विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
कुंडली से जानिए अपनी समस्त विपदाओं का हल , आज ही बनवाएं फ्री जन्म कुंडली
Kundali

कुंडली से जानिए अपनी समस्त विपदाओं का हल , आज ही बनवाएं फ्री जन्म कुंडली

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

Coronavirus: उत्तराखंड में मंगलवार को 78 और संक्रमित मिले, 3686 पहुंची मरीजों की संख्या 

उत्तराखंड में कोरोना के मामलों ने फिर रफ्तार पकड़ ली है। मंगलवार को प्रदेश 78 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही अब प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 3686  पहुंच गई है। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने इसकी पुष्टि की है

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, आज सबसे ज्यादा मामले ऊधमसिंह नगर में 33 और हरिद्वार में 22 सामने आए हैं। वहीं, देहरादून में 12, पौड़ी में तीन, टिहरी में पांच और उत्तरकाशी में दो कोरोना संक्रमित मिले हैं। 

यह भी पढ़ें:
उत्तराखंड : सीएम की अपील, हर रविवार करें डेंगू पर वार, जारी किया वीडियो सन्देश

बता दें कि आज 70 मरीज ठीक होकर घर लौटे हैं। अब तक प्रदेश में 2867 संक्रमित मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। अभी भी 736 एक्टिव केस हैं।  जबकि अब तक 50 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं, प्रदेश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 77.78 फीसदी है और डबलिंग रेट 36.79 दिन है। 
... और पढ़ें

Uttarakand weather update: प्रदेश में आज हल्की बारिश के आसार, बदरीनाथ हाईवे पीपलकोटी में बंद

राजधानी देहरादून समेत प्रदेश के कई जिलों में आज बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने ज्यादातर जिलों में हल्की से मध्यम बारिश के आसार जताए हैं। वहीं, दोपहर बाद बदरीनाथ हाईवे पर पहाड़ी से अचानक मलबा आ गया। सड़क पर मलबा आने से हाईवे बंद हो गया है। एनएच की तीन जेसीबी मलबा हटाने में लगी थीं, लेकिन पहाड़ी से लगातार पत्थर गिरने की वजह से हाईवे खोलने में परेशानी आ रही है।

दो दिनों से जिले में बारिश न होने की वजह से हाईवे पर यातायात में किसी तरह की बाधा नहीं थी, लेकिन मंगलवार को चटख धूप होने के बावजूद पीपलकोटी से आगे बदरीनाथ की तरफ चाड़ातोक में भारी मात्रा में मलबा और बोल्डर सड़क पर आ गिरे। मलबा हटाने के दौरान दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई।

इससे पहले दोपहर करीब 12 बजे  विष्णुप्रयाग  के पास  पटमिला में हाईवे बंद हो गया। मलबा आने से बदरीनाथ धाम जाने वाले और वहां से आने वाले  यात्री दोनों ओर  फंसे रहे। एचएच की जेसीबी ने करीब आधे घंटे बाद  मलबा हटाकर  हाईवे को सुचारू किया। चाड़तोक में ही बीती 11 जुलाई को बदरीनाथ हाईवे बंद हुआ था। तब उसे करीब 16 घंटे बाद सुचारू किया जा सका था।  

बता दें कि मौसम विभाग की ओर से  जारी बुलेटिन के अनुसार पिथौरागढ़, बागेश्वर, नैनीताल, ऊधम सिंह नगर, चंपावत, अल्मोड़ा के कुछ कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है। वहीं, देहरादून, पौड़ी, टिहरी, रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी और हरिद्वार जिलों में भी कुछ स्थानों पर बारिश होने का अनुमान है।
... और पढ़ें

अयोध्या राम मंदिर से इसलिए जुड़ा है तीर्थ नगरी हरिद्वार का नाम, पढ़ें छह खास बातें

बदरीनाथ हाईवे

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने हर की पैड़ी मामले में गलती स्वीकारी, त्रिवेंद्र रावत से की यह गुज़ारिश

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मंगलवार को सियासी दांव चलकर हर की पैड़ी मामले की गेंद अब त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार के पाले में फेंक दी है। रावत ने हरिद्वार में अखाड़ा परिषद पहुंचकर 2016 में हुए आदेश को लेकर अपनी गलती स्वीकार की।

उन्होंने कहा कि एनजीटी ने गंगा तट से 200 के मीटर के दायरे में निर्माण ध्वस्त करने का आदेश दिया था। इससे हरिद्वार के तमाम भवनों पर ढहने का संकट आ गया था। तमाम लोगों ने इससे बचाव का रास्ता निकालने का आग्रह किया। इस पर मेरी सरकार ने फैसला किया कि इन भवनों को बचाने के लिए मां गंगा के प्रवाह को एक तकनीकी नाम (गंगनहर) दे दिया जाए।

इस आदेश से ध्वस्तीकरण तो रूक गया। लेकिन उससे भावनात्मक गलती हो गई। मां गंगा जहां भी जिस रूप में हैं वो गंगा ही हैं।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: छह आईएएस अफसरों समेत 13 के ट्रांसफर, लेनिवि में 38 इंजीनियरों के हुए प्रमोशन 

Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन