विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus Lockdown Day 15 Live : लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर दर्ज हुए 75 मुकदमे, 258 लोगों को किया गया गिरफ्तार

उत्तराखंड में कोरोना का नया मामला सामने आने के बाद अब राज्य में पॉजिटिव केस की कुल संख्या 32 हो गई है। जिनमें से तीन मरीज सही हो चुके हैं। वहीं आज कैबिनेट लॉकडाउन पर फैसला ले सकती है।

8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चमोली

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

विधायक ने लिया सीएचसी में व्यवस्थाओं का जायजा

बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट ने सीएचसी जोशीमठ का निरीक्षण किया। उन्होंने केंद्र में व्यवस्थाओं का जायजा लिया और शीघ्र यहां लैब टेक्नीशियन की नियुक्ति को लेकर सीएमओ से बात की। विधायक ने नगर पालिका सभागार में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि कोरोना से केरल भी अछूता नहीं है और बदरीनाथ धाम के मुख्य पुजारी केरल के ही हैं। लिहाजा मुख्य पुजारी को कपाट खुलने से पंद्रह दिन पहले जोशीमठ लाने की व्यवस्था कर उन्हें चौदह दिनों तक क्वारंटीन में रखने की मांग उठाई गई। इस पर विधायक ने कहा कि इस संबंध में सरकार विचार कर रही है। ब्लॉक प्रमुख हरीश परमार ने लॉकडाउन के दौरान हो रही परेशानियों के बारे में बताया।
लैंसडौन विधायक ने कैंट चिकित्सालय को दी पीपीई किट
लैंसडौन। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लैंसडौन विधायक महंत दिलीप रावत ने कैंट चिकित्सालय में चार पीपीई किट और एक थर्मल स्क्रीनिंग मशीन चिकित्सा प्रभारी डा. मनीषा अग्रवाल को सौंपी। उन्होंने चिकित्सालय में मरीजों को मास्क भी बांटे। विधायक महंत दिलीप रावत ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ता प्रत्येक बूथ पर सौ मास्क वितरित करेंगे। मास्क वितरण के लिए भाजपा के मुकेश अग्रवाल, अजय अग्रवाल, अजेंद्र रावत, राजेंद्र राना व भुवनेश्वर खंडेलवाल को जिम्मेदारी सौंपी गई है।
... और पढ़ें

कर्णप्रयाग के गांवों में नहीं सैनिटाइजर और मास्क की व्यवस्था

कोरोना वायरस के संक्रमणकाल में ग्रामीण क्षेत्रों के हजारों लोगों की सुरक्षा भगवान भरोसे है। गांवों में मास्कों का वितरण तो दूर, सैनिटाइजर और कीटनाशक दवाओं का छिड़काव तक नहीं किया जा रहा। ग्रामीणों ने प्रशासन से तहसील के सभी गांवों को सैनिटाइज करने और मास्क वितरण की मांग उठाई।
कर्णप्रयाग ब्लॉक के अंतर्गत 93 ग्राम पंचायत और एक नगर पालिका है। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने को ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार कीटनाशक का छिड़काव और मास्क वितरण के लिए बैठकें तो की जा रही हैं, लेकिन गांवों की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पूर्व प्रमुख राजेंद्र सगोई, प्रधान हरीश चौहान, लखपत सगोई, पुष्कर रावत आदि ने कहा कि तोप, सेम, भटोली, सिरोली, धारकोट, कालेश्वर, बैरफाला, घंडियाल, ऐरवाड़ी, कालेश्वर सहित तहसील के किसी भी गांव में प्रशासन की ओर से सैनिटाइजर और मास्क की व्यवस्था नहीं की गई है। वाहन नहीं चलने से ग्रामीण शहरों में जाकर ब्लीचिंग या मास्क नहीं खरीद पा रहे हैं।
वहीं, डीएम स्वाति एस भदौरिया का कहना है कि अधिकारियों को मेडिकल उपकरण, मॉस्क, सैनिटाइजर, ब्लीचिंग पाउडर व थोक विक्रेताओं के पास उपलब्ध खाद्यान्न स्टॉक की नियमित मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही गांवों में सफाई रखने के लिए सभी तहसीलों को अतिरिक्त ब्लीचिंग पाउडर के पैकेट भेजे गए हैं।
... और पढ़ें

राशन के लिए लगी भीड़ को पुलिस ने खदेड़ा

लकड़ीपड़ाव में राशन बांटने को लेकर एकत्र हुई भीड़ ने क्षेत्र में लगाई गई धारा 144 की धज्जियां उड़ाईं। राशन लेने को उमड़ी भीड़ में सोशल डिस्टेंसिंग तक का ध्यान नहीं रखा गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने लोगों को वहां से खदेड़ा और एक-एक कर राशन वितरित करवाया।
तहसील प्रशासन की ओर से दानदाताओं की ओर से दी गई मदद से नगर निगम के सभी वार्डों में गरीब तबके के लोगों को राशन वितरित किया जा रहा है। शनिवार को प्रशासन ने पार्षदों के माध्यम से लकड़ीपड़ाव और प्रजापति नगर में राशन वितरित करने के निर्देश थे, लेकिन इंतजाम की कमी के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रखा गया और वहां पर राशन लेने वालों की भीड़ लग गई। सूचना मिलते ही एसडीएम योगेश मेहरा, सीओ अनिल जोशी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और भीड़ को वहां से खदेड़ा। इसके बाद एक-एक कर राशन देना शुरू किया गया। एसएसआई प्रदीप नेगी ने बताया कि समझाने के बाद भी लोग नहीं मान रहे हैं। शनिवार को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है लेकिन अब घटना की पुनरावृत्ति होने पर कार्रवाई की जाएगी।
लॉकडाउन के पालन में सड़कों पर नहीं चले वाहन
कर्णप्रयाग/नौगांव। लॉकडाउन में मिली छूट के बाद कर्णप्रयाग, गौचर, आदिबदरी, गैरसैंण, नारायणबगड़, थराली, देवाल, सिमली, लंगासू, नौली, बगोली सहित ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों पर वाहन नहीं चले। सुबह दुकानों में आकर लोगों ने सामान की खरीदारी की और उसके बाद घरों में चले गए। सुलोचना देवी, कमला देवी, प्रमिला देवी का कहना है कि सब लोग लॉकडाउन का पालन करें और सोशल डिस्टेंस बनाकर सामान खरीदें।
वहीं नौगांव में भी ग्रामीण बिना जरूरत के घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। सुनारा गांव में दिल्ली, मुंबई आदि बाहरी क्षेत्रों से लौटे लोग घरों में कैद हैं। स्थानीय लोगों ने इनसे दूरी बनाई हुई है। गांव के प्रधान कुलदीप रावत बताते हैं कि बाहरी क्षेत्रों से गांव लौटे लोगों को घरों में ही रहने की हिदायत दी गई है।
झूठी खबर फैलाने पर होगी कार्रवाई
गैरसैंण। एसडीएम कौस्तुभ मिश्र ने सीएचसी के प्रभारी अधीक्षक, आदिबदरी और गैरसैंण तहसीलों के तहसीलदारों और थानाध्यक्ष को आवश्यक निर्देश जारी किए। कहा कि लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की रहने खाने और चिकित्सीय व्यवस्था कराएं। झूठी खबर फैलाने पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

#LadengeCoronaSe: 60 साल की बुजुर्ग महिला ने देश के लिए दान की उम्रभर की जमा पूंजी, पीएम केयर फंड में दिए 10 लाख रुपये

संकट की घड़ी में एक संघर्षशील महिला ने अपने जीवन की सारी कमाई देश के लिए दान कर दी। उत्तराखंड के चमोली जिले के गौचर में रहने वाली देवकी देवी भंडारी ने बुधवार को प्रधानमंत्री केयर फंड में 10 लाख रुपये की धनराशि जमा कराई।

देवकी देवी के पति हुकुम सिंह भंडारी रेशम विभाग में सेवारत थे। कुछ साल पहले उनका निधन हो गया था। देवकी देवी ने बताया कि कोई संतान न होने से उन्होंने अपना जीवन सामाजिक कार्यों में लगा दिया। उन्होंने कुछ बच्चों को गोद लिया और उनकी उच्च शिक्षा की पढ़ाई में मदद की। 60 वर्षीय देवकी देवी अब भी एक मकान में किराए पर रहती हैं। उनके पिता स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे।

उन्होंने बताया कि बैंक में जमा एफडी और पेंशन की रकम से 10 लाख रुपये जमा हुए थे। कोरोना संकट को देखते हुए जीवन भर की कमाई इस महामारी से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड में दान दे दी है। सेंट्रल बैंक के शाखा प्रबंधक पंकज पंवार, सभासद अनिल नेगी, सभासद देवेंद्र नेगी, व्यापार संघ अध्यक्ष राकेश लिंगवाल आदि ने देवकी देवी के राष्ट्र-प्रेम की सराहना की और कहा कि वे लोगों के लिए एक नजीर हैं।
... और पढ़ें
दस लाख रुपये दान करने वाली महिला दस लाख रुपये दान करने वाली महिला

Uttarakhand Weather: बदला मौसम, मैदान में धूप तो बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब  और केदारनाथ में हुई बर्फबारी

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में दोपहर बाद मौसम ने करवट बदली। बदरीनाथ धाम, हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, लाल माटी, घांघरिया सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हुई, जबकि निचले क्षेत्रों में बारिश हुई। चमोली जिले में सुबह चटख धूप खिली रही, लेकिन दोपहर बाद अचानक मौसम बदला और आसमान में बादल छा गए। बारिश और बर्फबारी से मौसम ठंडकभरा हो गया है।

वहीं, केदारनाथ के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी तीन घंटे बर्फबारी हुई। जबकि निचले इलाकों में अंधड़ के साथ कुछ जगहों पर बारिश की बौंछारें गिरी। केदारनाथ में दो बजे के बाद से बर्फबारी शुरू हो गई थी, जो शाम पांच बजे तक होती रही। वहीं, जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग समेत अन्य निचले इलाकों में तेज अंधड़ और बादलों की गर्जना के साथ बारिश की बौंछारें गिरी।

वुड स्टोन कंपनी के टीम प्रभारी मनोज सेमवाल ने बताया कि आए दिन खराब मौसम के चलते गौरीकुंड-केदारनाथ पैदल मार्ग पर जमा बर्फ की सफाई में दिक्कत हो रही है। बताया कि बर्फ साफ करने के लिए 18 और मजदूरों को केदारनाथ भेज दिया गया है, अब वहां कुल 50 मजदूर काम कर रहे हैं।
... और पढ़ें

जिला सहकारी बैंक ने दिए दस लाख

कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए जिला सहकारी बैंक चमोली की ओर से मुख्यमंत्री राहत कोष में 10 लाख 49 हजार 42 रुपये की आर्थिक सहायता जमा की गई है। आठ लाख पचास हजार रुपये सहकारी बैंक की ओर से, एक लाख 88 हजार 42 रुपये बैंक के नियमित कर्मचारियों और अधिकारियों के एक दिन का वेतन और 11 हजार रुपये बैंक अध्यक्ष गजेंद्र सिंह की ओर से व्यक्तिगत रूप से दिए गए हैं। वहीं भाजपा के अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष रामकृष्ण रावत ने सीएम और पीएम राहत कोष में 51-51 हजार की धनराशि जमा कराई। दूसरी ओर गुप्तकाशी में लोक विज्ञान संस्थान देहरादून के कार्यकर्ताओं ने दो दिन का वेतन कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराया।
कर्णप्रयाग में राजकीय निर्माण निगम में कार्यरत शैल गांव निवासी महादेव बहुगुणा ने 20 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रधानमंत्री केयर फंड में जमा कराई। गई। इसके अलावा पांच हजार की आर्थिक सहायता वार्ड सभासद अनिल नेगी के माध्यम से गरीबों के लिए दी।
यमुनोत्री मंदिर समिति ने भी की मदद
उत्तरकाशी/बड़कोट। कोरोना महामारी से निपटने और जरूरतमंदों की मदद के लिए बड़ी संख्या में लोग और संस्थाएं आगे आ रही हैं। यमुनोत्री मंदिर समिति ने कोष में 1 लाख 11 हजार रुपये सहायता राशि जमा कराई। मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर उनियाल ने एसडीएम बड़कोट को सहायता राशि का चेक सौंपा। सेवानिवृत्त शिक्षक नारायण सिंह राणा ने रेडक्रॉस सोसायटी को 1100 रुपये की सहायता दी।
... और पढ़ें

ओलावृष्टि से गेहूं और सब्जी की फसल चौपट

मौसम की बेरुखी ने काश्तकारों को परेशानी में डाल दिया है। मंगलवार को जिले के विभिन्न हिस्सों में बारिश के साथ हुई ओलावृष्टि ने गेहूं की फसल को चौपट कर दिया है।
पोखरी ब्लाक के गांवों में गेहूं की खड़ी फसल पकने के कगार पर थी, लेकिन ओलावृष्टि ने काश्तकारों की मेहनत पर पानी फेर दिया। क्यूंजा घाटी के गांवों, ग्राम पंचायत पोगठा, गोदी गिंवाला, रौता, बंगथल, खाल बजेठा और भिकोना में भी ओलावृष्टि से गेहूं, सरसों और साग-सब्जी की फसल बर्बाद हो गई है। पोगठा गांव के पूर्व प्रधान बलराम सिंह नेगी, जगदीश नेगी और खाल के प्रधान चंद्रमोहन नेगी का कहना है कि एक तरफ लॉकडाउन के कारण लोगों की आर्थिकी चौपट हो गई है, वहीं ओलावृष्टि ने काश्तकारों की कमर तोड़ दी है। उन्होंने पोखरी एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर ओलावृष्टि से फसलों को हुई क्षति का आंकलन कर मुआवजा देने की मांग उठाई। संवाद
... और पढ़ें

डीएम, एसपी ने किया क्वारंटीन सेंटरों का निरीक्षण

कर्णप्रयाग तहसील प्रशासन ने गौचर क्वारंटीन सेंटर में भर्ती लोगों के लिए एलईडी टीवी, किताबों और पत्रिकाओं की व्यवस्था की है। इन सेंटरों में लोगों की समय-समय पर काउंसिलिंग, भोजन व साफ-सफाई की व्यवस्था करने आदि जरूरी सामान की व्यवस्था करने के साथ ही सोशल डिस्टेंस का पालन कराया जा रहा है। डीएम स्वाति एस भदौरिया और पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने इन क्वारंटीन सेंटरों का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
कर्णप्रयाग एसडीएम ने कहा कि बाहर से आने वाले 12 लोगों को पीएचसी और 16 लोगों को जीएमवीएन में क्वारंटीन किया गया है। इसके अलावा जिले से बाहर जाने की कोशिश कर रहे 28 मजदूरों व अन्य लोगों को पॉलीटेक्निक में बने रिलीफ सेंटर में रखा है। वहीं गौचर में लगाए गए बैरियर, फैसिलिटी क्वारंटीन और रिलीफ सेंटर का जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया और पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने औचक निरीक्षण लिया। डीएम ने बैरियर पर तैनात सुरक्षा कार्मिकों को जिले में आने वाले लोगों को फैसिलिटी क्वारंटीन में रखने के निर्देश दिए। कहा कि अगर कोई गंभीर हृदय रोग से ग्रसित है तो उसको मेडिकल टीम की निगरानी में होम क्वारंटीन किया जाए।
होम क्वारंटीन में रखे लोगों की जांच की
देवाल। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम होम क्वारंटीन में रखे गए लोगों की लगातार जांच कर रही है। स्वास्थ्य विभाग ने देवाल क्षेत्र में घर-घर जाकर 200 लोगों के स्वास्थ्य की जांच की। पीएचसी देवाल के प्रभारी डॉ. मनोज कुमार ने बताया कि होम क्वारंटीन में रह रहे सभी लोग स्वस्थ हैं। डा. अनिल अग्रवाल व डा. निर्मल पाल के नेतृत्व में दो टीमें बनाई गई हैं, जो प्रत्येक गांव में पहुंचकर बाहर से आने वाले लोगों की सूची तैयार कर उनका स्वास्थ्य जांच रही है।
कोरोना जैसे लक्षण मिलने पर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती
गोपेश्वर। पुलिस लाइन में एक व्यक्ति में कोरोना जैसे लक्षण मिलने पर उसे जिला अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया। स्वास्थ्य विभाग ने उसका सैंपल जांच के लिए एम्स ऋषिकेश भेज दिया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. केके सिंह ने बताया कि भर्ती मरीज को खांसी, जुकाम की शिकायत थी और कुछ दिन पूर्व देहरादून से चमोली पहुंचा था। उसे आइसोलेशन सेंटर में भर्ती किया गया है।
... और पढ़ें

बैंक खाते कराएं अपडेट, तभी मिलेगी योजना की धनराशि

नंदा गौरा कन्याधन योजना के तहत 34 लाभार्थियों के बैंक खाते अपडेट न होने के कारण जिले का बाल विकास विभाग उन्हें वर्ष 2019-20 के नंदा गौरा कन्याधन योजना का लाभ नहीं दे पा रहा है।
चमोली जिले में इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाली 450 छात्राओं को नंदा गौरा कन्याधन योजना का लाभ दिया जाना है। इसके तहत प्रत्येक छात्रा को 51 हजार रुपये की धनराशि दी जानी है। प्रथम चरण में 151 छात्राओं को इसका लाभ दिया जा रहा है, लेकिन कई छात्राओं के बैंक खाते या तो निष्क्रिय पड़े हैं या ये जनधन के खाते हैं, जिससे उनमें धनराशि हस्तांतरित नहीं हो पा रही है। जिला बाल विकास अधिकारी ने छात्राओं से शीघ्र अपने बैंक खातों को अपडेट करने के लिए कहा ताकि योजना की धनराशि उनके खाते में आ सके। ब्यूरो
... और पढ़ें

कोरोना का डर : स्वयं ही दूरी बना रहे हैं लोग

कोरोना महामारी की भयावहता और इससे बचने के लिए लॉकडाउन एवं सामाजिक दूरी के नियम को लोग समझ रहे हैं। शहरी क्षेत्रों में जहां दोपहर एक बजते ही सन्नाटा पसर रहा है, वहीं ग्रामीण इलाकों में खेतीबाड़ी में लगे ग्रामीण भी स्वयं सामाजिक दूरी के नियम का पालन करते नजर आ रहे हैं।
देवराना घाटी फल एवं सब्जी उत्पादक एसोसिएशन के अध्यक्ष जयेंद्र राणा ने बताया कि कोरोना के भय ने लोगों को जागरूक करने का कार्य किया है। यमुनोत्री धाम वाली गीठ पट्टी के गांवों में बाहरी क्षेत्रों से लोगों की आवाजाही रोकने के लिए ग्रामीणों ने स्वयं मोर्चा संभाला है। क्षेत्र के लोकेश चौहान, प्रवीण सिंह, विजय सिंह आदि का कहना है कि बाहरी क्षेत्रों से लोगों के आने से संक्रमण का खतरा है।
कर्णप्रयाग/आदिबदरी/थराली/देवाल। लॉकडाउन के दौरान कर्णप्रयाग, आदिबदरी, थराली, गौचर, गैरसैंण, नारायणबगड़, देवाल, लंगासू, नौटी, नंदासैंण सहित पूरे क्षेत्र में दोपहर एक बजे के बाद बाजार बंद रहे। सुबह खरीदारी के लिए लोग आ रहे हैं और सामान लेते हुए सामाजिक दूरी का पालन भी कर रहे हैं। इस दौरान सड़कों पर आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य वाहन नहीं चले। तहसीलदार सोहन सिंह रांगड़ और पुलिस जवानों ने लोगों से सामान खरीदते समय सोशल डिस्टेंस का पालन करने को कहा। एसडीएम वैभव गुप्ता और थानाध्यक्ष गिरीश चंद्र शर्मा ने लोगों से लॉकडाउन का पालन करने की अपील की।
देवाल में दोपहर तक लोगों ने जरूरी सामान की खरीदारी की और फिर घरों में रहे। थानाध्यक्ष सुभाष जखमोला व देवाल के चौकी प्रभारी जगमोहन पडियार ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई तो कानूनी कार्रवाई की जाएगा।
... और पढ़ें

समय से नहीं मिली एयर एंबुलेंस की अनुमति, मौत

घास लेने जंगल गई महिला के सिर पर पत्थर लगने से वह गंभीर रूप से घायल होकर खाई में जा गिरी। उसे अस्पताल से हायर सेंटर रेफर किया गया लेकिन समय से एयर एंबुलेंस की अनुमति न मिलने के कारण उसे वाहन से श्रीनगर ले जाया गया लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।
मैठाणा गांव के ग्राम प्रधान शिव प्रसाद डिमरी की पत्नी मधु डिमरी (40) अन्य महिलाओं के साथ जंगल घास लेने गई थी। घास काटते समय अचानक चट्टान से छिटका पत्थर उसके सिर पर जा गिरा, जिससे वह अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी। महिलाओं ने घटना की सूचना ग्रामीणों को दी और घायल को जिला अस्पताल लगाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उसे हायर सेंटर श्रीनगर रेफर कर दिया। परिजनों ने प्रशासन व विधायक महेंद्र भट्ट से एयर एंबुलेंस की मांग भी की, लेकिन तत्काल अनुमति नहीं मिल पाई। महिला को 108 सेवा से श्रीनगर ले जाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में कर्णप्रयाग में ही उसकी मौत हो गई। जिला अस्पताल के सीएमएस डा. जेएस चुफाल ने बताया कि महिला के सिर में काफी चोट आई थीं।
... और पढ़ें

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने से परेशानी

राशन लेने आ रहे लोगों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने से डीलरों को राशन वितरण में परेशानी उठानी पड़ रही है। डीलरों को सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार लोगों के लाइन में खड़ा करने में मशक्कत करने के साथ-साथ नियमों का उल्लंघन होने पर प्रशासनिक कार्रवाई की चिंता भी सता रही है। गौचर में राशन वितरण के दौरान अव्यवस्था को रोकने के लिए पुलिस ड्यूटी लगाई गई, लेकिन इसके बावजूद ज्यादातर लोग नियमानुसार लाइन में नहीं लगे। ऐसे में अव्यवस्था फैलने के डर से डीलरों को समय से पहले दुकान बंद करनी पड़ी। रानीगढ़ उपभोक्ता सहकारी समिति के सचिव रवींद्र कंडारी ने कहा कि राशन लेने के लिए अधिकांश महिलाएं पहुंच रही हैं और पुलिस ड्यूटी के बावजूद लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं। इस कारण भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us