विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Uttarakhand Lockdown update Live: होम क्वारंटीन का पालन न करने पर पांच लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा

सोमवार को भी रोजाना की तरह सुबह सात बजे से दुकानें खुली। लेकिन आज गिने-चुने लोग ही सड़कों पर नजर आए। 

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बागेश्वर

सोमवार, 30 मार्च 2020

खानाबदोशों की झोपड़ियों में जाकर किया जागरूक

बागेश्वर। कोरोना संक्रमण को लेकर स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कीटनाशकों का छिड़काव किया जा रहा है लेकिन यहां डिग्री कॉलेज के पास झुग्गी-झोपड़ी बनाकर रह रहे खानाबदोशों को कोरोना संक्रमण की सही जानकारी तक नहीं है। इसलिए रेडक्रॉस सोसायटी के पदाधिकारियों ने उनकी झुग्गी बस्ती में जाकर इन लोगों को जागरूक किया।
खानाबदोशों के 10 परिवार यहां पर लंबे समय से रह रहे हैं। इन 52 लोगों का कुनबा बिना किसी सावधानी और सामाजिक दूरी का पालन किए झोपड़ियों में रह रहा है। जिला पंचायत उपाध्यक्ष नवीन परिहार, रेडक्रॉस सोसायटी के जिला सचिव आलोक पांडेय, वाइस चेयरमैन संजय साह जगाती, जगदीश उपाध्याय ने कोरोना से बचाव की जानकारी दी। झुग्गी-झोपड़ियों में सफाई नहीं थी। इसलिए रेडक्रॉस की टीम ने इन परिवारों को साबुन और स्वच्छता किट बांटी। उनसे स्वच्छता और सामाजिक दूरी बनाने को कहा गया। सूचना मिलने पर टीम के साथ मौके पर पहुंचे पालिका के ईओ राजदेव जायसी ने पूरे क्षेत्र में दवा का छिड़काव करवाया।
... और पढ़ें

बैजनाथ पुलिस ने दिखाई मानवता, बुजुर्ग महिला को वाहन से घर छोड़ा

गरुड़ (बागेश्वर)। बैजनाथ पुलिस ने मानवता का परिचय देते हुए पांच घंटे से पैदल चल रही एक बुजुर्ग महिला को वाहन से उसके घर तक छोड़ा। गरुड़ के हरिनगरी की बुजुर्ग महिला खष्टी देवी (60) कुछ दिन पूर्व अपने मायके कौसानी आई थीं। लॉकडाउन के कारण यह महिला अपने मायके नहीं लौट पा रही थीं। बृहस्पतिवार सुबह बुजुर्ग महिला ने पैदल ही अपने घर जाने का निर्णय ले लिया। कौसानी से हरिनगरी की दूरी 27 किमी थी। 27 किमी बुजुर्ग महिला का पैदल चलना बेहद कठिन था लेकिन इस बुजुर्ग ने हिम्मत दिखाई और 15 किमी की दूरी तय कर बैजनाथ पहुंच गई। दोपहर करीब 12 बजे बैजनाथ में बुजुर्ग महिला को पैदल चलते देख बैजनाथ के थानाध्यक्ष कैलाश बिष्ट ने पूछताछ की तो बुजुर्ग ने बताया कि वह सुबह सात बजे से पैदल चल रहीं हैं। बेहद थक गई हैं। अब आगे जाने में असमर्थ हैं। थानाध्यक्ष ने मानवता का परिचय देते हुए बुजुर्ग महिला को अपने वाहन में बिठाया और 12 किमी दूर हरिनगरी तक छोड़ आए। बुजुर्ग महिला ने थानाध्यक्ष का आभार जताया और आशीर्वाद दिया। लोगों ने बैजनाथ पुलिस के इस कार्य की सराहना की है। ... और पढ़ें

शामा में दमे के मरीज की मौत से लोग आशंकित हो उठे

कपकोट/बागेश्वर। बुधवार की शाम को शामा क्षेत्र के एक गांव में 55 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई। आशंकित लोग इस मामले को कोरोना से जोड़कर देखने लगे। लोग आशंकित हो उठे। उक्त व्यक्ति 15-20 दिन पहले मुंबई से लौटा था।
सूचना पर बृहस्पतिवार की सुबह प्रशासन ने डॉक्टरों की टीम मौके पर भिजवाई। डॉक्टरों ने दमे से पीड़ित उक्त व्यक्ति की स्वाभाविक मौत होने की पुष्टि की। इसके बाद लोगों का संशय दूर हुआ। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक रचिता जुयाल का कहना है कि मृतक दमे का मरीज था, खांसता था। लोगों को लगा कि कहीं खांसी से कोई दिक्कत तो नहीं है और यह सही भी है, कहीं से शंका हो तो उससे दूर रहा जाए। डॉक्टर ने क्लीनचिट दे दी तो सभी ने बॉडी हटाने में मदद भी की। इसलिए कोई कार्रवाई नहीं की गई।
... और पढ़ें

पूरन राम को मिला राशन

बागेश्वर। अमर उजाला में खबर छपने के बाद आंखों के इलाज के लिए बागेश्वर आए गंगोलीहाट के कोठेरा गांव निवासी पूरन राम को आखिरकार मदद मिल गई है।
यहां जिला अस्पताल में 21 मार्च को नेत्र परीक्षण शिविर लगना था। इसका लाभ उठाने के लिए गंगोलीहाट के कोठेरा गांव निवासी पूरन 20 मार्च को बागेश्वर आए थे, लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण नेत्र शिविर स्थगित हो गया। यह जानकारी पूरन को नहीं मिल पाई। तब से पूरन अपने रिश्तेदार के घर मोहल्ला चौरासी नुमाइशखेत में रह रहे हैं। उन्होंने शनिवार को अपनी व्यथा अमर उजाला को बताई। कहा कि घर जाने के लिए इंतजाम नहीं हो पा रहा है। रुपये भी नहीं हैं। रिश्तेदार के घर कब तक रहूं। अमर उजाला ने रविवार के अंक में आंखों के इलाज के लिए आए कोठेरा के पूरन बागेश्वर में फंसे शीर्षक से खबर प्रमुखता से प्रकाशित की। इसका संज्ञान लेकर जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव आलोक पांडेय ने रविवार को नुमाइशखेत जाकर पूरन को ढूंढ़ा और राहत सामग्री प्रदान की गई। इसमें दाल, तेल, साबुन, चाय, चीनी समेत पांच-पांच किलो चावल-आटा शामिल था। राशन पाकर पूरन खुश हुए। उन्होंने अमर उजाला और पांडेय का आभार जताया। कहा कि मंगलवार को प्रदेश में वाहन चलने वाले हैं। वह उसी दिन घर जाएंगे।
... और पढ़ें
बागेश्वर में राशन के पैकेट के साथ पूरन राम। बागेश्वर में राशन के पैकेट के साथ पूरन राम।

बिजली के करंट से मारी जा रही मछलियां

बागेश्वर/कपकोट। कपकोट क्षेत्र में लोग अवैध रूप से मछलियों का शिकार करने में जुटे हैं। करंट से मछलियों को मारा जा रहा है। कुछ लोग सरयू और अन्य नदियों में बिजली का करंट डाल रहे हैं। इसके लिए खाईबगड़ के पास बिजली की मेन लाइन में कंटिया डाली गई हैं। इससे बिजली के पोल से जंपर उड़ रहे हैं। बिजली आपूर्ति में व्यवधान आ रहा है। नदी किनारे बसे गांवों के आसपास नदियों में मछली मारने का धंधा लंबे समय से किया जाता है। पहले लोग जाल आदि से मछलियों को मारते थे। अब इन दिनों लोग नदी में बिजली का करंट डालकर मछलियां मार रहे हैं। इसे एक साथ मछलियां मर जाती हैं। मछलियों को आसपास के कस्बों में बेचा जाता है। बताया जा रहा है कि रात के समय बिजली की मेन लाइन से बिजली की चोरी की जा रही है। इसके लिए सूखे बांस के डंडे का प्रयोग किया जा रहा है। यूपीसीएल के जेई राजेंद्र शाही ने बताया कि शिकायत मिली है। बिजली की मेन लाइन से कांटा डालकर बिजली चोरी हो रही है। छापेमारी की जाएगी। पकड़े जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पोलों के पास जंपर फुंकने की भी लगातार शिकायत मिल रही है। ... और पढ़ें

बागेश्वर में लॉकडाउन के दौरान न हों परेशान, यहां से मिलेगा समाधान

बागेश्वर। डीएम रंजना राजगुरु ने लोगों से कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ी जा रही लड़ाई में सहयोग देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि जनता ने काफी सहयोग दिया है। इसी तरह के सहयोग की अपेक्षा है। उन्होंने कहा कि असंगठित क्षेत्र के मजदूरों, जिनके पास राशनकार्ड नहीं है, उनके लिए भी पूर्ति विभाग के माध्यम से राशन और अन्य सामग्री की व्यवस्था की गई है। कहा कि किसी को भी किसी भी प्रकार की परेशानी हो तो दिए गए हेल्पलाइन नंबरों से सहायता ली जा सकती है। डीएम ने लॉकडाउन के दौरान छूट की अवधि में सामाजिक दूरी बनाए रखने की अपील की है। कहा है कि लोगों के सहयोग से ही कोरोना संक्रमण की लड़ाई को जीता जा सकता है।
पूर्ति विभाग ने कालाबाजारी पर अंकुश के लिए कंट्रोल रूम बनाया
बागेश्वर। डीएम रंजना राजगुरु ने विभागीय अधिकारियों को कालाबाजारी और जमाखोरी रोकने के निर्देश दिए हैं। जिला पूर्ति अधिकारी अरुण कुमार वर्मा ने बताया कि लगातार चेकिंग की जा रही है। कालाबाजारी रोकने और सामान की उपलब्धता बनाए रखने के लिए जिला पूर्ति कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाया गया है। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर पूर्ति निरीक्षक रणवीर सिंह के मोबाइल नंबर 9837494708, पूर्ति निरीक्षक विपिन चंद्र के मोबाइल नंबर 7500704057, हेमंत कांडपाल के मोबाइल नंबर 7055878515 पर सूचना दी जा सकती है।
बागेश्वर जनपद
-मजदूर/गरीब/असहाय लोग सहायता के लिए पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112, पुलिस कार्यालय नंबर 05963-220382, मोबाइल नंबर 9410393990 पर सूचना दें।
- मजदूर/गरीब/असहाय/जरूरतमंद लोग सहायता के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों के हेल्पलाइन नंबर 8958687083, 9520000968, 9536774517, 9456104943, 9412977460 पर भोजन के लिए संपर्क करें।
- रसोई गैस सिलिंडर लेने के लिए 05963-220066 से संपर्क कर सकते हैं।
- जिन पेंशनरों/पारिवारिक पेंशनरों के लिए मार्च में जीवित प्रमाण पत्र कोषागार में प्रस्तुत किया जाना हैं, वह सभी अपना जीवित प्रमाण पत्र की सूचना कोषागार/उपकोषागार को टेलीफोन नंबर कोषागार बागेश्वर 9410156688, 9410347986, 7579171690, 9756001031, उपकोषागार कपकोट 9410305977, 9457270409, उपकोषागार गरुड़ 9411161179, 9758023996, 9410774608, उपकोषागार कांडा 9412930478, उपकोषागार दुगनाकुरी 7579171690, 8218671015 पर 10 अप्रैल तक उपलब्ध करवाएं।
- स्वास्थ्य संबंधित परेशानी पर बागेश्वर डॉ. ईश्वर प्रकाश मोबाइल नंबर 7465875588, कपकोट डॉ. चंद्रशेखर ममगाई 9568505020, गरुड़ डॉ. सिद्धार्थ शंकर मंडल 9410150416, कांडा के डॉ. नवल परिहार 7830976825 पर संपर्क कर सकते हैं।
- स्वास्थ्य संबंधी परेशानी अथवा कोरोना से बचाव संबंधी जानकारी के लिए जिले के आपदा कंट्रोल रूम हेल्पलाइन नंबर 05963-220197, 8057998101 पर संपर्क करें। निशुल्क टोल फ्री नंबर 104 पर संपर्क किया जा सकता है।
... और पढ़ें

तीसरे दिन गुफा से निकाला जीवन का शव

कांडा/बागेश्वर। तीन दिन के प्रयासों के बाद प्रशासन ने शनिवार को गुफा के मलबे में दबे जीवन राम (42) पुत्र दुर्गा राम का शव बरामद कर लिया है। सेही (शौल) का शिकार करने के प्रयास में जीवन गुफा के मलबे में दब गया था।
कुछ लोगों ने सेही (शौल) को मारने के लिए बुधवार शाम जंगल की सुरंगनुमा गुफा में धुआं लगाया था। इसका पता चलने पर बृहस्पतिवार सुबह ग्राम सानिउडियार निवासी जीवन राम, रमेश राम (42) पुत्र प्रताप राम और ग्राम दाणोथल निवासी हरीश राम (36) पुत्र बसंत राम समेत पांच लोग शौल की गुफा के पास गए। गुफा के अंदर सबसे पहले जीवन राम गया। जो काफी देर तक बाहर नहीं आया तो उसकी तलाश में हरीश राम गुफा में घुसा। वह भी बाहर नहीं आया तो रमेश भी गुफा में चला गया। बाहर खड़े लोगों ने हरीश और रमेश को गुफा से बाहर खींच लिया लेकिन सुरंग में फंसे जीवन का पता नहीं चला। बृहस्पतिवार को सुरंग के भीतर गए एसडीआरएफ के जवानों को जीवन के पैर दिखाई दिए थे लेकिन शरीर मलबे से दबने और अंधेरा होने के कारण खुदाई का काम रोकना पड़ा। शुक्रवार को एसडीएम योगेंद्र सिंह के निर्देश पर पोकलैंड मशीन से खुदाई के बावजूद सफलता नहीं मिली। शनिवार को ड्रिल मशीन से खुदाई की गई। दोपहर करीब दो बजे एसडीआरएफ की टीम ने जीवन को गुफा से निकाल लिया। तहसीलदार मैनपाल सिंह ने बताया कि मौके पर मौजूद डॉक्टर ने परीक्षण कर उसे मृत घोषित कर दिया। पंचनामा, पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया गया।
... और पढ़ें

बुखार से बच्ची की मौत

बागेश्वर। तेज बुखार से सुमगढ़ (कपकोट) निवासी चार साल की एक बच्ची की मृत्यु हो गई। ग्राम सुमगढ़ निवासी पप्पू जोशी की चार वर्षीय पुत्री चित्रा इन दिनों अपनी मां के साथ अपने ननिहाल मोहल्ला चौरासी नुमाइशखेत आई थी। वहां अचानक उसका स्वास्थ्य खराब हो गया। शनिवार सुबह परिजन चित्रा को लेकर जिला अस्पताल आए। अस्पताल में डॉक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। डॉ. नितिन ने बताया कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही बच्ची की मृत्यु हो गई थी। सूचना मिलने पर कोतवाली थाने से उपनिरीक्षक विनीता बिष्ट के नेतृत्व में पुलिस टीम मौके पर पहुंची। पंचनामा और पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने बच्ची का शव परिजनों को सौंप दिया है। ... और पढ़ें

घर में पिता की मौत, दोनों लड़के दिल्ली में फंसे, सांसद की मदद से पहुंचे घर

बागेश्वर। घर में पिता की मौत हो गई। लॉकडाउन के कारण दोनों लड़के दिल्ली से घर नहीं आ पा रहे थे। ऐसे में सांसद अजय टम्टा मददगार बने। सांसद ने मृतक के दोनों लड़कों और बहू को घर भेजने में मदद की। शनिवार को घर पहुंचकर पुत्रों ने पिता का अंतिम संस्कार किया।
शुक्रवार शाम करीब चार बजे जिले के गांसी गांव निवासी मानी राम (70) की मृत्यु हो गई थी। मृतक के दोनों लड़के दिल्ली में प्राइवेट नौकरी कर रहे थे। परिजनों ने लड़कों को मानी राम के निधन की सूचना दी। इस कारण प्रताप कुमार, गणेश राम और बहू कलावती देवी के सामने घर लौटने की समस्या हो गई। गांसी की प्रधान प्रीता देवी और जिला रेडक्रॉस सोसायटी के चेयरमैन अशोक लोहनी ने सांसद अजय टम्टा से संपर्क किया। प्रताप और गणेश ने भी सांसद को समस्या बताई। सांसद के हस्तक्षेप पर गांसी आने के लिए तीनों का पास बन पाया। दोनों बेटे कार बुक कर शुक्रवार देर शाम बागेश्वर के लिए रवाना हुए। शनिवार सुबह करीब सवा नौ बजे यह लोग बागेश्वर पहुंचे। सुबह करीब 11 बजे यह लोग घर पहुंच गए थे। तभी स्थानीय श्मशान घाट पर उन्होंने अपने पिता का अंतिम संस्कार किया।
दिल्ली में फंसे 148 लोगों को घर भिजवा चुके सांसद टम्टा
बागेश्वर। अमर उजाला से हुई बातचीत में सांसद अजय टम्टा ने बताया कि 22 मार्च को कोलकाता, गुजरात, पंजाब से लौटने वाले पहाड़ के 62 लोग दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे पर फंसे थे। उन्होंने उन लोगों को घर तक भिजवाने के लिए बस का प्रबंध किया। 26 मार्च को 85 लोगों को घर तक भेजा गया। बताया कि पिथौरागढ़ के एक युवक को 27 मार्च को घर भिजवाने की व्यवस्था की। बताया कि इस युवक के पिता की तबियत खराब थी। उन्होंने कहा कि महामारी के इस दौर में हर किसी को एक-दूसरे की मदद करनी चाहिए।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में छूट के दौरान शनिवार को घर से कम निकले लोग

बागेश्वर। कोरोना महामारी की हकीकत अब लोगों की समझ में आने लगी है। शनिवार को लॉकडाउन में छूट के दौरान सीमित संख्या में लोग घरों से बाहर निकले, खरीदारी की और घरों को लौट गए।
शनिवार को बाजारों में चार घंटे की रौनक के बाद छाई सुनसानी देखकर लगा कि कोरोना से बचाव के लिए अब लोग सजग हो रहे हैं। शनिवार को बहुत कम लोग घरों से निकले। जिला मुख्यालय के साथ ही कस्बों में भी लोगों की कम भीड़ दिखी। लोग आपस में एक मीटर की दूरी का भी ध्यान रख रहे थे। सुबह सात बजे से दोपहर एक बजे तक आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली रखने का शासन का निर्देश था लेकिन सुबह 10 बजे बाद ही बाजार में लोगों की भीड़ छंटने लगी थी। सुबह 11 बजे बाद बाजारों में सुनसानी छा गई थी। दोपहर 12 बजे बाद अधिकतर दुकानें भी बंद हो गईं थीं।
सस्ते गल्ले की दुकान में लगी लाइन
बागेश्वर। जिला मुख्यालय के मंडलसेरा स्थित सस्ते गल्ले की दुकान में लोगों को राशन लेने के लिए लगातार दूसरे दिन भी लाइन लगानी पड़ी। हालांकि शनिवार को शुक्रवार की अपेक्षा लोगों की संख्या कम थी। सस्ता गल्ला विक्रेता ने भी लोगों की भीड़ को देखते हुए तीन लोग राशन देने के लिए दुकान में लगाए थे। सुबह नौ बजे करीब 70 लोग लाइन में एक मीटर दूरी बनाकर खड़े थे।
गैस सिलिंडर कंधे में ढोकर ले गए लोग
बागेश्वर। लॉकडाउन में छूट की अवधि में जिला मुख्यालय के विभिन्न स्थानों में रसोई गैस बांटी गई। लोग एक-एक कर गैस वाहन के पास आकर रसोई गैस ले गए। लोगों को गैस वाहन से घरों तक कंधे में गैस सिलिंडर ढोना पड़ा। गैस एजेंसी के कर्मियों का कहना था कि लॉकडाउन के चलते मजदूर नहीं मिल रहे हैं, इस वजह से होम डिलीवरी नहीं हो पा रही है।
... और पढ़ें

रैपिड रिस्पांस और ब्लॉक रिस्पांस टीम का गठन

बागेश्वर। डीएम रंजना राजगुरु ने अतिरिक्त रैपिड रिस्पांस टीम, ब्लॉक रिस्पांस टीम का गठन कर दिया है। टीम होम क्वारंटीन में रखे गए नागरिकों की तबीयत खराब होने की सूचना मिलने पर तत्काल जरूरी उपाय करेगी।
विकासखंड बागेश्वर के लिए बीडीओ आलोक भंडारी मोबाइल नंबर 9456312102, एबीडीओ चंद्रमोहन आर्या 8958774609, एबीडीओ केडी जोशी 7534875255, विकासखंड कपकोट के लिए बीडीओ गंगा गिरी गोस्वामी 9411305722, एडीओ सहकारिता आरएस बिष्ट 7500774547, वीपीडीओ प्रमोद मिश्रा 9917778547, वीडीओ गोकुल रावत 9410769099, विकासखंड गरुड़ के लिए बीडीओ त्रिलोक सिंह भाकुनी 7599407467, सीडीपीओ डॉ. निर्मल बसेड़ा 927867733, वीडीओ प्रभात जोशी 9568544566, नगर पालिका बागेश्वर के लिए सहायक सैनिक कल्याण अधिकारी रमेश चंद्र तिवारी 9411259918, एडीओ सहकारिता दिलीप सिंह बिष्ट 9456764977, नगर पंचायत कपकोट के लिए उप शिक्षा अधिकारी रमेश चंद्र मौर्या 8979418314, आरएसआई कुंदन प्रसाद 8393049033, आरएसआई भराड़ी किशन नाथ गोस्वामी 9639165702 को नामित किया गया है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: ढील के दौरान सड़क पर निकला लोगों का रेला

बागेश्वर। लॉकडाउन में ढील के दौरान शुक्रवार को बागेश्वर की सड़क पर लोगों का रेला निकल आया। इस कारण सामाजिक दूरी के निर्देश हवा में उड़ गए। अधिकतर दुकानों में भी लोग नजदीक खड़े दिखे। शासन ने शुक्रवार सुबह सात से दोपहर एक बजे तक आवश्यक वस्तुओं की दुकान खोलने के लिए छूट दी थी। इसलिए लोग सुबह साढ़े छह बजे से ही बाजारों में निकलने लगे थे। सुबह सात बजे के बाद लोगों का रेला सड़क पर उतर आया। मजदूर तबके के लोग एक साथ घरों से निकले। सड़क पर लोगों का हुजूम दिखने लगा। लोग सामाजिक दूरी बनाकर भी नहीं चल रहे थे।
पुलिस ने लोगों से एक साथ न चलने और सामाजिक दूरी बनाए रखने की अपील की, लेकिन लोगों पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। लोग दुकानों में भी अमूमन समूह में खड़े नजर आए। हालांकि कई दुकानदार लोगों को दूर-दूर खड़े रहकर सामान खरीदने की अपील कर रहे थे। इस कारण कई जगह असहजता महसूस की गई। हालांकि सुबह करीब 11 बजे बागेश्वर जिले के अधिकतर हिस्सों में बारिश होने लगी थी। इसलिए बारिश थमने के बाद लोग तेजी से घरों को निकले। दोपहर 12 बजे बाद दुकानें भी बंद होने लगी थीं। एक बजते ही बाजारों में सन्नाटा पसर गया।
पिथौरागढ़ में लॉकडाउन के दौरान सरेआम उड़ाई जा रहीं हैं नियमों की धज्जियां
पिथौरागढ़। पिथौरागढ़ में लॉकडाउन के दौरान सरेआम नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रहीं हैं। पर शासन-प्रशासन गंभीर नहीं दिख रहा है। ढील के दौरान गांधी चौक सहित कई अन्य स्थानों पर लोग सामाजिक दूरी बना कर सामान की खरीदारी नहीं कर रहे हैं। लोगों की लापरवाही खुद पर भारी पड़ सकती है। शुक्रवार को ढील के दौरान गांधी चौक, सिमलगैर, टकाना सहित अन्य स्थानों पर सामान की खरीदारी करने आए लोग बिना डिस्टेंस के सामान खरीदते हुए नजर आए। ब्यूरो---
सात से एक बजे तक खरीदारी के लिए टूट पड़ी लोगों की भीड़
अल्मोड़ा। लॉकडाउन के दौरान सरकार द्वारा शुक्रवार को बाजार खुलने का समय बढ़ाकर सुबह सात से दोपहर एक बजे तक किया था। इस दौरान बाजार में सब्जी, दूध, राशन आदि की दुकानों में लोगों की काफी भीड़ रही। लोगों ने दुकानों से जमकर खरीदारी की। इस दौरान कई स्थानों पर सामाजिक दूरी का एक बार फिर से उल्लंघन होता देखा गया।
सरकार द्वारा लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की खरीद के लिए शुक्रवार को समय बढ़ाकर सुबह सात से दोपहर एक बजे तक किया था। सुबह सात बजते ही लोग अपने घरों से निकल आए। देखते ही देखते बाजार में लोगों की भारी भीड़ हो गई। राशन, सब्जी, फल, दूध आदि की दुकानों में खरीदारी के लिए लोगों की लंबी लाइन लगी रही। जनरल स्टोर में भी काफी भीड़ रही। इस दौरान कई स्थानों पर सामाजिक दूरी का उल्लंघन किया गया। कई स्थानों पर पुलिस ने लोगों को सामाजिक दूरी का पालन नहीं करने पर फटकार भी लगाई। दुकानें एक बजे तक खुलने से लोगों को राहत मिली। लॉकडाउन के दौरान नगर की सड़कों में सन्नाटा पसरा रहा। हालांकि पुलिस की सख्ती के बावजूद एक्का दुक्का लोग सडकों में घूमते हुए दिखे। पुलिस ने उन्हें हिदायत देकर घर वापस भेजा। एटीएमों में भी पैसे निकासी के लिए लाइन लगी रही।
-
रानीखेत में लोगों ने किया सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्णतया पालन
रानीखेत/द्वाराहाट। रानीखेत और द्वाराहाट में सुबह से लगातार बारिश हो रही थी। शुक्रवार को सुबह सात से दोपहर एक बजे तक जरूरी सामान की खरीद के लिए कर्फ्यू में ढील दी गई थी। हालांकि बाजार में अब अफरा तफरी का माहौल नहीं है। लोगों ने शांतिपूर्ण ढंग से आकर सब्जियां और अन्य जरूरी सामान खरीदा, सोशल डिस्टेंसिंग का भी इस दौरान खास ध्यान रखा गया। लोगों ने एक-एक मीटर की दूरी पर खड़े होकर सामान खरीदा। दूसरी तरफ एक बजे बाद घरों से लोग बाहर नहीं निकले इसके लिए निरंतर बाजार में गश्त भी की गई। द्वाराहाट में भी पुलिस ने गश्त के दौरान चौपहिया वाहनों को रोककर पूछताछ की और सड़कों पर बेवजह नहीं घूमने की हिदायत दी।
लॉकडाउन में चंपावत जिला पास
पहाड़ में रोड पर नहीं चले वाहन,समय बढ़ने से अधिकांश दुकानों में कम रही भीड़
चंपावत/लोहाघाट/टनकपुर/बनबसा । कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को जारी लॉकडान चंपावत जिले में अब पूरी तरह कामयाब हो रहा है। शुक्रवार को लोगों ने इस लॉकडाउन का पूरी तरह पालन किया। चौपहिया वाहन नदारद रहे, तो अधिकांश बाइकों में भी एक ही सवारी थी।
दुकानों में खाद्यान्न, सब्जी, दूध, पेट्रोल-डीजल आदि की पर्याप्त उपलब्धता थी। अलबत्ता जरूरी सामान की दुकान खुलने की समय सीमा 10 बजे से बढ़ाकर एक बजे तक करने से ज्यादातर दुकानों में लोगों की भीड़ भी खासी कम रही। दुकानों में सुबह से न तो कोई अफरातरफरी थी और नहीं ज्यादा भीड़। दुकान खुलने के वक्त में इजाफे से लोगों में तसल्ली थी। दोपहर 12 बजे के बाद तो अधिकांश दुकानों में इक्का दुक्का लोग भी नहीं थे।
टनकपुर में लॉकडाउन में शुक्रवार को दी गई छह घंटे की छूट से दुकानों में भीड़ कम रही। कुछ दवा की दुकानों में लोगों की भीड़ लगी रही। इससे नाराज सीओ विपिन चंद्र ने दवा विक्रेताओं को सोशल डिस्टेंस बनाए रखने को कहा। ऐसा न होने पर केस दर्ज करने की भी चेतावनी दी। बनबसा में बाजार में अन्य दिनों की अपेक्षा कम ही भीड़ रही। एक बजे बाद पूरा क्षेत्र लॉकडाउन रहा। संवाद
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us