विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Lockdown In Uttarakhand Live Updates : लॉकडाउन के दौरान एंबुलेंस में स्मैक की तस्करी करते चार युवक गिरफ्तार

कोरोना वायरस को लेकर उत्तराखंड में लॉकडाउन आज भी जारी है। सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर पुलिस चप्पे-चप्पे पर तैनात है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चम्पावत

रविवार, 29 मार्च 2020

लॉकडाउन से छाया सन्नाटा, सोशल डिस्टेंसिंग को दुकानों के आगे बनाए सर्किल

चंपावत/लोहाघाट। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को जारी लॉकडान बृहस्पतिवार को बेहद कामयाब रहा। चंपावत, लोहाघाट, बाराकोट, पाटी सहित अधिकांश जगहों में लोगों ने लॉकडाउन का पालन किया। लोगों ने पैदल बाजार आकर खरीदारी की। तीन घंटे तक खुले रहने वाले बैंकों में भी लोगों की आमद एकदम घट गई है। अलबत्ता ज्यादातर एटीएम में नकदी नहीं है। लॉकडाउन के चलते दिनभर नगरों में सन्नटा पसरा रहा। जरूरी सेवा वाले वाहन ही सड़क पर नजर आए।
सुबह 7 बजे से 10 बजे तक खुली दुकानों में भीड़ रही। डीएम की अपील पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए नगर के व्यापारियों ने अपने ग्राहकों के खड़े होने को एक मीटर के फासले पर सर्किल बनाए। ग्राहक इन सर्किलों में खड़े होकर ग्राहक फल-सब्जी, राशन, दवा आदि खरीद रहे हैं। लॉकडाउन के दौरान चंपावत में नगर पालिका के अलावा अग्निशमन की टीम के बालमुकुंद राणा, दया विश्वकर्मा, राजेश झिंगुड़ी, दीपांशु, सुनील जोशी आदि ने नगर भर के अस्पताल, कार्यालय और राष्ट्रीय राजमार्ग से लगे हिस्सों को सेनेटाइज किया। इसी तरह रीठा साहिब क्षेत्र में भी पेयजल स्रोत सहित तमाम जगहों को सेनेटाइज किया गया।
तल्लादेश में लॉकडाउन उल्लंघन में जीप सीज
चंपावत। नेपाल सीमा से लगे तल्लादेश क्षेत्र के मंच में पुलिस ने एक जीप को लॉकडाउन के उल्लंघन में सीज कर दिया है। तामली के थाना प्रभारी दिवान सिंह ग्वाल ने बताया कि जीप (संख्या यूके 03 टीए/1087) को लॉकडाउन के उल्लंघन और ओवरलोड में सीज किया गया है।
... और पढ़ें

14 दिन के होम क्वारंटीन में रहेंगे बाहर से आए 1472 लोग, भेजा नोटिस

चंपावत। दूसरे प्रदेशों से आए जिले के 1472 लोगों को हर हाल में 14 दिन तक के लिए होम क्वारंटीन में रहना होगा। डीएम सुरेंद्र नारायण पांडेय ने बताया कि इन सभी लोगों को संबंधित तहसीलों के एसडीएम के जरिए नोटिस भेज दिए गए हैं। होम क्वारंटीन के कारगर अनुपालन के लिए ग्रामीण स्तर पर टीमें लगाई गई हैं। इसके बावजूद भी क्वारंटीन की अनदेखी होने पर आईपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।
वहीं थाइलैंड से चार मार्च को बनबसा के गांव आए एक व्यक्ति को घर से बाहर न निकलने की नसीहत दी गई है। ग्राम प्रधान ने उस इस व्यक्ति के घूमने-फिरने की शिकायत राजस्व उपनिरीक्षक से की थी। इसलिए बृहस्पतिवार को टनकपुर से गांव पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच की तो वह व्यक्ति स्वस्थ पाया गया। सीएमओ डॉ. आरपी खंडूरी ने बताया कि 19 मार्च को की गई जांच में भी वह ठीक पाया गया था।
... और पढ़ें

25 सालों में नवरात्र में पहली बार टूटा मौन व्रत का सिलसिला

चंपावत। कोरोना वायरस के खौफ के कारण जहां लोगों को अपने शादी-विवाह जैसे समारोहों को स्थगित करना पड़ रहा है। वहीं खौफ के चलते नवरात्र पर्व में बीते 25 सालों से आयोजित किए जाने वाले मौनव्रत का सिलसिला भी टूट गया है।
जिला मुख्यालय के मल्ली मादली निवासी सपा जिलाध्यक्ष और टैक्सी यूनियन संचालक ललित मोहन भट्ट उर्फ मनोज भट्ट की ओर से पिछले 25 सालों से चैत्र और शारदीय नवरात्र में नौ दिनों तक मौनव्रत रखने का सिलसिला चलाया जा रहा था। वह नवरात्र के नौ दिन पूरे होने पर कन्या पूजन करने के साथ ही अपना मौनव्रत तोड़ते थे।
इस दौरान वह अपनी बात लोगों को डायरी में लिखकर बताते थे। लेकिन इस बार कोरोना वायरस के भय से लागू लॉकडाउन के कारण मंदिरों के कपाट बंद होने व कन्या पूजन नहीं होने से उन्होंने नवरात्र में मौनव्रत रखने का सिलसिला तोड़ दिया है।
उन्होंने बताया कि वह नवरात्र के नौ दिनों तक सामान्य उपवास रखते हुए देश और प्रदेश को कोरोना के प्रकोप से मुक्त रखने के लिए घर में बैठकर प्रार्थना करेंगे। कोरोना वायरस का संक्रमण खत्म होने के बाद अगले नवरात्र में वह फिर से नौ दिनों तक मौनव्रत धारण करेंगे।
... और पढ़ें

सस्ता गल्ला दुकानों में राशन का वितरण शुरू

टनकपुर (चंपावत)। टनकपुर क्षेत्र की सस्ता गल्ला दुकानों में खाद्यान्न का वितरण शुरू हो गया है। शनिवार को राश्0ान लेने पहुुंचे उपभोक्ताओं को दुकानों से राशन बांटा गया। पूर्ति विभाग ने कार्ड विहीन लोगों को भी मुफ्त में राशन का वितरण शुरू कर दिया है। पूर्ति निरीक्षक भरत सिंह राणा ने बताया कि सस्ता गल्ला की दुकानों में कार्ड धारकों को अप्रैल माह का खाद्यान्न बांटा जा रहा है। बनबसा और टनकपुर में 50-50 कार्ड विहीन परिवारों और शारदा खनन क्षेत्र के 450 श्रमिकों को मुफ्त में खाद्यान्न के पैकेट बांटे गए। संवाद
टनकपुर में खाद्य सामग्री के भी रेट तय
टनकपुर (चंपावत)। लॉकडाउन के दौरान खाद्य सामग्री की ओवररेटिंग पर अंकुश लगाने को प्रशासन ने टनकपुर और बनबसा में खाद्य सामग्रियों के रेट तय कर दिए हैं। एसडीएम दयानंद सरस्वती ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर खाद्य सामग्री के रेट तय किए गए हैं। यहां सब्जियों रेट लिस्ट शनिवार को चस्पा की जा रही है। संवाद
मजदूरों के भरण पोषण की मांग
बनबसा (चंपावत)। नगर पंचायत अध्यक्ष रेनू अग्रवाल ने जिलाधिकारी एसएन पांडेय को ज्ञापन भेज मजदूर वर्ग के भोजन की व्यवस्था करने की मांग की है। ज्ञापन में लिखा गया है कि नगर पंचायत के सात वार्डों में निवास करने वाले में अधिकांश मजदूर रोज कमाकर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। कोरोना वायरस के खतरों से सुरक्षा के तहत किए गए लॉकडाउन से उनके परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच चुके हैं। इधर भजनपुर ग्रामसभा के उपप्रधान भूपेंद्र चंद ने भी सरकार से गांव में निवास करने वाले बेरोजगार असंगठित मजदूरों के भरण पोषण को सरकार से व्यवस्था करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बताया कि लॉकडाउन के चलते भुखमरी के कगार पर पहुंचे मजदूरों की सूची तैयार कर शासन को भेजी जाएगी। संवाद
... और पढ़ें
टनकपुर में एक सस्ता गल्ले की दुकान के बाहर राशन लेने को आपस में एक मी. की दूरी बनाकर लाइन में खड़े उ? टनकपुर में एक सस्ता गल्ले की दुकान के बाहर राशन लेने को आपस में एक मी. की दूरी बनाकर लाइन में खड़े उ?

टनकपुर में क्वारंटीन किए संदिग्ध मरीज की जांच रिपोर्ट आई निगेटिव

टनकपुर (चंपावत)। दिल्ली से रोडवेज की दो बसों से लाए गए यात्रियों के साथ आए एक संदिग्ध मरीज की कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटेव आई है। इसके बाद प्रशासन ने शहर के विभिन्न होटलों में क्वारंटीन किए गए सभी लोगोें को घर में ही क्वारंटीन रहने की हिदायत देकर शनिवार को उन्हें घर भेज दिया है।
दिल्ली में फंसे यात्रियों को 24 मार्च को दो रोडवेज बसों से टनकपुर लाया गया था। बस में सवार एक यात्री को रुद्रपुर में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा संदिग्ध बताए जाने पर स्थानीय प्रशासन ने दोनों बसों में सवार सभी 72 यात्रियों को होटलों और टीआरसी में 14 दिनों के लिए क्वारंटीन कर दिया। संदिग्ध व्यक्ति की वीटीएम किट तैयार कर कोरोना जांच के लिए भेजी गई थी। एसीएमओ डॉ. एसएच ह्यांकी ने बताया कि संदिग्ध मरीज की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। क्वारंटीन किए गए किसी भी व्यक्ति में कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं है। एसडीएम दयानंद सरस्वती के आदेश के बाद सभी यात्रियों को 14 दिन तक घर में क्वारंटीन रहने की हिदायत देकर रोडवेज बसों से घर भेज दिया गया है। इधर एसडीएम दयानंद सरस्वती ने नगर पालिका के ईओ को उन सभी होटलों और टीआरसी को सैनिटाइज करने के आदेश जिनमें लोगों को क्वारंटीन किया गया था।
... और पढ़ें

घाट में फंसे 500 से ज्यादा मजदूरों को भोजन कराया

लोहाघाट (चंपावत)। जिले की सीमा लॉक होने से पिथौरागढ़ से चंपावत की ओर आ रहे पांच सौ से दिहाड़ी मजदूर घाट में फंस गए। घाट में मजदूरों के फंसे होने की सूचना मिलने पर व्यापार मंडल अध्यक्ष भैरव राय के नेतृत्व में सतीश मुरारी, मनोज गर्ग, दीपक ढेक, हितेश मुरारी, क्षतिज जुकरिया, अर्जुन ढेक, भुवन गड़कोटी ने उनके लिए घाट में ही भोजन भिजवाया। व्यापार मंडल ने नगर में भी पिथौरागढ़ को आने वाले और नगर क्षेत्र के मजदूरों व असहाय लोगों को भोजन कराया। एसओ मनीष खत्री ने बताया कि लॉकडाउन के तहत जिले की सीमा को सील कर दिया है। जरूरी सेवा में लगे वाहनों को छोड़कर किसी को सीमा में प्रवेश नहीं होने दिया जा रहा है। संवाद ... और पढ़ें

चंपावत में परफेक्ट लॉकडाउन: वाहन नदारद, बाजार में भीड़ भी हुई कम

चंपावत/लोहाघाट/टनकपुर। कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन को चंपावत जिले में अब लोग हाथों हाथ ले रहे हैं। शनिवार को सुबह सात से दोपहर एक बजे तक जरूरी सेवा वाली दुकानें खुले रहने से भीड़भाड़ काफी कम रही। चौपहिया वाहन नदारद रहे। लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया। रसोई गैस सिलिंडर लेने गए लोगों से लेकर समितियों में दूध बेंचने वाले ग्रामीणों ने तक सोशल डिस्टेंसिंग को माना।
डीएम सुरेंद्र नारायण पांडेय व एसपी लोकेश्वर सिंह ने बताया कि चंपावत जिले में सब्जियों की अधिकांश दुकानों में मूल्य सूची चस्पा होने से लोगों को वाजिब दामों पर सब्जियां मिल रही हैं। प्रशासन ने मजदूरों को खाद्य सामग्री वितरित कराई। लोहाघाट में एसडीएम आरसी गौतम ने कहा कि बाजार में सब्जी, खाद्य पदार्थों सहित सभी जरूरी वस्तुएं पर्याप्त मात्रा में हैं। टनकपुर में भी शनिवार को सुबह सात से दोपहर एक बजे तक लॉकडाउन में छूट रही। बाजार में जरूरी सामान खरीदने के लिए अब लोगों में भीड़ नजर नहीं आ रही है। लोग एक मीटर की दूरी बनाए रखकर खरीददारी करने लगे हैं।
लोहाघाट में झुंड बना निकल रहे मजदूर
लोहाघाट (चंपावत)। लोहाघाट में सुबह के समय निकल रहे मजदूर व नेपाली लोग सोशल डिस्टेंडिंग का ठीक से पालन नहीं कर रहे हैं। वह झुंड बनाकर एक स्थान में एकत्र हो रहे हैं। व्यापारियों ने ऐसे लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग की जानकारी देने के साथ उन्हें बिना कारण बाजार न आने देने की मांग की है। संवाद
जरूरतमंदों को दो साल का वेतन देंगे विधायक फर्त्याल
लोहाघाट (चंपावत)। कोरोना वायरस के बचाव के लिए जारी लॉकडाउन होने वाले नुकसान से लोगों को राहत देने के लिए लोहाघाट के विधायक पूरन सिंह फर्त्याल ने दो साल का वेतन देने का एलान किया है। कहा कि दो साल के वेतन के रूप में मिलने वाले करीब 10 लाख रुपये की रकम से लोहाघाट विधानसभा क्षेत्र के जरूरतमंद लोगों को राशन किट दिए जाएंगे। संवाद
मथुरा में फंसी हैं दवा लेने गईं मल्ली मादली निवासी हेमा
चंपावत। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर जारी लॉकडाउन में मल्ली मादली निवासी हेमा पाठक वर्तमान में उत्तर प्रदेश के मथुरा में फंसी हुई हैं। महिला अपने पैर के टखने के आपरेशन के बाद दवाएं लेने के लिए 19 मार्च को मथुरा गईं थी। लेकिन उसके लौटने से पहले ही लॉकडाउन होने के कारण महिला वहीं फंसी रह गईं। हेमा पाठक पत्नी अजय पाठक वर्तमान में गोपश्वर वृंदावन बर्फ फैक्ट्री सुदामा कुटी मथुरा में फंसी है। जहां उनका कोई परिचित और रिश्तेदार नहीं है। उसके दो छोटे बच्चे और अपंग पति चंपावत में उसका इंतजार कर रहे हैं। विधायक प्रतिनिधि दीपक मुरारी ने बताया कि सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी मिलने पर विधायक कैलाश गहतोड़ी ने हेमा को सकुशल वापस लाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। संवाद
... और पढ़ें

पिथौरागढ़ से 175 किमी. पैदल चलकर चौथे दिन टनकपुर पहुंचे बहराइच के मजदूर

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते चंपावत जिले में सुयालखर्क की दुग्ध समिति में दूध बेंचने आए ग्रामी?
टनकपुर (चंपावत)। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए घोषित लॉकडाउन के चलते दूर दराज से आए मजदूर अपने घर लौटने के लिए कई किलोमीटर की पैदल यात्रा तय करने मजबूर हैं। बहराइच निवासी कई मजदूर अपने परिवार के साथ पिथौरागढ़ से 175 किमी की पैदल यात्रा कर शुक्रवार को जैसे-तैसे टनकपुर पहुंचे। लेकिन यहां से आगे की यात्रा के लिए भी कोई वाहन नहीं मिलने से वह पैदल बहराइच के लिए रवाना होने को मजबूर हुए।
मजदूर जय सिंह ने बताया कि वह भोजन की व्यवस्था तो साथ लेकर चल रहे हैं, लेकिन छोटे-छोटे बच्चों को साथ लेकर महिलाओं का पैदल चलना मुश्किल हो रहा है। उसने बताया कि वे 25 मार्च की सुबह पिथौरागढ़ से पैदल रवाना हुए थे और चौथे दिन टनकपुर पहुंचे हैं। उन्हें उम्मीद थी कि पहाड़ से उतरकर मैदान में पहुंचने पर उन्हें टनकपुर से आगे की यात्रा के लिए कुछ न कुछ साधन जरूर मिल जाएगा, लेकिन यहां से भी कोई साधन नहीं मिलने पर उन्हें आगे का सफर भी पैदल ही तय करना पड़ रहा है। ब्यूरो
... और पढ़ें

उम्दा पहल: पैदल घर जा रहे श्रमिकों को व्यापारियों ने खिलाया खाना

लोहाघाट (चंपावत)। लॉकडाउन के चलतेे नगर और पिथौरागढ़ की ओर से पैदल आ रहे मजदूरों को नगर व्यापार मंडल और लोगों के सहयोग से खाना खिलाया गया। बीएनके अस्पताल के संस्थापक लक्ष्मण लाल वर्मा, उत्तराखंड जल संस्थान डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ के प्रदेश अध्यक्ष प्रशांत वर्मा द्वारा डाक बंगला रोड में असहायों और मजदूरों के लिए खोले गए लंगर में दोपहर एक बजे से रात आठ बजे तक लगातार लोगों को भोजन कराया जा रहा है।
इधर नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट जिलाध्यक्ष जगदीश राय व गिरीश बिष्ट ने संगठन की ओर से पिथौरागढ़ से आए मजदूरों के लिए चाय व बिस्कुट आदि की व्यवस्था की। डिग्री कॉलेज की डॉ. सुमन पांडेय ने 50 किलो आटा व 50 किलो चावल, दाल चावल आदि खाद्य सामग्री मजदूरों की सहायता के लिए दी। इस मौके पर नगर पंचायत अध्यक्ष गोविंद वर्मा, व्यापार मंडल अध्यक्ष भैरव राय, कोषाध्यक्ष सतीश मुरारी, हितेश मुरारी, श्याम ढेक, चंपावत विधायक प्रतिनिधि दीपक मुरारी, लीलाधर बिष्ट, क्षितिज जुकरिया, बसंत मुरारी, पंकज ढेक, ब्रजेश माहरा, आलम बिष्ट आदि रहे।
दोनों विधायकों ने दिए 55 लाख रुपये
चंपावत। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए संसाधनों की कमी न हो, इसके लिए जिले के दोनों विधायकों ने विधायक निधि से 55 लाख रुपये दिए हैं। इस रकम से चार वेंटिलेटर व अन्य जरूरी उपकरण खरीदे जाएंगे। चंपावत के विधायक कैलाश गहतोड़ी ने 40 लाख व लोहाघाट के विधायक पूरन सिंह फर्त्याल ने 15 लाख रुपये की रकम दी है। दोनों विधायकों ने कहा कि कोरोना के खतरों से निपटने के लिए दवा या अन्य संसाधनों को जुटाने के लिए धन की कमी नहीं होने दी जाएगी। संवाद
नीलम ने कोरोना राहत के लिए 11 हजार दिए
चंपावत। होटल गणपति पैलेस के स्वामी नीलम गड़कोटी ने कोरोना वायरस के खतरों से निपटने के लिए 11 हजार रुपये की सहायता जिला प्रशासन को दी है। उन्होंने इस आपदा में अपने होटल को कोरोना क्वारंटीन केंद्र व वाहन को स्वास्थ्य विभाग के उपयोग के लिए दिया है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में चंपावत जिला पास

चंपावत/लोहाघाट/टनकपुर/बनबसा । कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को जारी लॉकडान चंपावत जिले में अब पूरी तरह कामयाब हो रहा है। शुक्रवार को लोगों ने इस लॉकडाउन का पूरी तरह पालन किया। चौपहिया वाहन नदारद रहे, तो अधिकांश बाइकों में भी एक ही सवारी थी।
दुकानों में खाद्यान्न, सब्जी, दूध, पेट्रोल-डीजल आदि की पर्याप्त उपलब्धता थी। अलबत्ता जरूरी सामान की दुकान खुलने की समय सीमा 10 बजे से बढ़ाकर एक बजे तक करने से ज्यादातर दुकानों में लोगों की भीड़ भी खासी कम रही। दुकानों में सुबह से न तो कोई अफरातरफरी थी और नहीं ज्यादा भीड़। दुकान खुलने के वक्त में इजाफे से लोगों में तसल्ली थी। दोपहर 12 बजे के बाद तो अधिकांश दुकानों में इक्का दुक्का लोग भी नहीं थे।
टनकपुर में लॉकडाउन में शुक्रवार को दी गई छह घंटे की छूट से दुकानों में भीड़ कम रही। कुछ दवा की दुकानों में लोगों की भीड़ लगी रही। इससे नाराज सीओ विपिन चंद्र ने दवा विक्रेताओं को सोशल डिस्टेंस बनाए रखने को कहा। ऐसा न होने पर केस दर्ज करने की भी चेतावनी दी। बनबसा में बाजार में अन्य दिनों की अपेक्षा कम ही भीड़ रही। एक बजे बाद पूरा क्षेत्र लॉकडाउन रहा। संवाद
लोहाघाट में रेट लिस्ट चस्पा की तो टनकपुर में रेट तय किए
लोहाघाट /टनकपुर (चंपावत)। प्रशासन के कड़े रूख के बाद अधिकांश सब्जी व्यापारियों ने दुकानों में रेट लिस्ट चस्पा किए। इसके बावजूद भी अभी नगर में कीमतों में एकरूपता नहीं है। लोगों ने सब्जियों के एक समान कीमत तय करने की मांग की है। व्यापार मंडल अध्यक्ष भैरव दत्त राय, कोषाध्यक्ष सतीश मुरारी और मनोज गर्ग ने व्यापारियों से कीमतों को नियंत्रित करने का आग्रह किया है। वहीं एसडीएम आरसी गौतम ने सब्जियों की कीमतों में मनमानी वृद्धि नहीं करने के निर्देश दिए हैं।
लॉकडाउन के चलते बाराकोट में सब्जियों की कीमतों में उछाल आ गया है। यहां में सेव 150, अनार 150, प्याज 70, टमाटर 60, फूल गोभी 60 रुपये किलो बिक रही है। टनकपुर में लॉकडाउन के दौरान सब्जी के दामों पर मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासन ने शुक्रवार को सब्जियों के रेट तय कर दिए हैं। एसडीएम दयानंद सरस्वती ने कहा है कि तय रेटों से अधिक कीमत में सब्जी बेचने वालों के खिलाफ कालाबाजारी रोकथाम अधिनियम 1980 के तहत कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

नगर के विभिन्न वार्डों को किया गया सैनिटाइज

चंपावत। नगरपालिका की ओर से विभिन्न वार्डों में सैनिटाइज का कार्य किया गया। शुक्रवार को पालिकाध्यक्ष विजय वर्मा के नेतृत्व में फायर बिग्रेड के वाहन के माध्यम से कोतवाली से पूल्ड आवास तक, मल्लीहाट से तल्लीहाट, जीआईसी लाईन से कनलगांव तक और मुख्य बाजार से गोरलचौड़ मार्ग में नालियों के ऊपर कीटनाशकों का छिड़काव किया। नगर पालिका और अग्रिशमन विभाग ने मार्गों से लेकर कार्यालयों व महत्वपूर्ण स्थानों को सैनिटाइज किया।
इस मौके पर सभासद रोहित बिष्ट, अधिशासी अधिकारी अभिनव कुमार, प्रदीप भट्ट, गोपाल नाथ, मोहन बंग्याल, संजय जोशी सहित पालिका के पर्यावरण मित्र आदि मौजूद रहे। इधर पाटी ब्लॉक के ग्राम पंचायत खरही में ग्राम प्रधान सुनीता बोहरा की ओर से क्षेत्र के ईजर, नाखुड़ा, द्यारचौड़ा, मल्ली खरही, तल्ली खरही, क्वैराली, बैजगांव, राजकोट आदि गांवों में दवा का छिड़काव कर डिटोल के साबुन बांटे। यहां सूरज सिंह बोहरा, सरपंच चंद्र सिंह रावत व बीडीसी सदस्य अशोक भट्ट आदि शामिल थे। संवाद
दवाओं का छिड़काव करने की मांग
बनबसा (चंपावत)। बमनपुरी की ग्रामप्रधान भावना नेगी ने एडीएम को ज्ञापन भेजकर गांव में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सोडियम हाइपो क्लोराइड साल्यूशन का छिड़काव करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि गांव से सटे बनबसा नगर पंचायत क्षेत्र में लगातार दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है। ग्रामीण लगातार गांव में छिड़काव कराए जाने की मांग कर रहे हैं। संवाद
चंपावत मुख्य बाजार में सेनेलाइज का कार्य करते पालिका और पुलिसकर्मी।
चंपावत मुख्य बाजार में सेनेलाइज का कार्य करते पालिका और पुलिसकर्मी।- फोटो : CHAMPAWAT
... और पढ़ें

गोवा, केरल, दिल्ली से आए पहाड़ के19 लोगों को क्वारंटीन किया

चंपावत। कोरोना वायरस के खतरों के बीच चंपावत में पहला क्वारंटीन हुआ है। इन 19 यात्रियों को संस्थागत क्वारंटीन किया गया है। सीएमओ डॉ. आरपी खंडूरी ने बताया कि परीक्षण में स्वस्थ पाए जाने के बावजूद एहतियातन इन यात्रियों को चंपावत के अलग-अलग होटलों में रखा गया है।
दिल्ली में फंसे रोडवेज की बस के जरिये पहाड़ के इन यात्रियों को शुक्रवार दोपहर यहां लाया गया। जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्साधीक्षक आरके जोशी ने बताया कि स्क्रीनिंग में सभी यात्रियों का तापक्रम सामान्य था। लेकिन एहतियातन इन सभी 19 यात्रियों को चंपावत के होटलों में 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया गया है। इसके अलावा पिथौरागढ़ जिले के रहने वाले 5 अन्य लोगों को पिथौरागढ़ के लिए भेज दिया गया है। इन लोगों को पिथौरागढ़ में क्वारंटीन किया जाएगा।
20 मार्च से माता-पिता से दूर हैं नाबालिग बच्चे
चंपावत। रुद्रपुर में सिडकुल में ड्राइविंग करने वाले लोहाघाट क्षेत्र के किशोर ओली के तीन बच्चे अपने माता-पिता से दूर हैं। परिवार में बुजुर्ग की मौत होने पर किशोर अपनी पत्नी के साथ 20 मार्च को लोहाघाट के सुई गांव में आ गए। बच्ची की हाईस्कूल बोर्ड की परीक्षा थी, इसके चलते तीनों नाबालिग बच्चे अंकित, सपना व पूजा रुद्रपुर में ही रुक गए। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू और उसके बाद से लगातार लॉकडाउन से बच्चे रुद्रपुर में कमरों में कैद हैं।
उनके पड़ोसी भी अपने-अपने घर जा चुके हैं। पूरी तरह अकेले रह जाने से माता-पिता को बच्चों की चिंता सता रही है। वहीं हरियाणा के पानीपत में कैलाश सिंह, सूरज सिंह, राकेश सिंह, लक्ष्मण सिंह, वीरेंद्र सिंह, कमल सिंह, यशपाल सिंह, प्रकाश सिंह सहित पहाड़ के कई नौजवान फंसे हुए हैं। इन युवकों का कहना है कि उन्हें रोडवेज बसों के जरिये उनके घर पहुंचाया जाए।
... और पढ़ें

Lockdown Uttarakhand: चंपावत के 13 लोग दिल्ली में और बेरीनाग में फंसा प. बंगाल के सैलानियों का दल

दिल्ली में होटलों में काम करने वाले चंपावत में बनबसा के मझगांव देवीपुरा के करीब 13 लोग पिछले चार दिन से दिल्ली में फंसे हैं। इनके सम्मुख खाने पीने की समस्या पैदा हो गई है। किराए पर रहने वाले इन लोगों को मकान मालिक ने मकान खाली करने को कह दिया है।

इन लोगों में दीपक कुमार, हिमांशु कुमार, हरीश राम, अमर राम, केशव राम, कमल टम्टा, संजय कुमार दिल्ली के महिपालपुर और अर्जुन कुमार, कविता देवी, साक्षी, यश कुमार, पुष्कर कुमार, भुवन कुमार करोलबाग में फंसे हैं। दीपक कुमार ने दूरभाष पर अमर उजाला को बताया कि उनके सम्मुख खाने पीने की समस्या पैदा हो गई है। सभी के मकान मालिक भी उन्हें मकान खाली करने को कह रहे हैं।

बताया कि लॉकडाउन के तहत होटलों के बंद होने से उनके सामने रहने और खाने की समस्या पैदा हो गई है। उन्होंने उत्तराखंड सरकार से उन्हें घरों तक पहुंचाने की गुहार लगाई है। इधर मझगांव देवीपुरा की पूर्व प्रधान माला देवी, सामाजिक कार्यकर्ता अशोक कुमार, ग्रामीण श्याम लाल, मोहन लाल एवं मीना देवी ने जिला प्रशासन से उक्त लोगों को घरों तक लाने की व्यवस्था करने की मांग उठाई है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us