्र के ग्राम इटवारिया के मजरा सफेरन पुरवा निवासी राजेश कुमार पुत्र भगतराम के साथ किया था। मौजूदा समय राजेश कुमार मेहनत मजदूरी करने दूसरे राज्य गया था। जहां से अभी वापस नहीं लौटा है। सोमवार को संदिग्ध हालात में रीना की मौत हो गई। घटना के बाद रीना के जेठ, जेठानी, सास व ससुर घर छोड़कर फरार हो गए है।
घटना की जानकारी ग्रामीणों को दोपहर बाद हुई। इस पर ग्रामीणों ने इसकी सूचना प्रभारी निरीक्षक इकौना मनोज पांडेय को दी। दल बल के साथ मौके पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक ने आसपास के ग्रामीणों से घटना की जानकारी ली। वहीं बाद में मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी तारकेश्वर पांडेय व तहसीलदार मुकेश शर्मा ने भी गांव के लोगों से घटना के संबंध में पूछताछ की। इसके बाद पुलिस ने इसकी सूचना मृतका के पिता कामता प्रसाद को देकर उन्हें मौके पर बुलाया।
महिला के गले में रस्सी के निशान भी मिले। कामता प्रसाद ने पुत्री के जेठ, जेठानी, सास व ससुर पर हत्या का आरोप लगाते हुए इकौना पुलिस को तहरीर दी है। पुलिस ने लाश का पंचनामा भरा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस बारे में प्रभारी निरीक्षक इकौना बताते हैं कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल सकेगा। उसी के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

पाकिस्तानी टिड्डी दल को लेकर जिले में हाई अलर्ट

श्रावस्ती। देश के कई हिस्सों में पाकिस्तानी टिड्डी दलों का प्रकोप है। यह दल बुंदेलखंड व आगरा में भी प्रवेश कर चुका है। ऐसे में प्रदेश के अन्य जिलों में भी इनके पहुंचने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। इसे देखते हुए प्रदेश में हाई अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही डीएम के पर्यवेक्षण में टीम का गठन कर सीडीओ को उसका अध्यक्ष बनाया गया है।
यह जानकारी देते हुए जिला कृषि रक्षा अधिकारी विजय कुमार ने बताया कि प्रदेश सरकार की ओर से जिले में टिड्डे के प्रकोप की निगरानी के लिए टीम गठित करने का निर्देश दिया गया था। इसके अनुपालन में मुख्य विकास अधिकारी अवनीश राय की अध्यक्षता में टीम का गठन किया गया है। इसमें उप कृषि निदेशक आरपी राना, जिला कृषि अधिकारी व जिला कृषि रक्षा अधिकारी को सदस्य नामित किया गया है। यह टीम जिले स्तर पर टिड्डियों के प्रकोप की निगरानी करेगी।
साथ ही टिड्डी दल के प्रकोप को रोकने के लिए सुरक्षा के इंतजाम व उसकी व्यवस्था करेगी। टीम के पर्यवेक्षण की जिम्मेदारी जिलाधिकारी को सौंपी गई है। पाकिस्तानी टिड्डा करीब ढाई इंच लंबे हैं। जो कुछ ही घंटों में फसल को खा जाते हैं। यह लगभग सभी प्रकार के हरे पत्तों पर आक्रमण करते हैं। इस प्रकार टिड्डी दल फसलों के लिए महामारी का रूप ले लेता है। टिड्डे दल के प्रकोप की दशा में किसान ढोल, टीन के डिब्बे, थालियों आदि को पीट कर शोर करें।
अपनी फसलों पर क्लोरोपायरीफास बीस प्रतिशत ईसी का छिड़काव करें। इसके अतिरिक्त क्लोरोपायरीफास पचास प्रतिशत या इनालफास 25 प्रतिशत व हैलोथिन पांच प्रतिशत व मालीथियान 50 प्रतिशत ईसी के दो मिली लीटर मात्रा एक लीटर पानी में घोल कर प्रयोग करें। यदि कहीं टिड्डी दिखाई दे तो तत्काल किसान जिला कृषि रक्षा अधिकारी के मोबाइल नंबर 9452618132 अथवा प्रदेश स्तर पर बने कंट्रोल रूम के नंबर 0522-2732063 पर काल कर सूचना अथवा जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
... और पढ़ें

घूमते मिले प्रवासी, क्वारंटीन सेंटर भेजा

इकौना (श्रावस्ती)। गैर प्रांतों व महानगरों से वापस घर लौटे प्रवासियों को 21 दिनों तक अपने घर पर ही एकांतवास करने का निर्देश दिया गया है। इसका उनकी ओर से अनुपालन नहीं किया जा रहा है। इसका खुलासा मंगलवार को कंजड़वा में एसडीएम व सीओ इकौना के निरीक्षण में हुआ। निरीक्षण के दौरान दो प्रवासी घर से नदारद मिले। जिन्हें 14 दिनों तक क्वारंटीन करने के लिए कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय इकौना भेजा गया है।
वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण को और फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन किया गया है। इतना ही नहीं महाराष्ट्र, मुंबई, दिल्ली, हरियाणा, गुजरात व पंजाब सहित अन्य प्रांतों व महानगरों से घर वापस लौटने वाले प्रवासी मजदूरों को स्वास्थ्य विभाग की ओर से एहतियातन 21 दिनों तक अपने घरों में रह कर एकांतवास करने, चेहरे पर मास्क व रुमाल लगाने, अपने कपड़े व बर्तन स्वयं धुलने तथा लोगों के संपर्क से दूर रहने की चेतावनी दी गई है।
इसका लोग अनुपालन नहीं कर रहे हैं। क्वारंटीन अवधि में भी लोग घरों से बाहर घूम रहे हैं। इसका खुलासा मंगलवार को इकौना के ग्राम कंजड़वा में हुआ। जहां क्वारंटीन अवधि में बाहर घूमने व लॉकडाउन का उल्लंघन करने के मामले में निगरानी समिति व ग्रामीणों ने एसडीएम से शिकायत की थी। शिकायत के बाद गांव पहुंचे उपजिलाधिकारी इकौना राजेश मिश्रा व पुलिस क्षेत्राधिकारी इकौना तारकेश्वर पांडेय को मनीष यादव व कृष्ण कुमार पासवान घर पर उपस्थित नहीं मिले।
जिनके विरुद्ध महामारी अधिनियम व लॉकडाउन का उल्लंघन करने के मामले में कार्रवाई करते हुए उन्हें स्वास्थ्य विभाग की ओर से 14 दिनों तक कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय इकौना स्थित क्वारंटीन स्थल भेजा गया है।
... और पढ़ें

कोरोना के खात्मे की मांगी दुआ

श्रावस्ती। जिले भर में सोमवार को ईद मनाई गई। कोरोना संक्रमण के चलते इस इस बार लोगों ने अपने अपने घरों में ही ईद की नमाज अदा की। ईदगाहों पर मात्र पांच-पांच नमाजियों को ही पेश इमाम ने ईद की नमाज अदा कराई। दौरान भिनगा सहित जिले के अन्य स्थानों पर ईद की नमाज अता कर लोगों ने अमन चैन व कोरोना महामारी को दूर करने की दुआ मांगी। इसके बाद लोगों ने बिना गले मिले एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी।
जिले भर में ईद का त्योहार शांति एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में सोमवार को संपन्न हुआ। भिनगा सहित जिले के अन्य ईदगाहों में मात्र पांच पांच लोगों को ही ईद की नमाज अदा कराई गई। वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण को देखते हुए प्रशासन की ओर से धर्मगुरुओं व आम लोगों से अपने अपने घरों में ही ईद की नमाज अदा करने की अपील की गई थी। इसका असर भी देखने को मिला।
लोगों ने अपने अपने घरों में ही सामाजिक दूरी का अनुपालन करते हुए ईद की नमाज अदा की। इतना ही नहीं लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए दूर से ही दुआ सलाम व ईद की मुबारकबाद देते नजर आए। इस बार लोगों ने एक दूसरे के घरों पर जाकर सेंवई खाने से भी परहेज किया।
लोगों ने अपने अपने घरों में परिवार के साथ मिल बैठ कर ईद की सेंवई व अन्य पकवानों का लुफ्त उठाया। ईदगाहों पर नमाजियों की भीड़ न पहुंचे व सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन हो इसके लिए चिलचिलाती धूप व भीषण उमस भरी गर्मी की परवाह किए बगैर स्थानीय पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी व कर्मचारी ईदगाहों पर मौजूद रहे। यही हाल इकौना, गिलौला, सिरसिया, जमुनहा, हरदत्त नगर गिरंट, बदला, नासिरगंज, भंगहा, लक्ष्मनपुर बाजार, सेमगढ़ा आदि क्षेत्रों का भी रहा।
जहां लोगों ने अपने अपने घरों में ईद की नमाज अदा कर अमन चैन व कोरोना संक्रमण को दुनिया से दूर करने की दुआ मांगा। इसके साथ ही एक दूसरे के ईद की मुबारक बाद दी। त्योहार को सकुशल संपन्न कराने के लिए प्रशासन पूरी तरह चौकन्ना रहा। इस दौरान सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए थे। सुरक्षा के मद्दे नजर स्थानीय पुलिस के साथ ही पीएसी व होमगार्ड के जवानों को भी ईदगाह व आसपास के मार्गों पर तैनात किया गया था।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us