विज्ञापन

कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर रिहा होंगे सात कैदी

Amarujala Local Bureauअमर उजाला लोकल ब्यूरो Updated Mon, 30 Mar 2020 01:13 PM IST
विज्ञापन
लोहाघाट में विचाराधीन कैदी का तापमान नापते डाँक्टर एलएम रखोलिया।
लोहाघाट में विचाराधीन कैदी का तापमान नापते डाँक्टर एलएम रखोलिया। - फोटो : AMAR UJALA
ख़बर सुनें
लोहाघाट (चंपावत)। कोरोना वायरस के खतरों को देखते हुए अदालत के आदेश के बाद विचाराधीन कैदियों को अंतरिम जमानत पर छोडऩे की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके चलते लोहाघाट न्यायिक बंदीगृह के सात विचाराधीन कैदियों को अंतरिम जमानत पर छोड़ने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। न्यायिक बंदीगृह प्रभारी राजस्व उप निरीक्षक सलमान ने बताया कि विभिन्न मामलों में लोहाघाट बंदीगृह में रखे गए सात विचाराधीन कैदियों का सोमवार को स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया है। इन कैदियों को छोड़ने से पूर्व निजी मुचलके भराने के साथ अन्य जरूरी प्रपत्र तैयार कराए जा रहे हैं। न्यायिक बंदीगृह प्रभारी ने बताया कि डीएम के आदेश के बाद इन कैदियों को जमानत पर छह माह के लिए रिहा कर दिया जाएगा। डॉ. एलएम रखोलिया, डॉ. पुष्कर पांगती, वार्डब्वॉय संदीप वर्मा ने सातों विचाराधीन कैदियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। परीक्षण में सभी सातों कैदी स्वस्थ पाए गए। बंदीगृह प्रभारी ने बताया कि ऐसी धाराएं, जिनमें सात साल से कम उम्र की सजा वाली धाराओं के आरोपियों को जमानत पर छोड़ा जा रहा है। इसमें वन्य जीव, बिजली चोरी, झगड़े आदि के मामले मुख्य रूप से शामिल हैं। फिलहाल न्यायिक बंदीगृह में 3 महिलाएं और 41 पुरुष कैदी हैं। 
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us