विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर रोग एवं बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए आज ही बुक करें दुर्गा सप्तशती का प्रभावी पाठ
Navratri Special

गंभीर रोग एवं बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए आज ही बुक करें दुर्गा सप्तशती का प्रभावी पाठ

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

मिशन शक्ति: आगरा की महिलाओं-बालिकाओं से आज वर्चुअल संवाद करेंगे मुख्यमंत्री योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार सुबह 10 से 11 बजे तक आगरा के हरीपर्वत थाने में महिलाओं एवं बालिकाओं से वर्चुअल संवाद करेंगे। मिशन शक्ति के तहत किए जा रहे इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अपराध पीड़ित महिलाओं, महिला सशक्तीकरण पर काम रहे एनजीओ और थानों की महिला हेल्प डेस्क की पुलिसकर्मियों से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से फीडबैक लेंगे। इसी के आधार पर थानों की मेरिट तय की जानी है।

दिन भर चला थाना चमकाने का काम

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के लिए गुरुवार को दिन भर थाना हरीपर्वत को चमकाने का काम चलता रहा। आईजी ए. सतीश गणेश और एसएसपी बबलू कुमार ने तैयारियों का जायजा लिया। थाने में नया एलईडी टीवी, नया फर्नीचर लगाया गया है। पूरे परिसर को गुब्बारों से सजाया गया है।

सीएम को सब अच्छा-अच्छा बताना है

पुलिस अधिकारियों ने कार्यक्रम की रिहर्सल भी कराई। एनजीओ की पदाधिकारियों से कहा कि मिशन शक्ति के बारे में सीएम पूछें तो कहना है कि आगरा में सब अच्छा हो रहा है। हेल्प डेस्क की कर्मचारियों से कहा है कि वे वीमेन पावर लाइन, चाइल्ड लाइन, यूपी-112 के बारे में अच्छे से जानकारी रखें।
... और पढ़ें
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

कोरोना पर हाईकोर्ट सख्त-बिना मास्क न निकले कोई, हर सड़क-गली मोहल्ले की निगरानी करे पुलिस

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि कोराना संक्रमण की दूसरी लहर फैलने से रोकने के लिए मास्क और सोशल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन अनिवार्य है। इसके लिए पुलिस हर सड़क और गली मोहल्ले में कड़ी निगरानी करे कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क लगाए घर से बाहर न निकले। 

कोर्ट ने यह आदेश कोविड एवं पार्किंग मामले की सुनवाई करते हुए दिया है। न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा तथा न्यायमूर्ति अजित कुमार की खंडपीठ ने इसकी निगरानी करने वाली टास्क फोर्स को ऐसे अधिकार देने के लिए कहा है ताकि वह अपना काम आसानी से कर सके। 

इस आदेश को प्रयागराज के अलावा कानपुर, वाराणसी, लखनऊ और आगरा में अमल लाने का निर्देश दिया है। अगले चरण अदालत प्रदेश के अन्य जिलों के लिए भी आदेश पारित करेगी। 

इससे पहले कोर्ट के आदेश पर पुलिस महानिदेशक ने हलफनामा रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।  कोर्ट इसपर संतोष जताते हुए कहा कि संक्रमण की दूसरी लहर रोकने के लिए व्यस्त सड़कों पर अधिक संख्या में पुलिसकर्मी जबकि कम यातायात वाली सड़कों के दोनों छोर पर दो कांस्टेबल तैनात किए जाएं। इसके साथ ही कोर्ट ने राज्य सरकार को प्रत्येक नगर निगम में स्वास्थ्य अधिकारी की नियुक्ति करने का निर्देश दिया है। 
 
... और पढ़ें

बलिया हत्याकांड : सात महिलाओं ने वीडियो जारी कर दी आत्मदाह की चेतावनी, आज तक का अल्टीमेटम

फाइल फोटो

मेरठः 14 महीने बाद काले तेल का जिन्न फिर बोतल से बाहर, गिरफ्तारी के बाद जेल पहुंचा माफिया

आखिरकार 14 महीने बाद काले तेल के कारोबार का जिन्न एक बार फिर बोतल से बाहर आ गया है। अमर उजाला के खुलासे के बाद मेरठ छोड़कर भाग गए तेल माफिया अब पुलिस की गिरफ्त में आने लगे हैं। बुधवार को पुलिस ने तेल कारोबारी पंकज माहेश्वरी को सुपरटेक पामग्रीन से गिरफ्तार किया था। उसकी आगरा स्थित फर्म से 84 हजार लीटर मिलावटी तेल और केमिकल बरामद हुआ है। इसका मामला सिकंदरा थाने में दर्ज कराया गया था।

पिछले साल 19 अगस्त को काले तेल के कारोबार का खुलासा हुआ था। इसके बाद सितंबर में भी नकली तेल पकड़ा गया। साल्वेंट से नकली पेट्रोल बनाने और केरोसिन मिलाकर डीजल बनाने का धंधा बेरोकटोक चल रहा था। जब इस पूरे खेल का खुलासा अमर उजाला ने किया और पुलिस प्रशासन ने सख्ती से कार्रवाई की तो तेल माफिया ने अपने ठिकाने बदल दिए। मेरठ में मिलावटी तेल बनना लगभग बंद हो चुका है। लेकिन सूत्रों के अनुसार अब मिलावटी तेल बाहर के जनपदों से मेरठ के पेट्रोल पंपों पर फिर से बिकना शुरू हो गया है।

आगरा से पंजाब-हरियाणा तक फैला है जाल
मेरठ में भले ही नकली तेल बनना बंद हो गया हो लेकिन आगरा, सहारनपुर और दादरी में नकली तेल बनाया जा रहा है। यहां से भारी मात्रा में फिर से नकली तेल की सप्लाई शुरू हो गई है। आशंका है कि मेरठ के कई पेट्रोल पंपों पर इसकी आपूर्ति की जा रही है। मेरठ में सख्ती के बाद अन्य माफिया आगरा, फिरोजाबाद, मुजफ्फरनगर, गौतमबुद्धनगर के दादरी और पंजाब से लेकर हरियाणा में अपना काला कारोबार चला रहे हैं। 

पुराना तेल कारोबारी है पंकज माहेश्वरी
आगरा में नकली तेल बनाने के धंधे में शामिल पंकज माहेश्वरी मेरठ का निवासी है। आगरा पुलिस ने सितंबर में इसके यहां छापा मारा था तब से यह फरार चल रहा था। दो दिन पूर्व ही मेरठ के सुपरटेक पामग्रीन स्थित आवास से पुलिस पंकज को पकड़ कर ले गई। पंकज व उसके भाइयों की मेरठ व मुजफ्फरनगर में थोक व फुटकर की केरोसिन बिक्री की दुकानें थी, जिनका लाइसेंस इन्होंने लिया हुआ था। आरएल वीरेंद्रा एंड संस के नाम से इनकी फर्म थी लेकिन भाइयों के आपसी विवाद में दुकानें बंद हो गईं। 

आपूर्ति विभाग में कराता था सेटिंग 
पंकज माहेश्वरी का तेल का कारोबार भले ही मेरठ में बंद हो गया हो लेकिन उसकी आपूर्ति विभाग में खासी पकड़ थी। सूत्रों के अनुसार तमाम तेल कारोबारियों की सांठगांठ वह आपूर्ति विभाग में कराता था, जिसका कमीशन उसे मिलता था। नकली तेल के कारोबारियों के साथ भी पंकज माहेश्वरी के बेहतर संबंध थे। 

काले तेल के कारोबार में आया था नाम 
मेरठ में जब तेल के काले कारोबार को लेकर हल्ला मचा था, तब पंकज का नाम भी सामने आया था। इसके नाम से आईजी ऑफिस में शिकायत की गई थी। इसी आधार पर कई अन्य तेल कारोबारियों के यहां पुलिस ने छापा मारा था। हालांकि इन मामलों में कार्रवाई तो दूर की बात, अभी तक जांच भी पूरी नहीं हो पाई है। 

आगरा में कोर्ट में पेशी के बाद भेजा गया जेल 
पेट्रोल में केरोसिन की मिलावट करने के आरोपी व्यापारी पंकज माहेश्वरी को पुलिस ने शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया। उसे जेल भेज दिया गया। सिकंदरा के औद्योगिक क्षेत्र स्थित उसकी फैक्टरी से पुलिस को पेट्रोलियम पदार्थों का अवैध भंडारण भी मिला था। मामले में पूर्ति निरीक्षक अजय कुमार सिंह ने 26 सितंबर को थाना सिकंदरा में आवश्यक वस्तु अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराते हुए खंदारी के फ्रैंड्स आशियाना निवासी पंकज और शाहगंज की विष्णु कॉलोनी निवासी राजेश शर्मा को नामजद किया था। सिकंदरा थाना के प्रभारी निरीक्षक  अरविंद कुमार ने बताया कि गोदाम और फैक्टरी में तकरीबन 84 हजार लीटर केमिकल बरामद करने के बाद इसे विधि विज्ञान प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा था। फैक्टरी पर ताला लगा दिया गया था। 
... और पढ़ें

हाथरस कांड: सीबीआई की टीम फिर पहुंची बिटिया के गांव, कल चंदपा थाने में देखे थे रिकॉर्ड

यूपी: हिस्ट्रीशीटर ने फांसी लगाकर आत्महत्या की, दर्ज हैं 10 आपराधिक मामले

बांदा जिले में अतर्रा थाना क्षेत्र के महुटा गांव में हिस्ट्रीशीटर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजन घरेलू कलह बता रहे हैं। मृतक पर चित्रकूट और बांदा जनपद में 10 आपराधिक केस दर्ज हैं। एक अन्य घटना में युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया।

सौरभ शुक्ला (45) पुत्र केदारनाथ ने घर में सीलिंग फैन में गमछा बांधकर फांसी लगा ली। गुरुवार को सुबह पत्नी ने पड़ोसियों की मदद से दरवाजा तोड़कर देखा। शव टंगा मिला। पुलिस ने शव को फंदे से उतारकर पंचनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मृतक की पत्नी रानी ने पुलिस को बताया कि रात को खाना खाने के बाद पति सोने चला गया था। हालांकि पुलिस रात में पत्नी से झगड़ा होने की बात कह रही है। मृतक दो भाइयों में दूसरे नंबर का था। उसके दो पुत्रियां हैं।

सीओ सत्यप्रकाश शर्मा व अतर्रा इंस्पेक्टर अखिलेश मिश्रा ने परिजनों से पूछताछ की। सीओ ने बताया कि मृतक चित्रकूट में अपहरण की घटना में जेल से एक सप्ताह पहले छूटकर आया था। अतर्रा थाने में 10 मुकदमें दर्ज हैं।

उधर, थाना क्षेत्र के अंश भग्गू का पुरवा में कंचन (26) पत्नी चंद्रशेखर ने अज्ञात कारणों के चलते गुरुवार की देर शाम घर में फांसी लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया। पति की नजर पडने पर उसने फंदे से उतारकर उसे सीएचसी ले गए। वहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X