विज्ञापन
विज्ञापन
आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें कैसा है आपका भविष्य !
JANAM KUNDALI

आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें कैसा है आपका भविष्य !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

आगामी त्योहार को लेकर तत्काल पूरी करें सभी तैयारी

श्रावस्ती। आगामी त्यौहारों को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता डीएम ने कही। इस दौरान एसपी सहित अन्य विभागों के विभागाध्यक्ष व उच्च अधिकारी मौजूद रहे।
बैठक में जिलाधिकारी टीके शिबु ने कहा कि आगामी दिनों बारावफात, करवा चौथ, धनतेरस, दीपावली, भैयादूज व कार्तिक पूर्णिमा मेला आदि त्योहार मनाए जाएंगे। इस दौरान कस्बा व बाजार सहित गांवों में भी चहलपहल रहेगी। ऐसे में जिले की शांति व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए अधिकारी अपने स्तर से सभी तैयारियां पूरी कर लें। वहीं डीएम ने समस्त थाना क्षेत्रों के विभिन्न समुदाय के संभ्रान्त व्यक्तियों से वार्तालाप कर क्षेत्रीय समस्याओं के बारे में जानकारी भी ली।
साथ ही गांवों सहित कस्बों में साफ सफाई कराने, नगर में चूना डालने का निर्देश भी दिया। पुलिस अधीक्षक अरविंद मौर्य द्वारा उपस्थित लोगों से शांति सौहार्द एवं भाई चारे के साथ सामाजिक दूरी का पालन करते हुए त्यौहार मनाने व इबादत करने तथा क्षेत्र के लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए जागरूक करने तथा पुलिस प्रशासन का सहयोग करने की अपील की। एसपी ने बताया कि त्यौहार को शांतिपूर्ण ढंग से मनाने के लिए सभी क्षेत्राधिकारियों व थाना प्रभारियों को पहले से ही निर्देश दिया जा चुका है।
वह अपने-अपने क्षेत्रों की जांच परख कर पुख्ता इंतजाम करेंगे। त्यौहार वाले दिन सचेत रहकर कड़ी निगरानी के साथ सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखें, जिससे आम जनमानस को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पडे़। बैठक में उपस्थित सभी कमेटी के सदस्यों को सलाह दी गई कि वह अफवाहों पर ध्यान न दें। यदि कहीं किसी प्रकार की कोई भी अफवाह फैलाई जाती है तो जो भी व्यक्ति अफवाह फैलाने का प्रयास करता है तो उस पर विधिक कार्रवाई की जाये।
इस दौरान एसपी ने मौजूद लोगों से उनके क्षेत्र की समस्या के बारे में जानकारी लेते हुए उनकी राय भी ली। बैठक में अपर जिलाधिकारी योगनंद पांडे, अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दूबे, सभी उपजिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी भिनगा व इकौना, खंड विकास अधिकारी, अधिशाषी अभियंता जल निगम, सभी थाना प्रभारी व दोनों समुदाय के प्रतिनिधि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

प्याज व टमाटर सस्ते लेकिन नया आलू महंगा

श्रावस्ती। आसमान छू रहे प्याज व टमाटर के भाव अब गिरने लगे हैं। इसका असर आलू सहित अन्य सब्जियों पर भी दिखाई देने लगा। मंडियों में आवक बढ़नेे के कारण साग भाजी के दाम में भी नरमी दिखाई देने लगी है। इस बीच नए आलू का भाव स्थिर बना हुआ है। सामान्यता सब्जियों के भाव में बीस से तीस प्रतिशत तक की नरमी देखी जा रही है।
जिले में आसमान छू रहे आलू व प्याज के भाव को देखते हुए सिर्फ गरीब ही नहीं मध्यम वर्गीय परिवार भी इससे किनारा कसने लगे थे। वहीं चढ़ते आलू के भाव को देखते हुए लोग उसका विकल्प तलाशने लगे थे। नवरात्र समाप्त होते ही आसमान छू रहे सब्जियों के भाव तेजी से नीचे आने लगे हैं। अब तक 80 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बिकने वाला प्याज अब फुटकर बाजार में 55 रुपये प्रति किलोग्राम पहुंच गया।
वहीं साठ रुपये प्रति किलोग्राम बिकने वाला टमाटर अब फुटकर बाजार में 35 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रहा है। यही हाल लाल व सफेद आलू का भी है। इनके भाव में पांच रुपये प्रति किलोग्राम तक की नरमी देखी जा रही है। वहीं बाजार में सब्जियों की आवक बढ़ने के कारण हरी सब्जियों के दामों में भी नरमी देखी जा रही है। सब्जी किसान सहजराम बताते हैं कि बरसात के कारण जहां पैदावार कम हो गई थी।
वहीं किसान धान की कटाई मड़ाई के कारण अपनी सब्जियों को मंडी तक नहीं पहुंचा पा रहे थे जिससे इनके दामों में तेजी आ गई थी। किसान मुसीबत अली बताते हैं कि बाजार में जिस भाव सब्जियां बिक रही है उसके आधे दाम पर भी मंडी में सब्जियों की खरीद नहीं हो रही है। तमाम किसान इससे भी कम मूल्य में मार्ग किनारे रख कर ताजी सब्जियां बेच रहे हैं।
वहीं आढ़ती छोट्टन रायनी बताते हैं कि मंडियों में आवक कम होने के कारण सब्जियो के भाव में तेजी आई थी। अब जब मंडी में सब्जियां पर्याप्त मात्रा में पहुंच रही है तो दाम कम होना स्वभाविक है।
... और पढ़ें

चयनित वालंटियर्स को मिला प्रशिक्षण

कटरा (श्रावस्ती)। महिला कल्याण विभाग द्वारा जगतजीत इंटर कालेज इकौना में मिशन शक्ति के तहत महिला शक्ति केंद्र स्थापित किया गया। जहां 55 छात्र छात्राओं का वालंटियर्स के रूप में चयन कर उन्हें प्रशिक्षण दिलाया गया। इस दौरान मुख्य रूप से महिला कल्याण अधिकारी मौजूद रहीं।
जगतजीत इंटर कालेज इकौना में मिशन शक्ति के तहत नारी सुरक्षा व नारी सम्मान तथा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को साकार करने के लिए महिला शक्ति केंद्र स्थापित कराया गया है। जहां बुधवार को महिला कल्याण अधिकारी सरिता मिश्रा की अध्यक्षता में प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ। इसका शुभारंभ विद्यालय के प्रधानाचार्य डा. भुदेश्वर पांडे ने किया। इसमें चौधरी राम बिहारी बुद्ध इंटर कालेज कटरा के स्काउट एवं एनसीसी के 30 तथा जगतजीत इंटर कालेज इकौना के 25 छात्राओं को प्रशिक्षित किया गया।
इस दौरान महिला कल्याण अधिकारी ने कहाकि बालिकाओं का अस्तित्व और सुरक्षा सुनिश्चित करना, बालिकाओं की शिक्षा सुनिश्चित करना, बालिकाओं को शोषण से बचाना व उन्हें सही तथा गलत के बारे में अवगत कराने के लिए ही इस योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य शिक्षा के माध्यम से लड़कियों को सामाजिक और वित्तीय रूप से स्वतंत्र बनाना है। साथ ही लोगों को इसके प्रति जागरुक करना एवं महिलाओं के लिए कल्याणकारी सेवाएं प्रदान करने में सुधार करना है। मुख्य रूप से लड़के एवं लड़कियों के लिंग अनुपात में ध्यान केन्द्रित किया जाना है।
ताकि महिलाओं के साथ हो रहे भेदभाव को रोका जा सके। इस योजना का उद्देश्य बेटियों के अस्तित्व को बचाना एवं उनकी सुरक्षा को सुनिश्चित करना भी है। शिक्षा के साथ ही बेटियों को अन्य क्षेत्रों में आगे बढ़ाने एवं उनकी इसमें भागीदारी को सुनिश्चित करना भी इसका लक्ष्य है। प्रधानाचार्य ने कहाकि सभी छात्र छात्राएं अपने कर्तव्य का पालन करें और नियमित संयमित रहे। कुसुम श्रीवास्तव ने आपातकाल स्थिति में 112 नंबर डायल करने की सलाह दी। साथ ही उन्हें 181 तथा 1090 के बारे में भी विस्तृत रूप से बताया। इस मौके पर रिजवाना, गुलशन जहां, शिक्षक राजेश कुमार यादव सहित अन्य छात्र छात्राएं मौजूद रहीं।
... और पढ़ें

यूपी: अपहरणकर्ताओं ने दलित पूर्व प्रधान के अगवा पुत्र को मौत के घाट उतारा, तीन लाख मांगी थी फिरौती

दो दिन पहले ट्यूशन पढ़ने घर से निकले छात्र का अपहरण करने के बाद अपहरणकर्ताओं ने दलित छात्र की नृशंस हत्या कर दी। छात्र के पिता पूर्व ग्राम प्रधान हैं। शुक्रवार की रात परिजनों से फोन कर तीस लाख रूपये की फिरौती मांगी गई थी। मगर शनिवार सुबह छात्र का शव पड़ोसी जनपद श्रावस्ती के सोनवा इलाके में नहर में पड़ा मिला। छात्र की अपहरण के बाद हत्या की खबर से पूरे जिले में हड़कंप मच गया।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। सीओ ने घटनास्थल का निरीक्षण किया है। पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही अपहरण करने के बाद हत्या का कारण पता कर घटना का खुलासा किया जाएगा।

मटेरा थाना क्षेत्र के मझौली गांव निवासी ओमकार नाथ चौधरी पूर्व ग्राम प्रधान रहे हैं। उनका 13 वर्षीय पुत्र वेदप्रकाश गुरुवार को अपने घर से ट्यूशन पढ़ने की बात कहकर निकला था। काफी देर तक जब वह घर नहीं लौटा तो परिजन ढूढ़ने निकले। खोजबीन के बाद जब छात्र का पता नही लगा तो परिजनों ने थाने में बेटे के अपहरण होने की शिकायत दर्ज कराई।
... और पढ़ें
मृतक छात्र (फाइल फोटो) मृतक छात्र (फाइल फोटो)

प्रतिबंध के बाद भी निकला जुलूस, दो पक्षों में विवाद

श्रावस्ती। बारावफात पर इस बार जुलूस-ए-मोहम्मदी निकालने पर प्रशासन ने प्रतिबंध लगा रखा था। इसके बावजूद भंगहा में डीजे बजाते हुए जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया। यही नहीं जुलूस के लिए नया रास्ता भी चुना गया। इसके चलते दो पक्ष आमने सामने आ गए। सूचना पर एसडीएम व अतिरिक्त पुलिस बल ने मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों के लोगों को समझा कर शांत कराया। वहीं बाद में प्रशासन ने जुलूस निकालने वाले लोगों को समझाकर वापस कर दिया। यह घटना भंगहा पुलिस चौकी के ठीक सामने हुई, इस दौरान चौकी पुलिस मूक दर्शक बनी रही।
कोरोना संक्रमण को देखते हुए बारावफात पर इस वर्ष जुलूस निकालने पर प्रशासन की ओर से पाबंदी लगाई गई थी। प्रशासन ने लोगों से त्योहार को अपने घरों पर ही मनाने को कहा था। प्रशासन के इस फरमान को जिले में लगभग सभी क्षेत्रों में माना गया, लेकिन जिला मुख्यालय से मात्र कुछ दूरी पर ही भंगहा पुलिस चौकी के ठीक सामने पिकअप पर डीजे बांध कर गाजे बाजे के साथ जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया। इस दौरान जुलूस निकालने वाली कमेटी ने नया रास्ते का चयन किया। जैसे ही जुलूस नए रास्ते पर पहुंचा, वहां स्थानीय लोगों ने इसका विरोध करना प्रारंभ कर दिया।
स्थिति यह हुई कि दो पक्ष के लोग जुलूस को लेकर आमने सामने खड़े हो गए। इसी बीच घटना की जानकारी कुछ लोगों ने डीएम को दी। सूचना मिलते ही एसडीएम अतिरिक्त पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। जहां दोनों पक्षों को समझा कर मामला शांत कराया गया। वहीं प्रशासन ने जुलूस निकालने वाली कमेटी के साथ वार्ता करके सभी को वापस कर दिया।
इस दौरान स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया की भंगहा पुलिस चौकी के प्रभारी ने प्रतिबंध के बावजूद जुलूस निकालने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की। चौकी के सामने ही खाली पड़े मैदान पर ही पिकअप पर लोग डीजे बांध कर जुलूस में शामिल हुए। जुलूस भंगहा चौकी के सामने से गुजरा इस दौरान पुलिस मूक दर्शक बनी रही। ऐसे ही भिनगा बाजार में कुछ लोग एक मस्जिद में एकत्र हुए थे। इसकी जानकारी प्रशासन को होने के बाद लोगों को समझा कर उन्हें घर वापस किया गया।
अमन चैन के लिए मांगी दुआ, अधिकारियों ने किया भ्रमण
कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार बारावफात पर कोई कार्यक्रम नहीं आयोजित हुआ। लोगों ने घरों में ही मोहम्मद साहब का जन्म दिवस मनाया तथा अमन चैन के लिए दुआएं मांगी। धर्मगुरुओं ने भी लोगों से घरों में रहकर ही त्योहार मनाने की अपील की। वहीं बारावफात को शांतिपूर्वक संपन्न कराने को लेकर डीएम टीके शिबु व एसपी अरविंद कुमार मौर्य ने जिले में भ्रमणशील रह कर स्थिति का जायजा लिया।
डीएम व एसपी ने भिनगा, चहलवा, नासिरगंज, बदला चैराहा, गिरंट बाजार, मिर्जापुर चैराहा व लछमन नगर में भ्रमण कर शांति व्यवस्था का जायजा लिया। वहीं अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दूबे ने सोनवा व मल्हीपुर क्षेत्र का भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने नासिरगंज, बदला तथा गिरंट में पुलिस बल के साथ फ्लैग मार्च किया। इसके साथ ही लोगों को शांतिपूर्ण तरीके से त्यौहार मनाने व सामाजिक दूरी बनाए रखने तथा मास्क पहनने के लिए जागरूक किया गया।
कराई जाएगी जांच
भंगहा में जुलूस निकलते ही उसे रोक दिया गया था। इसकी जांच बाद में कराई जाएगी कि जब अनुमति नहीं थी तो कैसे लोग जुलूस के लिए एकत्र हुए। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। - बीसी दुबे एएएसपी
... और पढ़ें

उन्नति प्रजाति के बीज का चयन करें किसान

श्रावस्ती। कृषि विज्ञान केंद्र भिनगा में प्रवासी किसानों को नवीन कृषि तकनीकि के माध्यम से उन्नति खेती का प्रशिक्षण दिलाया गया। इस दौरान कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को उन्नति प्रजाति के बीज का चयन कर अतिरिक्त लाभ लेने के लिए प्रोत्साहित किया। साथ ही प्रशिक्षण में मौजूद किसानों को उन्नति प्रजाति का बीज भी वितरित किया।
प्रशिक्षण के दौरान कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. विनय कुमार ने कहा कि खेती किसानी तो तमाम किसान करते हैं, लेकिन जानकारी के अभाव में किसान उचित बीज, उर्वरक आदि का प्रयोग नहीं कर पाते। इसके चलते उन्हें अक्सर नुकसान उठाना पड़ता है। किसानों को चाहिए कि वह उन्नति प्रजाति के बीजों का चयन करें।
मिट्टी की जांच कराकर आवश्यकता के अनुरूप उर्वरक का प्रयोग करें। ज्यादा से ज्यादा प्रयास करें कि वह रासायनिक उर्वरक के स्थान पर वर्मी कंपोस्ट, गोबर अथवा हरी खाद का प्रयोग करें। इससे खेत की उर्वरा शक्ति बढ़ने के साथ ही अच्छी पैदावार भी होगी। डॉ. उमेश कुमार ने किसानों को बीज शोधन, बायोफर्टीलाइजर का प्रयोग करने तथा बीज को लाइन से बोने की तकनीकि के बारे में बताया।
इस दौरान प्रशिक्षण में मौजूद किसानों को नरेंद्र सब्जी मटर दो, आजाद सब्जी मटर तीन आदि की बोआई करने की सलाह दी गई। इसके साथ ही उसमें खर पतवार व कीट प्रबंधन के बारे में जानकारी दी गई। इस मौके पर प्रगतिशील कृषक रामपाल सिंह, सौरभ सिंह तथा रामसमुझ वर्मा ने किसानों से सब्जियों की खेती के बारे में अपना अनुभव साझा किया। इस दौरान किसानों को उन्नति प्रजाति का बीज का वितरण भी किया। इस मौके पर काफी संख्या में प्रवासी किसान मौजूद रहे।
... और पढ़ें

1.32 लाख आबादी में खोजे जाएंगे टीबी रोगी

श्रावस्ती। देश को वर्ष 2025 तक टीबी से मुक्त बनाया जाएगा। इसके लिए दो नवंबर से राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के तहत सघन टीबी रोगी खोज अभियान (एसीएफ) की शुरूआत की जाएगी। यह जानकारी देते हुए जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. एलएल वर्मा ने बताया कि जिले में दस दिवसीय सघन टीबी रोगी खोज अभियान चलाया जाएगा। इसका 11 नवंबर को समापन होगा।
उन्होंने बताया कि अभियान मार्च में चलाया जाना था, लेकिन इसको लॉकडाउन के कारण स्थगित कर दिया गया था। दस दिवसीय इस अभियान के तहत टीबी (क्षय) के नए रोगियों को खोजकर उनका इलाज किया जाएगा। इस अभियान में कुल 51 टीमें लगाई गईं हैं। यह टीमें जिले की एक लाख बत्तीस हजार की आबादी में टीबी के रोगियों को खोजने का काम करेंगी।
प्रत्येक टीम में तीन सदस्य है। इनमें आशा, एएनम और स्वयं सेवकों को शामिल किया गया है। यह टीमें संभावित मरीजों के सैंपल लेकर जांच को भेजेंगी। जिनमें टीबी की पुष्टि होने के बाद उनका विधिवत उपचार किया जाएगा। जिला अस्पताल में टीबी की जांच की व्यवस्था है।
इन सभी टीमों की निगरानी के लिए 16 सुपरवाइजर भी तैनात किए गए हैं। यह अभियान साल में दो बार चलाया जाता है। जिसके तहत 10 प्रतिशत आबादी का लक्ष्य लेकर संभावित टीबी रोगियों को खोजा जाता है। पिछले साल के अभियान में जिले में 70 टीबी रोगी मिले थे।
... और पढ़ें

ककंधू में एडीएम ने कराई क्रॉप कटिंग

श्रावस्ती। रवी के मौसम में किसानों को चाहिए कि वह उन्नति प्रजाति के बीजों का ही चयन करें। मृदा परीक्षण कराकर आवश्यकता अनुरूप उर्वरकों का प्रयोग करें। जितना संभव हो सके किसान रासायनिक के स्थान पर जैविक उर्वरक व वर्मी कंपोस्ट आदि का ही प्रयोग करें। इससे पैदावार बेहतर होगी व किसानों को अतिरिक्त आय भी होगी।
यह बातें शुक्रवार को गिलौला के ककंधू गांव में धान की क्रॉप कटिंग कराने पहुंचे अपर जिलाधिकारी योगानंद पांडेय ने कही। एडीएम फसल उत्पादन का जायजा लेने के लिये ककंधू पहुंचे थे। जहां उन्होंने गांव निवासी किसान अनिल कुमार, उग्रसेन सिंह, राजेंद्र प्रसाद व हक्का राम के खेत में जाकर अपने सामने ही धान की फसल की क्रॉप कटिंग कराई।
इसके बाद उन्होंने धान की मड़ाई कराकर उसकी तौल भी कराई। इस दौरान उन्होंने किसानों को अपने नजदीकी धान क्रय केन्द्र पर ही धान बेचने की सलाह दी, जिससे किसानों को फसल का सही मूल्य मिल सके। उन्होंने किसानों से पराली न जलाने की अपील भी की। इस दौरान उनके साथ अपर सांख्यिकीय अधिकारी प्रवीण चौधरी, एग्री कल्चर बीमा कंपनी के जिला प्रबंधक अमित शुक्ला, राजस्व निरीक्षक राम धीरज तिवारी सहित लेखपाल व काफी संख्या में गांव के किसान मौजूद रहे।
... और पढ़ें

बच्चों के लिए मां का दूध ही संपूर्ण आहार

कटरा (श्रावस्ती)। जिले को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए लगातार प्रयास जारी है। कहीं किसी स्तर पर कोई चूक न हो, इसके लिए प्रशासन हर संभव प्रयास कर रहा है। इसी के क्रम में गुरुवार को ब्लॉक सभागार इकौना में एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। इसमें मौजूद प्रशिक्षकों ने क्षेत्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को आवश्यक जानकारी दी। कहा कि छह माह तक के बच्चों के लिए मां का दूध ही संपूर्ण आहार है। इसके लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता महिलाओं को जागरूक करें।
ब्लॉक सभागार इकौना में सीडीपीओ श्यामू सिंह ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को पूर्ण मनोयोग के साथ प्रशिक्षण प्राप्त करने व उसका फील्ड में जाकर अनुपालन कराने की सलाह दी। प्रशिक्षक अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि शासन की ओर से प्रदेश में बच्चों को कुपोषण से मुक्त कराने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। सामान्य श्रेणी से कम वजन एवं अतिकुपोषित श्रेणी से अधिक वजन के बच्चे अल्पकुपोषित श्रेणी में आते हैं। जिनकी देखभाल की विशेष आवश्यकता होती है।
अच्छा पौष्टिक भोजन तथा स्वस्थ वातावरण में ऐसे बच्चे सामान्य श्रेणी में लाये जा सकते हैं। अगर बच्चों के भोजन व देखभाल में लापरवाही की गई तो वह अतिकुपोषित श्रेणी में जा सकते हैं। ऐसे बच्चों के लिए तत्काल डाक्टरी परीक्षण की आवश्यकता है। आंगनबाड़ी सुपरवाइजर मीरा ने कहा कि 0 से पांच वर्ष तक के बच्चों का वजन लेकर ही उनके कुपोषण का पता लगाया जा सकता है।
गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों के इलाज की सुविधा जिला अस्पताल में स्थापित पोषण पुनर्वास केन्द्र पर निशुल्क उपलब्ध है। जहां बच्चों के इलाज के साथ-साथ देखभाल करने वाले व्यक्ति के रहने व खाने की भी निशुल्क व्यवस्था है। बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए यह भी आवश्यक है कि जन्म से 1 घंटे के अंदर मां का पहला दूध अनिवार्य रूप से पिलाया जाये।
6 माह तक के बच्चे के लिए मां का दूध ही संपूर्ण आहार है। कुपोषण से बचाने के लिए बच्चों की साफ सफाई, खान-पान व वजन वृद्धि की निगरानी अति आवश्यक है। गर्भवती माता के लिए पौष्टिक एवं संतुलित खान-पान, आयरन की गोलियां व नियमित स्वास्थ्य परीक्षण तथा वजन, ब्लड प्रेशर व हीमोग्लोबिन की जांच भी बहुत जरूरी है। इस प्रशिक्षण में बड़ी संख्या में आंगनबाड़ी मौजूद रहीं।
... और पढ़ें

पूल्ड आवासों का डीएम ने किया निरीक्षण

श्रावस्ती। स्पोर्ट्स स्टेडियम भिनगा के निकट पूल्ड आवास का निर्माण कराया जा रहा है। इसका गुरुवार को डीएम ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मिली खामियों को तत्काल दूर करने व समय से निर्माण कार्य करने का निर्देश दिया। साथ ही खामियां मिलने पर संबंधितों के विरुद्ध कार्रवाई करने की चेतावनी दी।
भिनगा स्थित स्पोर्ट्स स्टेडियम के पास राजस्व लेखपालों को रहने के लिए पूल्ड आवास का निर्माण कराया जा रहा है। इन आवासों का जिलाधिकारी टीके शिबु ने गुरुवार को औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने निर्माण कार्य में प्रयुक्त हो रही सामग्री की जांच की। साथ ही मौजूद कार्रदायी संस्था के अभियंता से उसके बारे में जानकारी भी ली।
इस दौरान उन्हें कुछ खामियां भी देखने को मिली। जिस पर नाराजगी जताते हुए डीएम ने कार्रदायी संस्था के अभियंता को गुणवत्तापूर्ण ढंग से कार्य कराने, खामियों को तत्काल दुरुस्त करने तथा निर्माण कार्य को समय से पूरा करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि निर्माण कार्यों के गुणवत्ता में यदि कहीं कोई कमी पाई गई तो संबंधित विभागीय अभियंता के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान उनके साथ एडीएम योगानंद पांडेय, आवास विकास परिषद के अवर अभियंता सहित अन्य मौजूद रहे।
... और पढ़ें

दो लोग कोरोना संक्रमित, एक हुआ स्वस्थ

श्रावस्ती। जिले में शुक्रवार को दो और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। वहीं एक मरीज स्वस्थ भी हुआ। जनपद में कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने की दर 96 प्रतिशत से ऊपर पहुंच चुकी है। मौजूदा समय जिले में मात्र 37 कोरोना संक्रमित हैं। इनमें से दस लोगों का लेवल वन हास्पिटल भंगहा में इलाज चल रहा है। वहीं 27 लोग होम क्वारंटीन हैं।
जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार अब धीमी है। शुक्रवार को आई रिपोर्ट में मात्र दो लोग कोरोना संक्रमित मिले। इनमें हरिहरपुररानी के रेवलिया व गिलौला के लेंगड़ी गूलर निवासी एक एक लोग शामिल हैं। जमुनहा के रहमतुल गांव निवासी एक कोरोना संक्रमित स्वस्थ भी हुआ है। देखा जाए तो जिले में कोरोना मरीजों की रिकवरी दर 96 प्रतिशत का आंकड़ा पार कर चुकी है।
शुक्रवार तक जिले में कुल 114516 लोगों की कोरोना जांच के लिए सैंपल भेजा गया। इसमें से 113409 लोगों की रिपोर्ट जिले को प्राप्त हो चुकी है। वहीं 1093 लोग कोरोना संक्रमित मिले। जिनमें से 1043 लोग स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। मौजूदा समय जिले में 37 लोग कोरोना संक्रमित हैं।
इनमें से दस लोगों का लेवल वन हास्पिटल भंगहा में इलाज चल रहा है। 27 लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है। जिन्हें स्वास्थ्य विभाग की ओर से एहतियात बरतने की सलाह दी गई है। इस दौरान 13 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत भी हो गई है। मौजूदा समय जिले में मात्र सात कंटेनमेंट जोन सक्रिय हैं।
इनमें इकौना में तीन, भिनगा में तीन व जमुनहा में एक जोन शामिल है। इस बारे में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एपी भार्गव ने कहा कि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। इसलिए लोग एहतियात बरतें। सामाजिक दूरी व मास्क का अनिवार्य रूप से प्रयोग करते रहें।
... और पढ़ें

पांच लोग मिले कोरोना संक्रमित, दो हुए स्वस्थ

श्रावस्ती। जिले में कोरोना संक्रमण एक बार फिर बढ़ने लगा है। गुरुवार आई रिपोर्ट में पांच और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। जिन्हें होम क्वारंटीन किया गया है। वहीं दो लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ भी हुए हैं, जिन्हें कोविड अस्पताल से घर भेजा गया हैं।
वैश्विक महामारी कोरोना का प्रकोप एक बार फिर से बढ़ रहा है। गुरुवार को आई रिपोर्ट में भिनगा नगर के कांशीराम आवास निवासी एक, मोहल्ला बारी निवासी एक, गिलौला के रामपुर पैड़ा निवासी एक व जमुनहा के मुरावनपुरवा तथा मल्हीपुर में एक एक युवक कोरोना संक्रमित मिले। जिन्हें होम क्वारंटीन किया गया है।
इसके साथ ही संबंधित क्षेत्र के लोगों को एहतियात बरतने का निर्देश दिया गया है। वहीं दो लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ भी हुए हैं। इनमें इकौना के बैदारा निवासी एक व संयुक्त जिला चिकित्सालय भिनगा निवासी एक व्यक्ति शामिल हैं। कोरोना से स्वस्थ हुए लोगों को घर भेजा गया है।
जिले में अब तक 113141 लोगों में कोरोना संक्रमण की जांच की जा चुकी है। इनमें से 111997 लोगों की जांच रिपोर्ट जिले को प्राप्त हो चुकी है। वहीं अब तक 1091 लोग कोरोना संक्रमित मिले। इनमें से 13 लोगों की संक्रमण के चलते मौत भी हुई है। जिले में मौजूदा समय कुल 36 एक्टिव केस हैं।
कुल कंटेनमेंट जोन की संख्या अब 204 पहुंच चुकी है। इनमें से सात कंटेनमेंट जोन अब भी सक्रिय हैं। जिनमें इकौना में 03, जमुनहा में 01 व भिनगा में 03 जोन सक्रिय हैं। इस बारे में सीएमओ डॉ. एपी भार्गव बताते हैं कि कोरोना से सावधानी बरत कर ही बचा जा सकता है। ऐसे में लोगों को चाहिए कि वह प्रोटोकाल का अनुपालन करते हुए बगैर मास्क घर से बाहर न निकलें। एक दूसरे से दो गज की दूरी बनाएं रखें।
... और पढ़ें

घरों में ही मनाएं बारावफात

श्रावस्ती। कोविड-19 को देखते हुए इस बार बारावफात पर कई सावधानियां बरतनी होंगी। इस दौरान मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन जरूरी है। कोरोना के संक्रमण को और फैलने से रोकने के लिए बारावफात पर जुलूस निकालना प्रतिबंधित होगा। सभी लोगों को शासन की ओर से जारी दिशा निर्देशों का कड़ाई से पालन करना होगा। यह बातें कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने कहीं।
बैठक के दौरान डीएम टीके शिबु ने कहा कि कोविड-19 महामारी को देखते हुए सभी लोग अपने घरों में ही त्योहार मनाएं। स्वयं ही सुरक्षित रहें और लागों को भी कोविड-19 से संबंधित सुरक्षा का वातावरण दें। अभी भी इस बीमारी का संक्रमण बढ़ रहा है, जो चिंता का विषय है। इसलिए सभी लोगों को अभी भी एहतियात बरतना होगा। जिससे इस बीमारी को और फैलने से रोका जा सके।
जिलेवासी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और घर से बाहर निकलते समय मास्क का अनिवार्य रुप से प्रयोग करें। सरकार की तरफ से जारी कोविड-19 की गाइड लाइन के अनुसार सभा, जुलूस, सार्वजनिक समारोह, राजनीतिक आंदोलन करना पूर्णरूप से प्रतिबंधित है। इसलिए लोग कोविड महामारी को देखते हुए इसका अनुपालन करें।
पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार मौर्य ने कहा कि बारावफात को शांतिपूर्ण तरीके मनाने के लिए सभी क्षेत्राधिकारियों व थानाध्यक्षों को पहले से ही निर्देश है कि अपने अपने क्षेत्रों की जांच परख कर पुख्ता इंतजाम करें। त्योहार वाले दिन सचेत रहकर कड़ी निगरानी के साथ सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखें।
जिससे आमजन को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े। कोविड बीमारी को देखते लोग घर में ही बारावफात का त्योहार मनाएं। ऐसा काम कदापि न करें जिससे सामाजिक दूरी में बाधा उत्पन्न हो, क्योंकि एहतियात बरत कर कोरोना संक्रमण से बचा जा सकता है। इस दौरान भिनगा के ईदगाह तिराहा स्थित मस्जिद के मौलाना गुल मोहम्मद, नादिर शाह, रहीम खां ने भी लोगों को अपने घरों पर त्योहार मनाने की अपील की। इस दौरान एएसपी बीसी दुबे, एडीएम योगानंद पांडेय, सभी उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी, खंड विकास अधिकारी, ईओ नगर पालिका भिनगा व थाना प्रभारी सहित गणमान्य मौजूद रहे।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X