विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें बनते काम बिगड़ने का कारण
Kundali

घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें बनते काम बिगड़ने का कारण

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

पंजाब से मुख्तार को लाने गई पुलिस लौटी खाली हाथ, डॉक्टरों ने लगाई जेल से रवानगी पर रोक

फर्जी कागजात के आधार पर 1990 में शस्त्र लाइसेंस लेने के मामले में जारी वारंट-बी पर मऊ के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब के रोपड़ जेल से लाने गई जनपद पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा। डॉक्टरों ने मुख्तार अंसारी की रीढ़ की हड़्डी में समस्या, मधुमेह और डिप्रेशन की बीमारी से पीड़ित बताते हुए तीन माह तक बेड रेस्ट की सलाह दी है।

मुख़्तार अंसारी के धोखे से कागजात तैयार कराकर शस्त्र लाइसेंस लेने तथा इस काम में सरकारी अधिकारी एवं कर्मचारियों की मदद मिलने की बात सामने आई थी। इसके बाद मामले की जांच सीबीसीआईडी को सौंप दी गई थी। फिर वर्ष 1997 में चार्जशीट दाखिल की गई। इसमें मुख्तार, रुद्र प्रताप शस्त्र लिपिक, दिलदार अहमद आयुष लिपिक, मुहम्मद अरशद लिपिक, राम लखन सिंह डिप्टी कलेक्टर आरोपी बनाए गए। 

इस मामले में मुख्तार को 21 अक्तूबर को प्रयागराज में विशेष कोर्ट में पेश होना है। इसके मद्देनजर मुख्तार को लेने जनपद पुलिस की टीम 18 अक्तूबर को पंजाब पहुंची थी। वहां बताया गया कि मुख्तार की तबीयत ठीक नहीं है। रोपण के सिविल सर्जन डॉ. दविंदर कुमार ने बताया कि डॉक्टरों का बोर्ड बनाकर मुख्तार अंसारी का मेडिकल किया गया था। उसकी रीढ़ की हड्डी में समस्या है और वह शुगर के अलावा डिप्रेशन की बीमारी से भी पीड़ित है। डॉक्टरों ने मुख्तार अंसारी को तीन महीने का बेड रेस्ट करने की सलाह दी है। 

रोपड़ जेल प्रशासन ने इसी मेडिकल के आधार पर यूपी पुलिस को मना किया है कि मुख्तार अंसारी इतना लंबा सफर करने के लिए सक्षम नहीं है।
 उधर, गाजीपुर के एसपी डॉ. ओपी सिंह ने बताया कि बीमारी के कारण मुख्तार अंसारी को पंजाब के रोपड़ जेल से गाजीपुर पुलिस को नहीं सौंपा गया है। इस कारण पुलिस टीम लौट आई। वस्तुस्थिति से  न्यायालय को अवगत कराया जाएगा।
... और पढ़ें

उत्कृष्ट कोच और मां वैष्णो देवी के  जयकारे के साथ रवाना हुई बेगमपुरा एक्सप्रेस रवाना

त्योहार पूजा स्पेशल ट्रेनों का संचालन मंगलवार से शुरू हो गया। 7 माह के बाद वाराणसी से जम्मू के बीच बेगमपुरा एक्सप्रेस का संचालन शुरू हुआ। ट्रेन की सभी 22 कोच को रेलवे ने उत्कृष्ट रंग रूप दिया। कोच के अंदर सोशल डिस्टेंसिग के लिए खास इंतजाम किए गए हैं।

वातानुकूलित कोच में यात्री रेड कार्पेट से होकर अपनी सीट पर पहुंचे। कोच में वाल पर झलक रही बनारस की संस्कृति ने यात्रियों को काफी आकर्षित किया। एडीआरएम रवि चतुर्वेदी समेत रेलवे अधिकारियों ने बेगमपुरा एक्सप्रेस को रवाना किया।

कैंट रेलवे स्टेशन से अपने निर्धारित समय दोपहर 12.40 बजे 02237 बेगमपुरा एक्सप्रेस जम्मूतवी के लिए रवाना हुई। ट्रेन में सवार होते ही यात्रियों ने जय माता दी का उद्घोष करके सफर शुरू किया। इस दौरान एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी ने बताया कि त्योहार स्पेशल बेगमपुरा एक्सप्रेस के सभी 22 कोच को उत्कृष्ट कोच बनाया गया है।

कोरोना संक्रमण के प्रति यात्रियों को जागरूक करने के इरादे से कोच के अंदर फर्श पर पीली पट्टी खींची गई है। यात्रियों के इन्ही पट्टी के अंदर रहना होगा। इसके अलावा स्लीपर व वातानुकूलित कोच के टॉयलेट में भी कई बदलाव हुए हैं। इस कोच का नाम ही उत्कृष्ट रखा गया है।

31 तक 180 से अधिक सीटें खाली
बेगमपुरा एक्सप्रेस कैंट रेलवे स्टेशन से रोजाना चलेगी। लखनऊ के रास्ते जाने वाली ट्रेन के सभी श्रेणी के कोच में 180 से अधिक सीटें 31 अक्तूबर तक खाली हैं।
... और पढ़ें

Ballia Shooting Incident: वो बयान जिनसे विधायक सुरेंद्र सिंह ने कराई फजीहत, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी बेहद नाराज

ज्ञानवापी प्रकरण में दाखिल निगरानी याचिका पर अदालत आज सुनाएगी आदेश

प्राचीन मूर्ति स्वयंभू ज्योतिर्लिंग भगवान विश्वेश्वरनाथ से संबंधित ज्ञानवापी प्रकरण में दाखिल निगरानी याचिका पर जिला जज यूसी शर्मा की अदालत गुरुवार को आदेश सुनाएगी।  मंगलवार को अदालत में भगवान विश्वेश्वरनाथ के वाद मित्र और अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी व सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड के अधिवक्ताओं ने दलीलें पेश की थीं।

सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड की निगरानी याचिका विचारार्थ स्वीकार होने के मुद्दे पर सभी पक्षों की दलील सुनने के बाद जिला जज की अदालत ने आदेश सुरक्षित कर लिया था। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी और सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड का कहना है कि ज्ञानवापी प्रकरण की सुनवाई का अधिकार अवर न्यायालय को नहीं, बल्कि लखनऊ स्थित सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड को है।

वहीं, भगवान विश्वेश्वरनाथ के वाद मित्र का कहना है कि अवर न्यायालय के अंतरिम आदेश के खिलाफ सिविल प्रक्रिया संहिता के तहत निगरानी याचिका दाखिल नहीं की जा सकती है।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

बलिया हत्याकांड: भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का बयान, बोले-...तो कर सकता हूं जीवन का अंत 

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह बुधवार को वाराणसी पहुंचे और बीएचयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती दुर्जनपुर कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र के परिजनों से मिलकर उनका हाल जाना। इस दौरान विधायक ने फिर दोहराया कि आरोपी पक्ष का केस दर्ज नहीं हुआ तो मैं अपने जीवन का अंत कर लूंगा।

बीएचयू के ट्रामा सेंटर पहुंचे विधायक ने डॉक्टरों से बातचीत की। वहीं धीरेंद्र के परिजनों को उनकी जरूरत के सामान उपलब्ध कराए। उन्होंने फोन पर अमर उजाला से बातचीत में कहा कि वह नवरात्र तक कुछ नहीं करेंगे। यदि इस दौरान धीरेंद्र की तरफ से भी मुकदमा दर्ज कर लिया जाता है तो ठीक, अन्यथा इस परिवार को न्याय के लिए वे पूरा प्रयास करेंगे।
 
... और पढ़ें

Ballia Firing: 48 घंटे तक पुलिस रिमांड में रहेगा मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह

बलिया जिले के दुर्जनपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्लू की पुलिस रिमांड कोर्ट ने स्वीकार कर ली है। धीरेंद्र को 22 अक्तूबर सुबह दस बजे से 24 अक्तूबर सुबह दस बजे तक 48 घंटे के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। कोर्ट ने अभियुक्त को अधिवक्ता साथ रखने की छूट दी है, जो पुलिस कार्रवाई में कोई हस्तक्षेप किए बिना दूर से कार्रवाई को देख सकता है।



विवेचक/थानाध्यक्ष रेवती प्रवीण कुमार सिंह की ओर से अभियोजन अधिकारी अधिवक्ता ओंकार त्रिपाठी व शिवबचन राम ने कोर्ट सीजेएम रमेश कुशवाहा की कोर्ट में सात दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड की अर्जी पेश करते हुए कहा कि 15 अक्तूबर को दुर्जनपुर गांव में जयप्रकाश पाल की हत्या के बाद अभियुक्त शस्त्र समेत फरार था। इसे लखनऊ के पॉलिटेक्निक चौराहा एसटीएफ ने 18 अक्तूबर को गिरफ्तार किया और 19 अक्तूबर को न्यायिक अभिरक्षा में जिला कारागार बलिया भेज दिया गया।


अधिवक्त ने कहा कि विवेचना के लिए असलहा बरामदगी, साक्ष्य संकलन व अपराध के बाद फरार होने के दौरान किसके द्वारा सहयोग किया गया, छिपाया गया के संबंध में पूछताछ करना जरूरी है। अभियुक्त ने असलहा कहां छिपाया है और चलकर बरामद करा सकता है ऐसी स्वीकारोक्ति की है।
... और पढ़ें

आजाद हिंद सरकार का स्थापना दिवस पर इंद्रेश कुमार ने कही बड़ी बात, सुभाष होते तो देश विभाजन का दर्द नहीं झेलता 

आजाद हिंद सरकार का स्थापना दिवस बुधवार को वाराणसी के लमही स्थित सुभाष मंदिर में मनाया गया। विशाल भारत संस्थान की ओर से आयोजित कार्यक्रम में आजाद हिंद बाल बटालियन ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस को सलामी दी। सुभाष कथा सुनाई और आजाद हिंद सरकार का राष्ट्रगान गाया।

मुख्य अतिथि आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने कहा कि नेताजी को पता था कि अंग्रेज जाते समय देश का विभाजन कर सकते हैं, उन्होंने गांधी जी को चेताया भी था। इतिहासकारों ने उनके साथ न्याय नहीं किया। सुभाष होते तो देश विभाजन का दर्द नहीं झेलता।

सुभाषवादी विचारक तपन कुमार घोष ने कहा कि पंचवर्षीय योजना से लेकर राष्ट्रभाषा हिंदी ही हो ऐसी योजना सुभाष सरकार की ही थी। इस दौरान संगोष्ठी को डॉ. राजीव श्रीवास्तव चट्टो बाबा, ऋषि द्विवेदी, आत्म प्रकाश सिंह, रमेश शर्मा, आनंद मिश्रा, नजमा, नाजनीन, डॉ. मृदुला ने संबोधित किया। संचालन अर्चना भारतवंशी और धन्यवाद मो.अजहरूद्दीन ने दिया।
... और पढ़ें

यूपी: नगर विकास मंत्री ने अखिलेश और राहुल गांधी पर साधा निशाना, बोले- दोनों को कोई गंभीरता से नहीं लेता

विचार व्यक्त करते इंद्रेश कुमार
प्रदेश के नगर विकास एवं जिले के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन ने कहा कि दीपावली से पहले वाराणसी नगर निगम की सभी सड़कें बन जाएंगी। मंत्री ने कहा कि शहर की सड़कों को गड्ढामुक्त करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुर्गा पूजा से पहले पूरा करने का निर्देश दिया था। इसमें काफी काम हुआ है, बाकी कार्य हर हाल में दीपावली से पूरा हो जाएगा। 

नगर विकास मंत्री ने पत्रकारों के सवाल पर सपा और कांग्रेस पर निशाना साधा। कहा कि उपचुनाव में भाजपा सभी सीटें जीत रही है। विपक्षी पार्टी हताश और निराश हैं। विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव विदेश में रहते हैं और पार्टी की ओर से ट्वीट करते हैं। वह केवल ट्वीट की राजनीति जानते हैं।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें कोई गंभीरता से नहीं लेता।  पेयजल के सवाल पर पत्रकारों से कहा कि पिछली सरकारों के पाप हैं जिसे धोया जा रहा है। जल्द ही सभी सुविधाएं बेहतर होंगी। सदन की बैठक के लिए नए भवन बनाने के सवाल पर कहा कि प्रस्ताव बनाया जा रहा है।

पत्रकारों से बातचीत से पूर्व मंत्री ने बुधवार को सर्किट हाउस में नगर विकास के कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में नगरी क्षेत्र में 17727 पात्रों को आवास दिए गए। अमृत योजना के अधिकांश कार्य पूर्ण हो चुके हैं। शहर में 2300 सर्विलांस कैमरा मार्च, 2021 तक लग जाएंगे।
 
... और पढ़ें

अनुप्रिया पटेल का 'लेटर वॉर' जारी, जानिए सारे विवाद की असली वजह

पूर्व केंद्रीय मंत्री व मिर्जापुर सांसद अनुप्रिया पटेल और जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल के बीच चल रहे लेटर वॉर में एक और प्रकरण जुड़ गया। राजकीय इंटर कालेज परिसर में संचालित केंद्रीय विद्यालय की बिजली काट दी गई है। इस पर प्रधानाचार्य रूपाली ने पत्र लिखकर इस समस्या से सांसद को अवगत कराया।

विद्यालय की प्रधानाचार्य के पत्र का संज्ञान लेते हुए सांसद ने डीएम को पत्र लिखकर बिजली काटने का कारण पूछा। साथ ही केंद्रीय विद्यालय की बिजली काटने को शिलान्यास प्रकरण से जोड़ते हुए सवाल भी किया। पूछा कि इस मामले को शिलान्यास से क्यों जोड़ा जा रहा है। इस संबंध में जिला प्रशासन की ओर से कुछ भी बताने से बचा जा रहा है। 

बता दें कि विकास कार्यों को लेकर सांसद अनुप्रिया पटेल लगातार जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल को पत्र लिखकर जवाब मांग चुकी हैं। अदलहाट में जलशक्ति मिशन परियोजना के शिलान्यास पर भी डीएम से जवाब मांगा है। इस बीच केंद्रीय विद्यालय की बिजली काटने का मामला आग गया। सांसद के ड्रीम प्रोजेक्ट में भी केंद्रीय विद्यालय है।

राजकीय इंटर कालेज परिसर में केंद्रीय विद्यालय का संचालन डेढ़ वर्ष से हो रहा है। सांसद के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक इस विद्यालय को डेढ़ वर्ष से नि:शुल्क बिजली दी जा रही थी। अचानक मंगलवार की रात इस विद्यालय की बिजली काट दी गई और कहा गया कि अब उनको बिजली के लिए शुल्क देना होगा।
 
... और पढ़ें

बलिया गोलीकांड: पुलिस हटी लेकिन गांव में फिर भी पसरा सन्नाटा, लोग बोले- शांति से रहना चाहते हैं

यूपी: जाम में फंसी सांसद की गाड़ी तो गार्ड ने सिपाही को पीटा, श्रीराम रथ यात्रा निकालने से लगा था जाम

जौनपुर जिले के मड़ियाहूं नगर में निकाली जा रही श्रीराम रथयात्रा के दौरान जाम में मछलीशहर के सांसद बीपी सरोज की गाड़ी को पास न कराने पर उनके निजी गार्ड ने ड्यूटी पर तैनात सिपाही की पिटाई कर दी। सरेआम तिराहे पर गार्ड की करतूत देख लोग आक्रोशित हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराते हुए सांसद के वाहनों के काफिले को बाहर निकलवाया। सांसद ने पिटाई की बात से इंकार करते हुए सिपाही पर अभद्रता का आरोप लगाया है।

बुधवार शाम नगर में श्रीराम रथयात्रा निकाली जा रही थी। यातायात को नियंत्रित करने के लिए बैरिकेड लगाकर रास्ता रोका गया था। इसके चलते जाम की स्थिति बन गई थी। तभी मछलीशहर के सांसद बीपी सरोज का काफिला तिराहे पर पहुंच गया। आगे के वाहन में सवार सांसद ने ड्यूटी पर तैनात सिपाही साहब लाल यादव को गाड़ी पास कराने को कहा।

सिपाही ने बताया कि श्रीराम रथयात्रा के चलते दूसरी गाड़ियां रोकी गई थीं। सांसद की गाड़ी आगे निकल ही रही थी कि पीछे की दूसरी गाड़ी से उतरे एक निजी गार्ड ने पिटाई करनी शुरू कर दी। सिपाही को पिटता देख वहां आसपास के लोग आक्रोशित हो गए। गार्ड के वाहन को घेर लिया। इस वाहन में एक गनर और दो निजी गार्ड सवार थे।
 
 
... और पढ़ें

बलिया जा रहे करणी सेना प्रदेश अध्यक्ष को बूढ़नपुर में रोका, चालान कर एक-एक लाख का मुचलका

बलिया जिले के दुर्जनपुर हत्याकांड को लेकर बलिया में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करने जा रहे करणी सेना के प्रांतीय पदाधिकारियों को आजमगढ़ पुलिस ने बूढ़नपुर चौक पर रोक लिया। हालांकि सभी को अतरौलिया स्थित लोहरा टोल प्लाजा पर रोकने की योजना थी, लेकिन ये लोग रास्ता बदल कर बूढ़नपुर तक पहुंचने में सफल रहे।
सभी को कोयलसा ब्लॉक सभागार ले जाकर बैठाया गया है। वहीं सूचना पर गाजीपुर और सुल्तानपुर के पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी कोयलसा ब्लॉक पहुंच गए। पुलिस सभी का 151 में चालान कर एक-एक लाख का मुचलका भरवा रही है।


बलिया में दुर्जनपुर हत्याकांड को लेकर करणी सेना कर बुधवार को कार्यक्रम आयोजित था। सभी जिलों से कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को बलिया बुलाया गया था। प्रशासन ने कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी थी। इसके साथ ही पदाधिकारियों को बलिया पहुंचने से पहले ही रोकने की रणनीति बना ली गई थी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X