विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Lockdown Update : कोरोना की जंग में लोगों की मदद के लिए उतरी सेना, स्कूल बसें भी लगीं

लॉकडाउन में लोगों की मदद के लिए अब सेना उतर आई है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

सुल्तानपुर

रविवार, 29 मार्च 2020

पुलिस की फाइटर टीम करेगी कोरोना से जंग लड़ रहे चिकित्सकों की सुरक्षा

सुल्तानपुर। जिले में कोरोना वायरस के संदिग्ध लोगों को चिह्नित करने वाले चिकित्सकों के साथ अब पुलिस की फाइटर टीम रहेगी। पुलिस अधीक्षक ने बुधवार को कोरोना वायरस से निपटने के लिए तैनात चिकित्सकों की सुरक्षा के लिए 20 पुलिस कर्मियों की पांच टीमें बनाकर चिकित्सकों के साथ तैनात कर दिया है।
नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव के लिए जिले में दिन-रात मेहनत कर रहे चिकित्सकों की सुरक्षा के लिए पुलिस अधीक्षक शिवहरी मीणा ने पहल की है। एसपी ने चिकित्सकों के साथ पुलिस की फाइटर टीम को तैनात किया है।
फाइटर टीम में 20 पुलिस कर्मी शामिल होंगे। सभी पुलिस कर्मियों को सिर से लेकर पैर तक जरूरी ड्रेस से लैस किया गया है। एसपी ने बताया कि एक टीम में चार पुलिस क र्मी तैनात होंगे। जिले में कुल पांच पुलिस फाइटर टीम बनाई गई है। सभी फाइटर टीमें कोरोना वायरस से बचाव कार्य में लगे चिकित्सकों की सुरक्षा में तैनात रहेंगी। इनकी मॉनिटरिंग सीओ स्तर के अधिकारी करेंगे।
... और पढ़ें

लॉक डाउन के पहले दिन जिले में रहा कर्फ्यू जैसा नजारा

सुल्तानपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर किए गए लॉक डाउन के बाद जिले में कर्फ्यू जैसा नजारा दिखा। शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों में दुकानें बंद रहीं। सड़कें वीरान रहीं। सड़कों पर पुलिस व प्रशासन के ही वाहन हलचल मचाते रहे।
इक्का-दुक्का चलने वाले बाइक व कार सवारों को पुलिस व प्रशासन के अधिकारी कड़ाई के साथ पेश आए। प्रशासन व पुलिस ने शहर का जायजा लिया और स्थिति को देखी। प्रशासन ने हर हाल में लोगों को घरों में रहने का आदेश जारी किया है। घरों से बाहर निकलने पर कार्रवाई की भी चेतावनी दी गई है।
मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला प्रशासन ने मंगलवार की रात पहले तीन दिन के लॉक डाउन की घोषणा की। रात आठ बजे प्रधानमंत्री की ओर से 21 दिन के लॉक डाउन की घोषणा के बाद शासन से आए निर्देश पर जिलाधिकारी ने 14 अप्रैल तक जिले में लॉक डाउन कर दिया है।
लॉक डाउन के दौरान डीएम ने सभी दुकानों को बंद रखने और लोगों को अपने घरों में रहने का आदेश जारी किया है। साथ ही प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश जारी करते हुए पुलिस अधीक्षक से शासन के आदेश का अनुपालन कराने की अपेक्षा की है।
बुधवार से शुरू लॉक डाउन के बाद शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों का नजारा बदल गया। शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों की दुकानें बंद रहीं और सड़कें सूनी रहीं। सड़कों पर पुलिस व प्रशासन के वाहन फर्राटा भरते रहे और लोगों को आदेश का अनुपालन करने के लिए सचेत करते रहे।
सड़कों पर मौजूद पुलिस व अधिकारी शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में बिना वजह घूमने वाले इक्का-दुक्का बाइक व कार सवारों को सचेत करते रहे। हालांकि पुलिस व प्रशासन ने पहले दिन ज्यादा सख्ती नहीं दिखाई। हालांकि सख्ती बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है।
... और पढ़ें

सूडान से पहुंचे उलेमाओं को मंस्जिद में किया गया क्वारंटीन

सुल्तानपुर। सूडान से जिले में पहुंचे 10 उलेमाओं को जिला प्रशासन ने एक मस्जिद में क्वारंटीन कर दिया है। जिला प्रशासन की सूचना के बाद पहुंची स्वास्थ्य टीम ने सभी उलेमाओं की जांच भी की है।
सूडान से जिले में 10 उलेमा पिछले 19 मार्च को पहुंचे थे।
सभी उलेमा शहर के एक मस्जिद में ठहरे थे। इसकी सूचना मंगलवार को जिले की खुफिया विभाग को मिली तो प्रशासन हरकत में आ गया। एलआईयू इंस्पेक्टर सविता गोस्वामी ने उलेमाओं के मस्जिद में ठहरने की सूचना जिला प्रशासन के साथ ही पुलिस प्रशासन को दी।
सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। जिला प्रशासन की सूचना पर स्वास्थ्य विभाग की टीम मस्जिद पहुंची और सभी उलेमाओं के स्वास्थ्य का परीक्षण किया। जिला प्रशासन ने सभी उलेमाओं को मस्जिद में ही रहने का आदेश दिया है।
एलआईयू इंस्पेक्टर सविता गोस्वामी ने बताया कि सूडान से 10 उलेमा जिले में 19 मार्च को पहुंचे थे। सभी उलेमाओं को 17 अप्रैल को वापस सूडान जाना था। देश भर में 21 दिनों तक किए गए लॉक डाउन के मद्देनजर सभी उलेमाओं को मस्जिद में ही रहने को कहा गया है। स्थिति सामान्य होते ही सभी को वापस भेजा जाएगा।
... और पढ़ें

अधिकारियों ने थोक व फुटकर दुकानों पर मारा छापा

सुल्तानपुर। आवश्यक सामग्री के दामों पर नियंत्रण के लिए शनिवार को लॉक डाउन के चौथे दिन प्रशासन की ओर से गठित अधिकारियों की टीम ने शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों में दुकानों व गोदामों पर छापा मारा। छापे के दौरान अधिकारियों ने वस्तुओं के दामों व स्टॉक की जांच की। व्यापारियों को निर्धारित दामों पर वस्तुओं की बिक्री का निर्देश दिया गया।
जिला मजिस्ट्रेट सी. इंदुमती के निर्देश पर बाजार पर नियंत्रण के लिए गठित टीम ने शनिवार को शहर के नमक मंडी समेत अन्य स्थानों पर छापा मारा। छापे के दौरान दुकानदारों से गोदाम व दुकान खुलवाकर राशन समेत अन्य सामानों का सत्यापन किया गया।
स्टॉक के हिसाब से उसका मिलान किया गया। साथ ही मूल्य की जानकारी ली गई। जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी विनीता मिश्रा के साथ पहुंची टीम ने फुटकर दुकानों पर भी छापा मारकर वस्तुओं के रेट लिए।
शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी एसडीएम की अगुआई में कई कस्बों में दुकानों व गोदामों की चेकिंग की गई। चेकिंग से दुकानदारों में खलबली मची रही है। बताते हैं कि प्रशासन को महंगी दरों पर वस्तुओं की बिक्री शिकायतें लॉक डाउन के दौरान मिल रही थीं। इसे देखते हुए गठित टीमों को प्रशासन ने सक्रिय कर दिया है।
... और पढ़ें

क्वारंटीन किए गए जिले में पहुंचे 200 लोग

सुल्तानपुर। लॉकडाउन के चौथे दिन जिले में विभिन्न जगहों से करीब 200 लोग पहुंच गए। इसमें 24 लोग एक रोडवेज से दोपहर बाद बस स्टेशन पर पहुंच गए। विभिन्न जगहों से बड़ी तादाद में लोगों के पहुंचने की सूचना पर प्रशासनिक हलके में हड़कंप मच गया। स्वास्थ्य टीम के साथ पहुंचे पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों ने लोगों की जांच करके उन्हें ठहराया है।
प्रशासन के मुताबिक शनिवार की दोपहर बाद हैदरगढ़ बाराबंकी से करीब 24 लोग एक रोडवेज से बस स्टेशन पर पहुंच गए। रोडवेज बस स्टेशन पर यात्रियों के पहुंचने की सूचना पर प्रशासनिक अमले में खलबली मच गई।
सूचना मिलते ही डीएम सी. इंदुमती व पुलिस अधीक्षक शिवहरी मीणा अधीनस्थ अधिकारियों व स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। अधिकारियों ने यात्रियों को फासले पर खड़ा कराकर उनके पते ही जानकारी ली। साथ ही उनके स्वास्थ्य का परीक्षण कराया।
इन यात्रियों के खानपान का इंतजाम करते हुए डीएम ने उन्हें बस स्टेशन पर बनाए गए रैन बसेरे में ठहराया है। इसके बाद गभड़िया स्थित शालीमार गेस्ट हाउस में यात्रियों के पहुंचने की सूचना पर डीएम व एसपी अधिकारियों व स्वास्थ्य टीम के सदस्यों के साथ वहां पहुंचे।
दोनों अधिकारियों ने विभिन्न जगहों से आए हुए लोगों के बारे में जानकारी ली तथा उनके खान-पान व रहन-सहन की व्यवस्था देखी। गेस्ट हाउस संचालक की व्यवस्था पर संतोष जताया। डीएम ने बताया कि दिल्ली से भी यात्रियों को लेकर एक बस आने की सूचना मिली है।
बस के पहुंचने पर उनके स्वास्थ्य का परीक्षण कराकर शासन से अनुमति लेकर यात्रियों को घर भेजने की व्यवस्था की जाएगी। इस मौके पर एडीएम प्रशासन हर्षदेव पांडेय समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

लॉक डाउन के चौथे दिन भी शहर में पसरा रहा सन्नाटा

सुल्तानपुर। कोरोना के संक्रमण रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन के चौथे दिन भी शहर में सन्नाटा पसरा रहा। कहीं-कहीं कुछ लोग बेवजह तफरी करते दिखे, कुछ को पुलिस ने समझाकर तो कुछ को डपट कर घर भेजा।
इस बीच बेवजह बाइक व कार से फर्राटा भरने वालों पर पुलिस ने कुछ कार्रवाई भी की। प्रशासन व पुलिस की सख्ती से शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों में दुकानें बंद रहीं। सिर्फ मेडिकल स्टोर व कुछ सब्जी की दुकानें खुली रहीं।
डीएम व एसपी समेत ग्रामीण क्षेत्रों में एसडीएम व सीओ ने भी क्षेत्रों का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया। प्रशासन ने संक्रमण का खतरा रोकने के लिए लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी है। साथ ही खरीदारी के वक्त आपस में कम से कम एक मीटर का फासला बनाए रखने की सलाह दी है।
जिले में लॉकडाउन के चौथे दिन भी शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों की दुकानें बंद रहीं। शहर व ग्रामीण क्षेत्र की बाजारों में सिर्फ मेडिकल स्टोर खुले रहे। मेडिकल स्टोर पर लोगों ने फासला बनाकर दवाओं की खरीद की।
शनिवार को शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों की प्रमुख सडक़ों पर सन्नाटा पसरा रहा लेकिन कुछ लोग लॉकडाउन का माखौल उड़ाते देखे गए। समूह में लोग इधर-उधर टहलते व खरीदारी करते रहे। हालांकि गश्त के दौरान पुलिस बेवजह घूमने वालों के साथ सख्ती से पेश आई।
लॉकडाउन के चौथे दिन भी डीएम सी. इंदुमती व पुलिस अधीक्षक शिवहरी मीणा ने सुबह शहर समेत अन्य क्षेत्रों का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया। दोनों अधिकारियों ने बस स्टेशन, चौक, सब्जी मंडी, शाहगंज समेत अन्य स्थानों का निरीक्षण किया।
डीएम ने लोगों से अपील की लोग अपने घरों में रहें। डोर स्टेप प्रणाली के तहत लोगों के घरों तक सामान पहुंचाया जा रहा है। डीएम ने लोगों को घरों में ही रहने का आदेश दिया है। कहा कि आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
गोमती नदी के सिरवारा घाट पर बन रहे सेतु निर्माण के कार्य में लगे 14 मजदूरों को शुक्रवार की रात प्रशासन ने उन्हें उनके घर वाराणसी भेजवाया। मजदूर वाराणसी के रहने वाले हैं। प्रशासन के मुताबिक उन्हें एक ठेकेदार कार्य कराने के लिए लाया था।
पांच दिन पहले ठेकेदार काम बंद कराकर मजदूरों को छोडकर भाग गया। सूचना मिलने पर एसडीएम जयसिंहपुर ने शुक्रवार को मजदूरों को राशन उपलब्ध करवाते हुए शनिवार की रात उन्हें ट्रक से वाराणसी भेजवाया।
दूसरे प्रांतों से आकर विभिन्न रोजगार कर रहे आठ लोगों व 12 परिवारों को प्रशासन के निर्देश पर ग्राम प्रधानों ने उन्हें राशन समेत आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराई है। इसमें दियरा में रह रहे पश्चिम बंगाल के दो फेरीवालों, दियरा चौराहे पर रह रहे मध्यप्रदेश के दतिया के छह लोग शामिल हैं। कैथवारा में रह रहे 12 परिवार व सुल्तानपुर कलां में रहने वाले एक परिवार को ग्राम प्रधानों ने राशन व आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराई है।
... और पढ़ें

सुरेश नगर व बरासिन गांव में पुलिस ने मारा छापा, 12 क्विंटल लहन बरामद

सुल्तानपुर। पुलिस ने शनिवार की सुबह सुरेश नगर और बरासिन गांव में छापा मारकर अवैध रूप से बनाई जा रही शराब की चार भट्ठियों को तोड़कर 12 क्विंटल लहन बरामद किया है। छापेमारी के दौरान पुलिस ने 90 लीटर अवैध शराब जब्त करके उसे नष्ट करा दिया। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।
बल्दीराय थानाध्यक्ष अखिलेश सिंह को शनिवार की सुबह सूचना मिली कि क्षेत्र के सुरेश नगर और बरासिन गांव में अवैध रूप से शराब बनाई जा रही है। सूचना मिलते ही एसओ ने पुलिस टीम तैयार करते हुए सुरेश नगर और बरासिन गांव में छापा मार दिया।
छापे के दौरान 12 क्विंटल लहन और 90 लीटर अवैध शराब बरामद की गई। पुलिस ने शराब बनाने में प्रयुक्त की जा रही चार भट्ठियों को नष्ट कराते हुए शराब में केरोसिन डालकर फेंक दिया। एसओ ने बताया कि पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया है। छापेमारी के दौरान शराब बनाने वाले लोग फरार हो गए।
... और पढ़ें

मलेशिया से हनीमून मनाकर लौटे क्वारंटीन किए गए आईएएस गायब, सुल्तानपुर में मिली लोकेशन

विदेश से हनीमून मनाकर लौटे क्वारंटीन किए गए केरल कैडर के आईएएस अनुपम मिश्रा लापता हो गए। यहां पुलिस को सूचना मिली कि वह कानपुर में हैं। कई घंटे तक पुलिस चकरघिन्नी बनी रही। आखिर में सर्विलांस ने आईएएस की लोकेशन सुल्तानपुर में ट्रेस की। इसके बाद पुलिस ने राहत की सांस ली।

प्रयागराज के नैनी निवासी अनुपम मिश्रा केरल कैडर के आईएएस हैं। वर्तमान में वह केरल के कोल्लम जिले के एसडीएम हैं। वह सिंगापुर और मलेशिया से हनीमून मनाकर करीब 10 दिन पहले लौटे थे।

एयरपोर्ट पर मेडिकल जांच के बाद उनको 14 दिनों के लिए क्वारंटीन की डॉक्टरों ने सलाह दी थी। पर, वह अपने सरकारी आवास से गायब हो गए। शुक्रवार को आलाधिकारियों ने शहर पुलिस को सूचना दी कि अनुपम मिश्रा कानपुर में हैं।

पुलिस ने उनकी तुरंत तलाश शुरू कर दी। जांच में उनकी लोकेशन सुल्तानपुर में पाई गई। पुलिस अफसरों ने बताया कि जो सूचना केरल से यूपी पुलिस को दी गई थी वह गलत थी। दरअसल, कानपुर की जगह उनकी लोकेशन सुल्तानपुर में थी मतलब मिस कम्यूनिकेशन की वजह से शहर पुलिस कई घंटे परेशान रही।
... और पढ़ें

जरूरतमंदों की मदद को बढ़े हाथ

सुल्तानपुर। कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर लॉकडाउन के समय जरूरतमंदों की मदद के लिए स्वयंसेवी संगठनों ने हाथ बढ़ाया है। संगठनों के पदाधिकारियों ने चिकित्सालय समेत अन्य स्थानों पर भोजन पहुंचाने का कार्य शुरू कर दिया है।
नेशनल यूनिटी फाउंडेशन ने जरूरत मंद रिक्शा चालक, एवं दिहाड़ी मजदूरी करने वालों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। प्रशांत तिवारी ने बताया कि जरूरत मंदों को बांटने के लिए राशन का इंतजाम किया गया है। वहीं अस्पताल में भर्ती मरीज एवं उनके रिश्तेदारों के लिए खाना बना कर पहुंचाया जा रहा है।
इस कड़ी में शहर के एक निजी अस्पताल में बेलसोना निवासी मरीज के लिए फैज अहमद ने अपने घर से खाना बना कर पहुंचाया। संगठन के अफसर मिर्जा ने लोगों की मदद के लिए अपना एक महीने का वेतन दिया है।
गायत्री परिवार की टीम अस्पताल में भर्ती मरीजों की मदद कर रही है। जिला अस्पताल में डॉ. सुधाकर सिंह की अगुवाई में दूर से आए मरीजों को रोजाना सुबह-शाम गायत्री परिवार अपनी टीम गोमती मित्र मंडल के साथ भोजन बांट रहा है।
साथ ही शहर में छुट्टा घूम रहे जानवरों को भी चारा-पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। जिला अस्पताल में दूर से आने वाले मरीजों के तीमारदार भटके न एक जगह रहें, इसके लिए गायत्री परिवार सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए सुबह-शाम लोगों को भोजन उपलब्ध करा रहा है। टीम में रुद्र प्रताप सिंह मदन, रतन कसौंधन, अभिषेक सिंह समेत कई लोग शामिल रहे।
... और पढ़ें

लॉक डाउन के तीसरे दिन बैंक व एटीएम पर सन्नाटा

सुल्तानपुर। 21 दिन के लॉक डाउन के तीसरे दिन शुक्रवार को नियमित रूप से बैंक शाखाओं का संचालन किया गया। शहर के पंजाब नेशनल बैंक, केनरा बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा के अलावा एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, एक्सिस समेत अन्य कई निजी बैंक शाखाएं भी खुली रहीं।
संक्रमण से बचाव को लेकर बैंकों में कार्यरत कर्मचारियों ने ग्लव्स व मास्क लगाकर कार्य किया। बैंक में आने वाले खाताधारकों को बैंक कर्मियों ने सैनिटाइज करवाया। लॉक डाउन की वजह से शहर के प्रमुख एटीएम बूथों पर दिन भर सन्नाटा पसरा रहा। इक्का-दुक्का लोग ही एटीएम पर धन निकासी करते दिखाई दिए।
लीड बैंक मैनेजर आरपी अरोड़ा ने बताया कि लॉक डाउन को लेकर बैंक शाखाएं सुबह 10 बजे से दिन में दो बजे तक ही संचालित होंगी। शनिवार को महीने का चौथा शनिवार होने के नाते बैंक शाखाएं बंद रहेंगी। रविवार को सामान्य अवकाश के दिन बैंक शाखाओं का संचालन बंद रहेगा। सोमवार से नियमित रूप से शाखाओं का संचालन होगा।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में मानवता की मिसाल पेश कर रहे पुलिस कर्मी

सुल्तानपुर। कोरोना वायरस से बचाव को लेकर किए गए लॉकडाउन में आमलोगों के लिए पुलिस देवदूत बन गई है। दिन-रात ड्यूटी में लगे पुलिस कर्मी मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं। लॉकडाउन के दौरान जिले में सुकून पहुंचाने वाली घटनाएं सामने आ रही हैं।
बल्दीराय में एसओ ने दिव्यांग के घर जहां राशन पहुंचाया, वहीं भूख से बिलख रहे बच्चों की सूचना मिलते ही एसओ हलियापुर मातहतों के साथ मौके पहुंच गए। पुलिस कर्मियों ने महिला को राशन और अन्य सामग्री वितरित की तो बच्चों के खुशी का ठिकाना नहीं रहा।
शुक्रवार को तीसरे दिन लॉकडाउन में एसओ बल्दीराय अखिलेश सिंह को सूचना मिली कि कस्बे में दिव्यांग संतोष कुमार के घर पर राशन नहीं है। सूचना मिलते ही एसओ पुलिस टीम के साथ संतोष के घर पहुंच गए। एसओ ने राशन के साथ अन्य सामग्री संतोष को उपलब्ध कराया।
हलियापुर थाना क्षेत्र के कुशवाहा गांव की रहने वाली सीतापती पत्नी सुखदेव ने शुक्रवार को यूपी 112 पर फोन करके सूचना दी कि उसके पति मजदूरी करते हैं और मौजूदा समय में मेरठ में फंसे हुए हैं। घर पर छोटे बच्चे हैं और खाने के लिए कुछ भी नहीं है।
यूपी 112 के पुलिस कर्मियों ने इसकी सूचना तत्काल एसओ हलियापुर मोहम्मद अरशद खान को दी। सूचना मिलते ही एसओ पुलिस कर्मियों के साथ राशन व अन्य सामान लेकर सीतापती के घर पहुंच गए। पुलिस कर्मियों को देखकर सीतापती ने राहत की सांस ली।
... और पढ़ें

क्वारंटीन किए गए सिंगापुर, मलेशिया से लौटे आईएएस अधिकारी

सुल्तानपुर। सिंगापुर और मलेशिया से घूमकर करीब 14 दिन बाद घर लौटे केरल कॉडर के एक आईएएस अधिकारी और उनके पूरे परिवार की शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग ने जांच की। जांच के बाद आईएएस अधिकारी और उनके परिवारीजनों को घर में क्वारंटीन किया गया है।
कोतवाली नगर क्षेत्र के एक अधिकारी की शादी पिछले दिनों हुई थी। शादी के बाद शहर में ही प्रीति भोज का आयोजन किया गया था। भोज के बाद वे पत्नी के साथ विदेश चले गए थे।
परिवारीजनों के अनुसार वे सिंगापुर, मलेशिया घूमकर लौटे थे। सीएमओ डॉ. चंद्रभूषण नाथ त्रिपाठी ने बताया कि 20 मार्च को वे सुल्तानपुर स्थित अपने आवास पर आ गए हैं।
उच्चाधिकारियों की सूचना के बाद शुक्रवार को वे खुद स्वास्थ्य टीम के साथ उनके घर पहुंचे और उनकी और पूरे परिवार की जांच की। फिलहाल किसी को कोई स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत नहीं है। एहतियात के तौर पर उन्हें घर में ही क्वारंटीन किया गया है।
... और पढ़ें

बस स्टेशन पर बना 20 बेड का अस्थाई रैन बसेरा

सुल्तानपुर। कोरोना जैसी भीषण बीमारी को देखते हुए एहतियात के तौर पर बाहर से आने वाले लोगों के रुकने के लिए नगर पालिका की ओर से रोडवेज के सहयोग से बस स्टेशन परिसर के भीतर बरामदे में 20 बेडों का अस्थाई रैन बसेरा बनाया गया है।
महिलाओं के लएि एक अलग कमरे की व्यवस्था की गई है। वहां पर चार बेड हैं। साफ-सफाई व बिस्तरों की देखरेख के लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।
कोरोना जैसी भीषण बीमारी को लेकर लॉक डाउन घोषित होने के बाद दूर-दराज से आने वाले लोगों की सुरक्षा व रहने का इंतजाम नगर पालिका परिषद की ओर से किया गया है। रोडवेज के सहयोग से नगर पालिका ने बस स्टेशन परिसर में 20 बेडों का अस्थाई रैन बसेरा बनाया है।
अस्थाई रैन बसेरा बनवाने के पहले उस स्थान की ब्लीचिंग और फिनायल के साथ सफाई कराई गई। आपात स्थिति में जो भी यात्री आते हैं, उनको कोई दिक्कत न हो इसके लिए पुरुष व महिलाओं के लिए बेडों की व्यवस्था की गई है।
पुरुषों के बेड बाहर लगाए गए हैं जबकि महिलाओं के लिए एक अलग रूम में बेड लगा है। ईओ नगर पालिका रविंद्र कुमार ने बताया कि रोडवेज प्रशासन के सहयोग से अस्थाई रैन बसेरा बनाया गया है। रैन बसेरे की साफ-सफाई व देेखरेख के लिए कर्मचारियों को जिम्मेदारी दी गई है।
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए समस्त वार्डों में सफाई और ब्लीचिंग से छिड़काव का कार्य प्राथमिकता पर कराया जा रहा है। पालिका के कर्मचारी व सभासदों की ओर से कोरोना वायरस से रोकथाम के लिए प्रचार सामग्री वार्डों में वितरित की जा रही है।
फायर सर्विस विभाग की मदद से नुगर के मुख्य सड़कों पर ब्लीचिंग का छिड़काव कराया गया। नगर पालिका की ओर से शहर के प्रमुख मेडिकल स्टोर के बाहर एक-एक मीटर के अंतराल पर गोले बनाए गए हैं।
ताकि दवा खरीदने वाले नागरिकों से सोशल डिस्टेंसिंग पर अमल कराया जा सके। बृहस्पतिवार की शाम घासीगंज वार्ड और कांशीराम आवास कॉलोनी में फॉगिंग कराई गई। स्वच्छता मिशन की डीपीएम साधना सिंह ने बताया कि संक्रमण से बचाव के लिए लगातार कोशिशें जारी हैं। सफाई को लेकर नगर पालिका के कर्मचारी पूरी तरह मुस्तैद हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us