विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Uttar Pradesh Live Updates: यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित

यूपी में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को एक ही दिन 14 नए मरीज सामने आने के साथ ही प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 65 हो गई है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

सिद्धार्थनगर

रविवार, 29 मार्च 2020

कोरोना के चार संदिग्ध मिले, आईसोलेशन वार्ड में भर्ती

कोरोना के चार संदिग्ध मिले, आइसोलेशन वार्ड में भर्ती
महिला चिकित्सालय के आइसोलेशन वार्ड में हैं भर्ती
शोहरतगढ़ व भवानीगंज क्षेत्र के बताए जा रहे हैं संदिग्ध मरीज
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। महिला चिकित्सालय के आइसोलेशन वार्ड में बुधवार को कोरोना वायरस के चार संदिग्ध मरीज भर्ती किए गए हैं। चिकित्सकों की टीम उनका इलाज कर ही है। संदिग्ध मरीजों को बुखार और जुकाम की शिकायत थी। शोहरतगढ़ और भवानीगंज थानाक्षेत्र के निवासी बताए जा रहे हैं।
शोहरतगढ़ थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी 30 वर्षीय युवक पांच दिन पूर्व मुंबई से गांव आया था। सोमवार की रात उसे बुखार और जुकाम की शिकायत हुई तो मंगलवार की सुबह पत्नी के साथ उसे महिला चिकित्सालय के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करवाया गया। यहां चिकित्सकों की टीम उपचार कर रही है। एक अन्य मामले में भवानीगंज थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी एक युवक 10 दिन पूर्व मुंबई से लौटा था। सोमवार की शाम उसे बुखार हो गया। इसके बाद परिवार के लोग दहशत में आ गए और जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां उसे जांच के बाद महिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। इसके अलावा 30 वर्षीय रेलकर्मी को बुखार होने के बाद बुधवार की सुबह आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। चिकित्सकों ने बताया कि अभी तक सभी की स्थिति सामान्य बनी है दवा और उपचार किया जा रहा है। लार का सैंपल लेकर जांच में भेजने की प्रक्रिया चल रही है। इस संबंध में सीएमएस डॉ. रोचस्मति पांडेय ने बताया कि चार लोगों आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है, उनकी जांच और दवा की जा रही है।
... और पढ़ें

नवरात्रि के पहले दिन सन्नाटे में रहे देवी मंदिर

फोटो-
चैत्र नवरात्र के पहले दिन सन्नाटे में रहे देवी मंदिर
श्री सिहेंश्वरी, पल्टादेवी, योगमाया मंदिर में नहीं पहुंचे श्रद्धालु
लॉकडाउन के बीच घरों में ही पूजा-अर्चना, सूने पड़े मंदिर
15 अप्रैल तक नहीं खुलेंगे देवी और अन्य मंदिर, लगा ताला
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। चैत्र नवरात्र पर लॉकडाउन का साया साफ देखा गया। बुधवार को मंदिरों में ताले लटके रहे और घरों में ही लोगों को पूजा-अर्चना करनी पड़ी। जिले के प्रमुख मंदिर सिंहेश्वरी देवी मंदिर, पल्टादेवी मंदिर, योगमाया मंदिर और अन्य मंदिरों पर भी देश लॉकडाउन का साफ असर दिखा। व्यवस्थापकों ने 15 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिया है। लिहाजा पहले दिन मंदिरों में पहुंचने वाले श्रद्धालुओं ने घरों ही पूजा-अर्चना की।
कोरोना वायरस का संकट लगातार गहरा रहा है। इस स्थिति के बीच पहली बार चैत्र नवरात्र का आगमन हुआ है। लॉकडाउन की वजह से लोग घरों में रहे व मंदिर भी बंद रहे। लोगों से सुख समृद्धि के साथ देश में आए संकट से लोगों को बचाने की कामना की गई। मंदिरों के कपाट इस दौरान बंद दिखे। जिले के प्रमुख व प्रसिद्ध मंदिरों में शामिल शहर के सिंहेश्वरी देवी मंदिर, बेलहिया देवी मंदिर, शोहरतगढ़ तहसील के पल्टादेवी मंदिर और जोगिया ब्लाक में योगमाया मंदिर को भी 15 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिया गया है। इन मंदिरों में सिर्फ पुजारी समेत उनके सहयोगियों की ओर से साफ-सफाई के बाद पूजा-अर्चना की गई।
छोटे मंदिरों में पहुंचे श्रद्धालु
नवरात्र के पहले दिन बड़े मंदिरों में भले ही लॉकडाउन का असर दिखाई दिया पर जिले में स्थापित तमाम छोटे-छोटे देवी मंदिरों में श्रद्धालु पूजा-अर्चना करने पहुंचे। इस दौरान भीड़ से बचने को लेकर सतर्कता अवश्य देखी गई। एक-एक कर भक्तों ने मंदिरों में देवी की आराधना की।
‘मंदिर न जाएं, घरों में ही करें मां की पूजा’
शहर के ज्योतिषाचार्य योगेश पांडेय ने कहा कि चैत्र नवरात्र में कोरोना रूपी राक्षस ने श्रद्धालुओं को चुनौती दी है। हर बार राक्षसों का वध कर मां दुर्गा ने अपने भक्तों की रक्षा की है। घर में ही पूजा-अर्चना करने पर भी कृपा बरसेगी जिससे इस राक्षस का वध होगा। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर इस राक्षस की ताकत बढ़ जाती है। देवी मंदिरों के कपाट श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए हैं। यह नवरात्र कोरोना को भी मारेंगी और पूरी दुनिया को इसके आतंक से मुक्ति दिलाएंगी।
... और पढ़ें

भूकंप आने की अफवाह से दहशत फैलाई, दो पर एफआईआर

भूकंप आने की अफवाह से दहशत, पांच पर केस
मंगलवार देर रात शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में फैलाई गई झूठी खबर
कोरोना से बचाव के लिए हुए लॉकडाउन में अराजकतत्वों से सतर्क रहने की सलाह
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन किए गए जिले में अराजकतत्वों ने मंगलवार देर रात भूकंप आने की अफवाह फैला दी। इससे घरों में रहनेवाले लोगों में दहशत पैदा हो गई। कुछ ग्रामीण इलाकों में तो लोग घबरा कर घरों से बाहर निकल कर खुली जगहों पर इकट्ठा हो गए। वहीं, बांसी व भवानीगंज थाने में पांच लोगों के खिलाफ अफवाह फैलाने के जुर्म में एफआईआर दर्ज की गई है।
बिस्कोहर प्रतिनिधि के अनुसार क्षेत्र में रात करीब सवा बारह बजे क्षेत्र में भूकंप आने की अफवाह तेजी से फैली। देखते ही देखते नावडीह, बिस्कोहर, बुढ्ढी खास, सिकौथा, मधवापुर, बस्ती बरगदवा, रोहनी भारी आदि गांवों में लोग घरों से बाहर निकल पड़े। रात में ही इलाके में मोबाइल पर एक दूसरे को भूकंप आने की आशंका और जान बचाने के लिए घर से बाहर निकलने की सलाह दी जाने लगी। लोगों ने बताया कि भूकंप आने के बारे में धार्मिक स्थलों से घोषणा की गई। सूचना मिलने पर इंस्पेक्टर रणधीर कुुमार मिश्र बिस्कोहर चौकी प्रभारी कन्हैयालाल मौर्या सहित पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे व लोगों को शांत कराया और घरों में भेजा। थानाध्यक्ष रणधीर कुमार मिश्र ने अफवाह पर ध्यान नहीं देने की सलाह दी। अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गई।
डुमरियागंज प्रतिनिधि के अनुसार तहसील क्षेत्र में मंगलवार रात करीब आठ बजे भूकंप आने वाला है। इसकी अफवाह शुरू हुई। इससे लोगों में अफरा-तफरी मच गई। रात भर लोग भूकंप की दहशत में हलकान रहे। यहां तक कि मुंबई व अन्य शहरों से भी खैरियत जानने के लिए फोन आने लगे। भोर तक लोग घरों में जागते रहे और एक-दूसरे से मोबाइल पर हाल जानते रहे। इंस्पेक्टर केडी सिंह ने भूकंप आने की अफवाह की जानकारी से इनकार करते हुए बताया कि लोगों से लॉक डाउन के दौरान घर के अंदर रहने की अपील की जा रही है। अफवाह फैलाने वालों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बांसी थाने में हुई एफआईआर में दो लोग शामिल हैं जबकि व भवानीगंज में हुई एफआईआर में तीन लोग शामिल हैं। पुलिस अधीक्षक विजय ढुल ने बताया कि अफवाह फैलाने के जुर्म में पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर की गई । जल्द ही उनको गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

पुलिस बनी जरूरतमंदों उम्मीद

पुलिस बनी लोगों की आखिरी उम्मीद
सब्जी, दाल, आटा के लिए डायल-112 पर लोग कर रहे कॉल
सुरक्षा के साथ-साथ खाद्य सामग्री भी पहुंचा रहे जवान
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव के लिए पुलिस लोगों को घरों में रहने की नसीहत ही नहीं दे रही है बल्कि जरूरतमंदों की दूत भी साबित हो रही है। मदद पाने वालों का कहना है कि पुलिस ही आखिरी उम्मीद बन चुकी है क्योंकि लॉकडाउन में कोई जिम्मेदार उनकी ओर रुख नहीं कर रहा। पुलिस को याद करना पड़ रहा है और वह हमारे साथ खड़ी भी हो रही है।
कोरोना वायरस मरीजों की संख्या के बढ़ने के बाद देश में लॉकडाउन घोषित कर दिया गया। लोगों को घरों में रहने का निर्देश दिया गया है। बहुत ही जरूरत हो तभी घरों से बाहर निकलने की अनुमति है। लॉकडाउन होने के बाद कई परिवार के समक्ष खाने का भी संकट खड़ा हो गया है। ऐसे में वह पुलिस से मदद की गुहार लगा रहे हैं। ऐसे में पुलिस भी मदद में उनके साथ खड़ी नजर आ रही है। वह सड़क पर ड्यूटी करने के साथ लोगों को तक राहत सामग्री भेजने का भी काम कर रहे हैं। आंकड़ों पर गौर करें तो अब तक डायल-112 व स्थानीय थाने की पुलिस 50 से अधिक ऐसे लोगों तक खाद्य सामग्री पहुंचा चुके हैं, जिनके घरों में खाने का एक दाना भी नहीं था। एक मामला बांसी को कोतवाली क्षेत्र के भिटिया गांव है। यहां एक महिला ने फोन करके बताया कि साहब घर में कोई और कमान वाला नहीं है। दो दिन से कहीं गए नहीं, खाने का सामान नहीं है। बच्चे भूखे हैं। सूचना मिलने के बाद डायल-112 की टीम गांव पहुंची और महिला को आटा, दाल, चावल सहित अन्य सामग्री दिया। वहीं डायल-112 पर 88 ऐसे लोगों ने कॉल किया है कि साहब हमारे गांव में एक व्यक्ति है, उसे बुखार है, जुकाम है, कोरोना से संक्रमित हो सकता है। साथ ही 10 ऐसे भी शिकायत हुई कि साहब दुकानदार अधिक दाम पर तेल, चीनी, दाल व सब्जी बेच रहे हैं। जनता को लूटने का काम कर रहे हैं। साहब मदद करिए। ऐसे में संबंधित थाना और पूर्ति विभाग को जानकारी दी गई। कई मामलों में केस भी दर्ज किया गया। पुलिस दूत बनकर लोगों की मदद करने का काम कर रही है। डायल-112 के प्रभारी आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि डायल-112 में 31 चार पहिया और 17 दो पहिया वाहन चल रहे हैं। 300 से अधिक कर्मी काम में लगे हैं। अगर कोई मदद मांग रहा है तो उसे क्षेत्र के जवान घर पहुंचकर राहत सामग्री दे रहे हैं। वहीं मिलने वाली शिकायत को संबंधित थाने को भेजा जा रहा है। उनके द्वारा भी कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें
बांसी क्षेत्र के देवभरिया गांव में राह सामग्री देते पीआरबी के जवान । बांसी क्षेत्र के देवभरिया गांव में राह सामग्री देते पीआरबी के जवान ।

बाहर से आने वालों की स्वास्थ्य जांच कर लगाएं मुहर: डीएम

बाहर से आए लोगों का करें चेकअप
डीएम व एसपी ने बस्ती की सीमा समेत विभिन्न स्थानों का किया निरीक्षण
सीमा पर चेकअप के बाद ही लोगों को भेजे, उन्हें घर में ही रहने की दें हिदायत
संवाद न्यूज एजेंसी
सिद्धार्थनगर। बाहर से आने वाले लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उनके हाथ पर मुहर लगाने के बाद ही घर भेजें। यह निर्देश डीएम दीपक मीणा ने शनिवार बस्ती सीमा का निरीक्षण करने के दौरान वहां तैनात कर्मचारियों को दिए।
डीएम दीपक मीणा और एसपी विजय ढुल ने शनिवार को कोरोना वायरस से लॉकडाउन में लोगों की सुरक्षा के लिए किए जा रहे जरूरी उपायों का जायजा लिया। दोनों अधिकारियों ने शहर के पुराना नौगढ़, मधुबेनिया, मधुकरपुर, सनई, जोगिया, ककरही, रानीगंज, नगर पालिका बांसी, काजी रुधौली, तिलौली, डिड़ई, रामनगर व बस्ती जिले की सीमा का निरीक्षण किया। डीएम दीपक मीणा ने सीमा पर तैनात स्वास्थ्य विभाग की टीम को निर्देश दिया कि प्रतिदिन बाहर से आने आने वाले लोगों का नियमानुसार मुहर लगाकर कर उनका चेकअप करें। जांच के बाद अपने घरों में ही रहने की हिदायत दी जाए। उन्होंने बाजार व कस्बों के चौराहों पर डीएम ने लोगों को दुकानों पर भीड़ न लगाने और खरीदारी के समय दूरी बनाए रखने की हिदायत दी। साथ ही लोगों को घरों में ही रहने और बाहर न निकलने की अपील की।
... और पढ़ें

अधिक दाम पर बेच रहे थे दाल, केस दर्ज

अधिक दाम पर बेच रहे थे दाल, केस दर्ज
खेसरहा। पुलिस और पूर्ति विभाग की संयुक्त टीम ने शुक्रवार को मरवटिया बाजार में छापा मारा। दो दुकानदारों ने अधिक दाम पर दाल बेचते हुए पाए जाने पर केस दर्ज किया। साथ ही अन्य दुकानदारों को चेतावनी दी कि अगर दोबारा किसी की शिकायत मिली तो केस दर्ज करने के साथ ही जेल भेज दिया जाएगा। खाद्य पदार्थों की जांच के लिए पूर्ति निरीक्षक राम सेवक यादव, मंडी सचिव बांसी विजय सेन व थानाध्यक्ष प्रदीप सिंह शुक्रवार को मरवटिया बाजार पहुंचे। यहां दुकानदार अधिक दाम पर दाल व अन्य सामग्री बेच रहे थे। टीम ने मरवटिया बाजार में जयराम को किराने की दुकान पर अरहर की दाल 100 रुपये किलो बेचते हुए पाया। वहीं लालजी को 125 रुपये लीटर सरसों का तेल और 35 रुपये में आधा किलो चला बेचते हुए मिले। दोनों के खिलाफ खाद सुरक्षा के अधिक नियम के तहत खेसरहा थाना में केस दर्ज किया गया। थानाध्यक्ष प्रदीप कुमार सिंह ने बताया कि दोनों दुकानदारों पर केस दर्ज किया गया। अगर कोई अधिक दाम पर सामान बेचता हुआ मिला तो कड़ी कार्रवाई जाएगी।
... और पढ़ें

आवागमन करने वाले मालवाहक वाहनों को मिली छूट, नहीं राकेगी पुलिस

मालवाहक वाहनों को मिली छूट, नहीं रोकेगी पुलिस
डीएम, एसपी ने संयुक्त रूप से जारी किए आदेश
अनुपालन न करने वालों पर कठोर कार्रवाई होगी
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। कोरोना वायरस को दृष्टिगत रखते हुए लॉक डाउन के दौरान घरेलू उपयोग की सामग्रियों, पशुओं का आहार आदि ले जाने वाले मालवाहक वाहनों के आवागमन में कोई दिक्कत नहीं होगी। डीएम, एसपी ने संयुक्त रूप से आदेश जारी किया है। उल्लंघन करने वाले अफसरों, पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जिलाधिकारी दीपक मीणा, पुलिस अधीक्षक विजय ढुल की ओर से संयुक्त रूप से जारी आदेश में अवगत कराया गया है कि घरेलू उपयोग की सामग्रियों यथा गेहूं, चावल, आटा, बेसन, मेदा, दाल, घी, डालडा, रिफाइंड, साबुन, टूथपेस्ट, समस्त प्रकार के मेवा, आलू, फल, दूध, सब्जियां, पेट्रोलियम पदार्थों के साथ ही पशु आहार, चिकित्सीय उपकरण को ले जाने वाले मालवाहक वाहनों को जनपद बार्डर या जिले के अंदर लाने, ले जाने के लिए प्रतिबंध-निषेधाज्ञा से पूर्णतया मुक्त किया गया है। इस आदेश का पालन न करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
पशु चिकित्सा के लिए बनाए गए नोडल
निराश्रित पशुओं अथवा गोशाला से संबंधित पशु चिकित्सा, भूसा, चारा, दाना के लिए तहसील स्तर पर एक-एक अफसर नोडल अफसर बनाए गए हैं। सदर तहसील में उप मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सीएल वर्मा, मोबाइल नंबर 8318336643, बांसी तहसील के लिए डॉ. महेश कुमार, मोबाइल नंबर 9450425806, शोहरतगढ़ तहसील के कलए डॉ. वीके राय, मोबाइल नंबर 8840379264, डुमरियागंज के लिए डॉ. अनवर आलम, मोबाइल नंबर 8840000897, इटवा के लिए डॉ. जेएल चौधरी, मोबाइल नंबर 9838041748 तथा जनपद स्तर पर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी 9452609435 पर संपर्क किया जा सकता है।
... और पढ़ें

औयिंत्रित एंबुलेंस पलटी, तीन जख्मी

- खेसरहा थाना क्षेत्र के बेलौरा बाजार स्थित दलदला पुल के पास हुई घटना
अमर उजाला ब्यूरो
खेसरहा। थाना क्षेत्र के बेलौहा बाजार से सटे दलदला पुल के पास शुक्रवार की सुबह एक एंबुलेंस अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में एंबुलेंस में सवार पांच लोग जख्मी हो गए। घायलों को पुलिस ने खेसरहा सीएचसी पहुंचाया गया, जहां उनका इलाज हुआ। एंबुलेंस चालक शौकत ने बताया की मरीज और उसके एक दोस्त को छोडने के लिए निकले थे। एंबुलेंस में कुल चार लोग तपूकड़ा राजस्थान से चले थे। शौतक ने बताया कि वह बांसी निवासी भुपेंद्र को छोड़कर कुशीनगर के लिए जा रहा था। अभी बेलौहा स्थित दलदला पुल के पास पहुंचा था कि एंबुलेंस से नियंत्रिण खो बैठा और वह पटल गई। जिसमें सवार तीनों लोग घायल हो गए। जिसमें आनंद, तथा शौकत तथा शाद चोटें आई है। सभी की उम्र 30 वर्ष से कम बताई जा रही है। सभी को खेसरहा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पुलिस ने पहुंचाया, जहां उनका इलाज हुआ।
... और पढ़ें

अभी संभल जाएं, नहीं तो स्थिति होगी गंभीर: डीएम

अभी संभल जाएं, नहीं तो स्थिति होगी गंभीर: डीएम
सिद्धार्थनगर। घरों में ही रहें, बाहर न निकलें, अभी समझाने से समझ नहीं रहे हैं, तो जब गंभीर स्थिति आ जाएगी तो बिना खाए-पिए घर में रहेंगे। स्वयं ही बाहर नहीं निकलेंगे। ये बातें डीएम दीपक मीणा ने मोहाना बाजार में बृहस्पतिवार को लाउडस्पीकर से चेतावनी देते हुए कहीं।
कोरोना वायरस आपदा के चलते लागू किए गए 21 दिनों के लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए डीएम व एसपी ने कमान संभाल ली है। दोनों अधिकारियों ने सोहांस, लोटन, मोहाना, सिकरी व बर्डपुर बाजार भ्रमण कर लोगों को दुकानें बंद रखने और घरों से बाहर न निकलने की अपील की। इस बीच चौराहों पर डीएम ने लाउडस्पीकर से घोषणा करते हुए कहा कि बार-बार मना करने पर दुकानें खुली रखने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। यह व्यवस्था लोगों के ही हित में लागू की गई है, सभी लोग कुछ दिनों का कष्ट झेलकर अपने घरों में ही रहें, जिससे इस संक्रमण फैलाने वाली बीमारी से राहत मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि किसी खुली दुकान पर ग्राहकों की भीड़ लगने पर दुकानदार पर केस दर्ज कराते हुए सील की जाएगी। इस दौरान एसपी विजय ढुल, एसडीएम नौगढ़ उमेश चंद्र निगम आदि भी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में बिना वजह घूमने वाले पांच पर केस दर्ज

बिना वजह घूमने वाले पांच पर केस दर्ज
ढेबरुआ पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान केस दर्ज किया
अमर उजाला ब्यूरो
परसा। लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर फर्राटा भरने वाले वाहन चालकों पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। ढेबरुआ पुलिस ने बिना काम के सड़क पर घूमने वाले 10 वाहनों का चालान कर दिया। साथ ही 11 वाहनों को सीज करके पांच लोगों पर केस दर्ज किया है।
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए 21 दिन तक लॉकडाउन किया गया है। लोगों को हिदायत दी जा रही है कि घरों से बाहर न निकले। बावजूद इसके लोग सड़क पर निकलने से बाज नहीं आ रहे हैं। शुक्रवार को प्रभारी निरीक्षक तहसीलदार सिंह के नेतृत्व में बिना वजह सड़क पर घूमने वालों पर कार्रवाई की गई। इस दौरान 10 वाहनों का चालान काटकर 13200 रुपये सम्मन शुल्क वसूला। इसके अलावा 11 वाहनों को सीज कर दिया गया है। वहीं पांच लोगों को शांतिभंग में चालान कर दिया गया है। इसमें रामनगर के रहने वाले मोल्हू, राजेश यादव, लवकुश, नेवास यादव, दिनेश के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। प्रभारी थाना निरीक्षक तहसीलदार सिंह ने बताया कि पूरे थानाक्षेत्र में लॉकडाउन है। लोग अपने-अपने घरों में रहें। बेवजह बाइक लेकर सड़कों पर न निकलें अन्यथा पुलिस कार्रवाई करेगी।
... और पढ़ें

घरों में गूंज रहे मंत्र, सप्तशती का पाठ

घरों में गूंज रहे मंत्र
सिद्धार्थनगर। चैत्र नवरात्र के दूूसरे दिन भी देवी मंदिरों की बजाए घरों में ही मंत्रोच्चारण कर श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की। शहर समेत आसपास जिलों के प्रमुख मंदिरों में पहुंचने वाले भक्तों के कदमों पर कोरोना वायरस का ब्रेक लग गया है। भक्तों ने घर में ही देवी मां का दरबार सजाया और परिवार संग माता रानी का ध्यान किया।
चैत्र नवरात्र में जिले के श्रद्धालुओं का नगर स्थित श्री सिहेंश्वरी देवी मंदिर समेत पल्टादेवी मंदिर, योगमाया मंदिर, वटवासिनी देवी मंदिर, कठेला स्थित देवी मंदिर के अलावा महराजगंज के लेहरा में सिद्धपीठ देवी मंदिर, बलरामपुर जिले के तुलसीपुर में पाटेश्वरी देवी मंदिर में भीड़ लगती थी। यहां पहुंचकर पूजा-अर्चन करते थे। इस बार कोरोना वायरस का ब्रेक भक्तों के कदमों पर भी लग गया है। लिहाजा घरों में ही दरबार सजाया गया है। परिवार संग माता रानी का ध्यान भी कर रहे हैं। सप्तशती का पाठ हो रहा है। नगर पालिका परिषद सिद्धार्थनगर के रामनगर वार्ड निवासी साधना श्रीवास्तव कहती हैं कि हर नवरात्र में प्रमुख देवी मंदिरों में पहुंचकर आशीर्वाद लिया जाता था, पर इस बार मंदिरों में ताला लगे होने के साथ ही शासन-प्रशासन के निर्देशों का पालन किया जा रहा है। घर पर ही पूजा-अर्चना की जा रही है। शोहरतगढ़ के परसिया निवासी पंडित मणिकांत उपाध्याय कहते हैं कि हर अध्याय सभी के जीवन के लिए खास होता है। नवरात्र के नौ पाठ करने से विशेष लाभ होता है। अपने घर को ही मंदिर का स्वरूप दें और जग कल्याण की कामना करें।
... और पढ़ें

पुलिस ने संभाली कमान, बिना काम बाहर निकले तो दर्ज होगा केस

पुलिस ने संभाली कमान, बिना काम बाहर निकले तो दर्ज होगा केस
सिद्धार्थनगर। कोई अब बिना वजह के सड़क पर दिखा तो उसकी खैर नहीं। पुलिस ने कोरोना वायरस को मात देने और जनता को काबू में करने के लिए पुलिस ने कमान संभाल ली है। लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस बुधवार को पूरी तरह मुस्तैद दिखी। बेवजह बाहर घूमने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस जेल भेजेगी।
कोरोना वायरस देश के लिए संकट बनता जा रहा है। संक्रमित मरीजों की संख्या हर दिन बढ़ रही है। लोग एक-दूसरे के संपर्क में आकर संक्रमित न हों। प्रधानमंत्री ने 21 दिवसीय लॉकडाउन की घोषणा की है। मंगलवार को यह जिले में प्रभावी हो गया था। इसके बाद भी कुछ लोग घरों से बाहर निकलने से बाज नहीं आ रहे थे। बिना काम के भी वह सड़कों पर निकल रहे थे। मगर अब बिना काम के रोड पर निकले तो कार्रवाई होगी। क्योंकि भीड़ का नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने अब पूरी तरह से कमान अपने हाथ में ले ली है। बृहस्पतिवार को जिले के सभी छोट-बड़े चौराहों पर पुलिस का सख्त पहरा दिखा। संबंधित थाने के थानाध्यक्ष अपने-अपने क्षेत्रों का भ्रमण करते हुए लोगों को यह अपील करते हुए दिखे कि कोरोना का एक संक्रमित बीमारी है। एक-दूसरे के संपर्क में आने से फैलता है। वायरस के प्रकोप को कम करने के लिए जिले को लॉकडाउन कर दिया गया है। सब्जी, दूध आदि सामग्री घर तक पहुंचाई जा रही है। ऐसे में अगर लॉकडाउन को तोड़ने का प्रयास किया जाएगा और कोई बिना वजह सड़क पर दिखा तो उसके खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा। उसे जेल भी जाना पड़ सकता है। वहीं सिद्धार्थ तिराहा, हाईतिराहा और बांसी तिराहा तक सीओ सदर दिलीप कुमार सिंह, एसओ राजेंद्र बहादुर सिंह, एसएसआई जयप्रकाश दुबे, एसआई चंदन, एसआई विश्वमोहन राय सहित भारी संख्या में फोर्स नगर का भ्रमण करते रही। चौराहों पर ड्यूटी में लगे पुलिस के जवान हर आने-जाने वालों से आने के पीछे कारण पूछते रहे। अगर किसी ने कमी बताया तो पहचान पत्र देखा। बिना कारण जाने चेकिंग स्थल से किसी को आगे नहीं बढ़ने दिया जा रहा था। वहीं में प्रवेश करने वाली सभी सीमा पर पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद रही। खाद्य सामग्री सहित अन्य उपयोगी वस्तुओं की सप्लाई करने वाले वाहनों को प्रवेश दिया गया। एसपी विजय ढुल ने बताया कि धारा-144 लागू है। जनपद लॉकडाउन है। ऐसे में भीड़ एकत्र करने या फिर बिना किसी काम के बार-बार सड़क पर घूमने पर केस दर्ज किया जाएगा। जेल भेजने की भी कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us