विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Lockdown In Uttarakhand Live Updates : लॉकडाउन के दौरान एंबुलेंस में स्मैक की तस्करी करते चार युवक गिरफ्तार

कोरोना वायरस को लेकर उत्तराखंड में लॉकडाउन आज भी जारी है। सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर पुलिस चप्पे-चप्पे पर तैनात है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रुद्र प्रयाग

रविवार, 29 मार्च 2020

Coronavirus in Uttarakhand: 18000 से ज्यादा लोग देश-विदेश से लौटे पहाड़, ग्रामीणों में दहशत का माहौल

कोरोना वायरस संक्रमण के इस दौर में प्रवासी पहाड़ सबसे सुरक्षित मान रहे हैं। भारत सहित दुनिया के तमाम देशों में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने पर मार्च के दूसरे पखवाड़े में ही अब तक 18 हजार से अधिक प्रवासी पहाड़ पहुंच चुके हैं। टिहरी जिले के विदेशों में कार्यरत 256 लोग अपने घर लौट आए हैं। इतनी बड़ी संख्या में प्रवासियों के पहाड़ का रुख करने से ग्रामीणों में भय का माहौल बना है। कई हिस्सों में ग्रामीणों ने खुलकर उनकी वापसी का विरोध किया, जबकि कई स्थानों पर ग्रामीणों ने ऐसे लोगों से दूरी बनाते हुए प्रशासन से उनके मेडिकल परीक्षण की मांग उठाई है।

टिहरी जिले में 14 मार्च से अब तक चीन, जापान सहित अन्य देशों में कार्यरत जिले के 256 लोग अपने घर पहुंच चुके हैं, जबकि देश के विभिन्न राज्यों में कार्य करने वाले जिले के 6268 लोग भी अपने गांव पहुंचे हैं। प्रशासन के मुताबिक एयरपोर्ट के अलावा जिले की चेक पोस्टों पर भी ऐसे लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। ग्राम प्रधानों से भी बाहर से आने वाले लोगों की सूची मांगी गई है।

टिहरी के डीएम डॉ वी षणमुगम का कहना है कि विदेशों से लौटे जिले के किसी भी व्यक्ति में कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं पाए गए हैं। बाहर से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग के लिए जिले में अलग-अलग स्थानों पर आठ चेक पोस्ट बनाए गई हैं, जहां स्वास्थ्य विभाग की टीम बाहर से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग कर रही है। पौड़ी जिले में 6897 प्रवासी अपने गांव पहुंचे हैं। इनमें तीन लोग दूसरे देशों से लौट आए हैं।

रुद्रप्रयाग जिले में लगभग 1800 प्रवासी गांव आए हैं। इन लोगों के लिए गांवों में क्वारंटीन केंद्र बनाए गए हैं। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि सभी प्रधानों को अपने-अपनी ग्राम पंचायतों में लौट रहे प्रवासियों की सूचना हर दिन प्रशासन को देने के निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

पंतनगर में मिर्च दो सौ रुपये किलो

पंतनगर। जिला प्रशासन के आदेश के बावजूद विवि परिसर में सुबह छह बजे ही दुकानें खुल गई। सुरक्षा कर्मियों ने दो घंटे की मशक्कत में परिसर की सभी दुकानें बंद करवा दीं। सब्जी में मुनाफाखोरी देख कुछ लोगों ने अपना पुश्तैनी काम छोड़ सब्जी का काम अपना लिया। मस्जिद कॉलोनी के कुछ घरों में सजीं सब्जी की दुकानों से सब्जी बिकने की सूचना पर जुटे परिसर वासियों से सब्जियों के मनमाने दाम वसूले गए। मिर्च के दाम 200 रुपये प्रति किलो और टमाटर 80 रुपये प्रति किलो बिका। आलू 40, प्याज 50, शिमला मिर्च व मटर 80, गोभी, लौकी और बैगन 60 रुपये, भिंडी 100 रुपये किलो बिकी। इसके अलावा केला 70 रुपये दर्जन, अंगूर 100 रुपये, संतरा 80 रुपये और सेब 140 रुपये प्रति किलो बिका। सब्जियों के लगातार दाम बढ़ने से लोग परेशान हैं। संवाद
पंतनगर में जिला प्रशासन के इंतजाम नाकाफी
पंतनगर। सुबह सात से दस बजे के बीच राशन, दूध व सब्जियों की दुकानें खोलने के दौरान सामाजिक दूरी छिन्न-भिन्न होने के चलते जिला प्रशासन ने बृहस्पतिवार से मेडिकल स्टोर के अलावा सभी दुकानें बंद रखने के आदेश दिए थे। जिला प्रशासन ने निर्धारित दरों पर वाहनों से डोर टू डोर राशन, सब्जी व फल उपलब्ध कराने की बात कही थी। बृहस्पतिवार को जिला प्रशासन की ओर से पंतनगर में एक वाहन फलों का ही पहुंचा था। इससे दस प्रतिशत परिसर वासियों की जरूरतों को भी पूरा नहीं किया जा सका जबकि राशन और सब्जियों के वाहन नहीं दिखाई दिए। संवाद
पीएनबी में रुपये निकालने आया उपभोक्ता बेहोश
शांतिपुरी। बृहस्पतिवार को जवाहनगर स्थित पंजाब नेशनल बैंक में रुपये निकालने आया उपभोक्ता अचानक बेहोश हो गया। इससे बैंक कर्मचारियों के हाथ पांव फूल गए। बैंक मैनेजर नरेंद्र सिंह रावत ने सूचना स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी गई। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम बैंक में पहुंची। टीम में शामिल ममता भटनागर ने बेहोश हुए नारायण सिंह की स्वास्थ्य जांच की। इसमें उनका बीपी कम निकला। नारायण ने बताया कि उनका इलाज हल्द्वानी से चल रहा है। वह तिवारीनगर के रहने वाले हैं और रुपये निकालने आए थे।
... और पढ़ें

जिला अस्पताल से रम्पुरा तक नवजात को पैदल ले गई प्रसूता

रम्पुरा निवासी कविता ने बुधवार को जिला अस्पताल में शिशु को जन्म दिया था। बृहस्पतिवार सुबह उसे अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था लेकिन जच्चा-बच्चा को घर तक छोड़ने के लिए अस्पताल प्रबंधन एक बार फिर से एंबुलेंस की व्यवस्था न कर सका। इस कारण प्रसूता महिला अपने मजदूर पति छोटेलाल के साथ नवजात बेटी को पैदल ही घर ले गई।
मालूम हो कि सोमवार को ठाकुर नगर निवासी रजनी और मंगलवार को ट्रांजिट कैंप निवासी सुमित्रा भी एंबुलेंस न मिलने की वजह से अपनी नवजात बच्ची को घर तक पैदल ले गई थीं। इस संबंध में प्रमुख अधीक्षक डॉ. टीडी रखोलिया ने कहा कि जच्चा-बच्चा को 108 एंबुलेंस की मदद से घर तक छोड़ा जा रहा है। इधर, मेयर रामपाल सिंह ने कहा कि बृहस्पतिवार को रुद्रपुर के सभी 40 वार्डों में कीटनाशक का छिड़काय किया गया।
स्वास्थ्य निदेशक ने किया जिला अस्पताल का निरीक्षण
रुद्रपुर। स्वास्थ्य निदेशक कुमाऊं मंडल संजय कुमार साह ने बृहस्पतिवार को जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि ओपीडी की लाइन में खड़े होने वाले मरीज एक-एक मीटर की दूरी पर रहें। वहां पर एसीएमओ डॉ. अविनाश खन्ना, डॉ. अजयवीर सिंह चौहान, डॉ. आरडी भट्ट, डॉ. गगनदीप मिश्रा, रिचा मिश्रा, रंजना वालिया, कुलदीप कौर, भैरव दत्त आदि थे।
मंडी समिति गेट से लोगों के साथ ही विक्रेता भी लौटाए
रुद्रपुर। मंडी समिति बिगवाड़ा में सब्जी लेने को लेकर लग रही भीड़ को देखते हुए बृहस्पतिवार को पुलिस ने सख्त रुख अपनाते हुए सब्जी लेने पहुंचे लोगों को गेट से ही लौटा दिया। पुलिस ने आम लोगों के साथ ही आढ़तियों के कर्मचारी, सब्जी ढोने वाले मजदूरों के साथ ही सब्जी लेने आए नगर निगम के कईं पासधारक विक्रेताओं को भी गेट से अंदर घुसने नहीं दिया। सूचना पर व्यापार मंडल के संयुक्त प्रांतीय मंत्री राजेश बंसल, महानगर अध्यक्ष संजय जुनेजा, महामंत्री हरीश अरोरा के साथ ही कोतवाल केसी भट्ट और मंडी समिति के सचिव कैलाश शर्मा भी पहुंच गए।
आढ़तियों ने नाराजगी जताई कि पुलिस ने विक्रेताओं के साथ ही उनके कर्मचारियों को भी अंदर नहीं घुसने दिया। इससे उनका काम प्रभावित हो गया और सब्जियां मंडी से बाजार नहीं पहुंच सकी। कोतवाल ने कहा कि भीड़ को हटाने की कार्यवाही में कुछ अन्य लोग भी आ गए होंगे। शुक्रवार को नगर निगम और मंडी से जिन विक्रेताओं और उनके कर्मियों को पास जारी होगा, उनको ही मंडी में आने दिया जाएगा। पुलिस की मंशा किसी को परेशान करने नहीं बल्कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने की है।
गरीबों को राशन दे रही जिंदगी जिंदाबाद टीम
रुद्रपुर। जिंदगी जिंदाबाद संगठन के रुद्रपुर अध्यक्ष करमजीत सिंह चानना ने कहा कि रेशमबाड़ी के 32 झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले परिवारों को दो किलो चावल, आधा किलो चीनी और दाल, 200 ग्राम चाय पत्ती, ढाई किलो आटा दिया गया है। रोजाना 200 जरूरतमंद परिवारों को राशन देने का लक्ष्य रखा है। बताया कि उनकी टीम जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट भी दे रही है।
कोरोना का डर नहीं, ट्रंचिंग ग्राउंड में बीन रहे कूड़ा
रुद्रपुर। ट्रंचिंग ग्राउंड में कूड़ा बीनने वालों को लॉकडाउन से कोई फर्क नहीं पड़ रहा है। बृहस्पतिवार को महिलाएं, पुरुष और बच्चे कूड़े के ढेर से प्लास्टिक और अन्य चीज बीनते नजर आए। उन्होंने जवाब दिया कि क्या करें साहब हमारी मजबूरी है। कूड़ा नहीं बीनेंगे तो खाना पीना कैसे खाएंगे। इधर, मेयर रामपाल सिंह ने कहा कि कूड़ा बीनने पर कड़ाई से रोक लगाई जाएगी।
हल्द्वानी से रामपुर तक पैदल तय करेंगे सफर
रुद्रपुर। लॉकडाउन होने के बाद यूपी से मजदूरी करने के लिए आने वाले के समक्ष संकट खड़ा हो गया है। बृहस्पतिवार को हल्द्वानी से सुबह आठ बजे निकलकर रुद्रपुर में दिन के 11.56 बजे पहुंचे कोमिल, वाहिद और राजकुमार ने कहा कि वे हल्द्वानी से पैदल चलकर आ रहे हैं। लॉकडाउन होने के चलते कोई गाड़ी वाला उन्हें लिफ्ट तक नहीं दे रहा है। अभी उन्हें रामपुर के साहबादपुर गांव तक जाना है। अब वे पैदल ही अपने गांव तक जाएंगे।
ग्राम प्रधान महेश पांच माह का वेतन दान देंगे
रुद्रपुर। बाजपुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत टांडा अमीचंद के ग्राम प्रधान महेश सिंह राठौर ने बृहस्पतिवार को सीडीओ मयूर दीक्षित को पत्र लिखकर पांच माह का वेतन सीएम राहत कोष में देने की बात कही है। कहा कि उनकी पंचायत ही उनका परिवार है। यदि उनकी पंचायत में एक भी मृत्यु भुखमरी से होती है तो उसकी मृत्यु की जिम्मेदारी मेरी होगी। इधर, राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला महामंत्री दीपक फर्त्याल ने कहा कि जिले के बेसिक शिक्षक अपना एक दिन का वेतन राहत कोष में देंगे। वहीं, जिला पंचायत अध्यक्ष रेनू गंगवार ने अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत को पत्र लिखकर स्वास्थ्य विभाग को 10 लाख रुपये देने के निर्देश दिए हैं।
बैंकों में हो रही कम भीड़
रुद्रपुर। बृहस्पतिवार को भी बैंकों में उपभोक्ता कम ही नजर आए। इंदिरा चौक स्थित एसबीआई की मुख्य शाखा के प्रबंधक शंकर लाल चक्रवती ने कहा कि तीन घंटों में केवल 68 उपभोक्ताओं ने ही रुपयों की निकासी की है। उच्चाधिकारियों से निर्देश मिले हैं कि ऐसी स्थिति में सिर्फ निकासी ही की जाएगी। बैंक में सिर्फ मशीनों से ही रुपये जमा किए जाएंगे। इधर, पीएनबी के प्रबंधक संजीव सुरी ने कहा कि बैंक में 25 लोगों ने वाउचर भरे थे। बैंक में ज्यादा भीड़ नहीं हो रही है।
भूखे सो रहे लोगों की मदद को आया पुलिस और राधा स्वामी सत्संग
रुद्रपुर। एसएसपी बरिंदरजीत सिंह ने सभी थाना और चौकी प्रभारियों को असहाय और गरीबों की मदद करने के निर्देश दिए हैं। बृहस्पतिवार को एसपी सिटी देवेंद्र पींचा और एसपी क्राइम प्रमोद कुमार ने रामपुर रोड, मोदी ग्राउंड, नगर निगम के समीप, रोडवेज क्षेत्र में झोपड़ियों में रहने कईं परिवारों को खाद्यान्न सामग्री दी।
इसके अलावा राधा स्वामी सत्संग (व्यास) भी भूखे पेट सोने को मजबूर लोगों की मदद के लिए आगे आया है। सत्संग के एरिया सेकेट्री हरीश सेतिया और सेवादार भारत भूषण चुघ ने बताया कि जिला प्रशासन से वार्ता के बाद 500 भोजन के पैकेट तैयार किए गए हैं। पैकेट तैयार करने के लिए सत्संग परिसर में सेवादार जुटे हुए हैं। इन पैकेटों को प्रशासन के निर्देश पर बमरौला, भूरारानी, ओमेक्स के पीछे और नगर निगम केपास रहने वाले मजदूरों को दिए जा रहे हैं। प्रशासन से परिसर का इस्तेमाल आइसोलेशन वार्ड के लिए करने की बात कही गई है।
डोर टू डोर खाद्यान्न आपूर्ति की निगरानी के लिए बना कंट्रोल रूम
रुद्रपुर। डीएम डॉ. नीरज खैरवाल ने लॉकडाउन के दौरान लोगों को डोर टू डोर पहुंचाई जा रही खाद्यान्न सामग्री की आपूर्ति की निगरानी के लिए कंट्रोल रुम स्थापित किया है। बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी सुभाष गुप्ता नोडल अधिकारी, संजय कुमार आर्य चकबंदी अधिकारी सहायक नोडल अधिकारी, जगतराम आर्य वरिष्ठ सहायक, सुनील कुमार लिपिक की ड्यूटी कंट्रोल रुम में सुबह छह बजे से दोपहर एक बजे तक अग्रिम आदेशों तक लगाई गई है। दोपहर एक बजे से रात आठ बजे तक तेज सिंह अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत नोडल अधिकारी, कमलेश बिष्ट टैक्स ऑफिसर सहायक नोडल अधिकारी, ओम प्रकाश, कुलदीप सिंह सहायक कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है।
गोल मार्केट के फल बेच रहे ठेले वालों को पुलिस ने हटाया
रुद्रपुर। बृहस्पतिवार को रुद्रपुर के गोल मार्केट में लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए सुबह फिर से फल विक्रेताओं ने फल बेचने शुरू कर दिए। साथ ही बाजार में कुछ स्थानों पर दुकानें खुलीं नजर आईं, जिन्हें पुलिस ने सख्ती के साथ बंद कराया। उधर, रुद्रपुर में मेडिकल स्टोरों में लोगों की भीड़ रही। जबकि जिला प्रशासन के सख्त निर्देश हैं कि मेडिकल स्टोरों पर लोग निश्चित दूरी पर रहें, लेकिन मेडिकल संचालक अधिक कमाई के चक्कर में लोगों को दूरी पर खड़ा होने के लिए जागरूक नहीं कर रहे हैं।
लोगों को निर्धारित दूरी पर खड़ा कर दिया जा रहा सामान
रुद्रपुर। लॉकडाउन में लोगों को डोर टू डोर राशन का सामान पहुंचाया जा रहा है। जिला प्रशासन के साथ मिलकर प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने वार्ड नंबर 11 संजयनगर में निर्धारित दरों पर राशन दिया। इस दौरान सामाजिक दूरी के नियम को मानते हुए लोगों को एक मीटर दूरी पर खड़ा कर राशन दिया गया। इस दौरान लोगों को सैनिटाइज भी किया गया। वहां पर प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय जुनेजा, महामंत्री हरीश अरोरा, मंडी समिति सचिव कैलाश शर्मा, पार्षद बबीता बैरागी, पूर्व पार्षद विकास मलिक भी मौजूद रहे।
पास बनवाने के लिए कलक्ट्रेट पहुंच रहे लोग
रुद्रपुर। बृहस्पतिवार को बड़ी संख्या में कर्मचारी, फैक्टरी कर्मी और अन्य लोग पास बनवाने के लिए कलक्ट्रेट परिसर में पहुंच गए। वॉर कक्ष में पास बनवाने के लिए घुसे लोगों को ओसी कलक्ट्रेट नरेश दुर्गापाल ने बाहर करते हुए काउंटर से पास बनवाने की नसीहत दी। इसके बाद कलक्ट्रेट के भीतर हो रही लोगों की आवाजाही रोकने के लिए मुख्य शटर बंद कर सुरक्षा कर्मी तैनात कर दिया गया। सुरक्षा कर्मी ने अधिकारी, कर्मचारियों के साथ ही मीडियाकर्मियों को ही अंदर प्रवेश करने दिया।
रुद्रपुर में महामारी के बीच ट्रंचिंग ग्राउंड में कूड़ा बीनते बच्चे व महिलाएं।
रुद्रपुर में महामारी के बीच ट्रंचिंग ग्राउंड में कूड़ा बीनते बच्चे व महिलाएं।- फोटो : RUDRAPUR
रुद्रपुर जिला अस्पताल की ओपीडी की लाइन में एक-एक मीटर की दूरी पर खड़े मरीज।
रुद्रपुर जिला अस्पताल की ओपीडी की लाइन में एक-एक मीटर की दूरी पर खड़े मरीज।- फोटो : RUDRAPUR
रुद्रपुर के राधा स्वामी सत्संग भवन में गरीबों के लिए भोजन तैयार करते सेवादार।
रुद्रपुर के राधा स्वामी सत्संग भवन में गरीबों के लिए भोजन तैयार करते सेवादार।- फोटो : RUDRAPUR
रुद्रपुर जिला अस्पताल से पैदल घर जाता दंपती।
रुद्रपुर जिला अस्पताल से पैदल घर जाता दंपती।- फोटो : RUDRAPUR
रुद्रपुर के एक मेडिकल स्टोर में सामाजिक दूरी के नियम की धज्जियां उड़ाकर भीड़ लगाकर दवा लेते लोग।
रुद्रपुर के एक मेडिकल स्टोर में सामाजिक दूरी के नियम की धज्जियां उड़ाकर भीड़ लगाकर दवा लेते लोग।- फोटो : RUDRAPUR
... और पढ़ें

ब्रायलर मुर्गी पालन व्यवसाय पर कोरोना की मार

रुद्रपुर। मुर्गी पालन में पहले से बढ़ती लागत से जूझ रहा ब्रायलर मूूर्गी पालन व्यवसाय पर अब कोरोना वायरस का साया पड़ गया है। ऊधम सिंह नगर जिले में कोरोना वायरस के खौफ के चलते मांस विक्रेता पॉल्ट्री फार्म से मुर्गियां नहीं खरीद रहे हैं। इससे मुर्गी पालकों पर संकट गहरा गया है। जिले के मुर्गी पालकों को कोरोना वायरस से करोड़ों का नुकसान होने की आशंका है। मुर्गी पालक सरकार से मुआवजे की आस लगा रहे हैं।
जिले के रुद्रपुर, खटीमा, जसपुर, काशीपुर, बाजपुर, गदपुर व सितारगंज विकासखंडों में सभी मुर्गी पालकों के सामने मुर्गियों के बेचने की समस्या खड़ी हो गई हैं। चूजों को बढ़े करने में लाखों रुपये की लागत के बाद मांस विक्रेता मुर्गियों को नहीं खरीद रहे हैं। खटीमा के मुर्गी पालक महेंद्र सिंह कहते हैं कि उन्होंने डेढ़ माह पूर्व 25 रुपये की दर से 3000 चूजे खरीदे थे। इन चूजों को प्रतिदिन दो से तीन क्विंटल दाना खिलाया। ब्रायलर मुर्गी के लिए बाजार में 3800 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से दाना मिलता है। इस अवधि में मुर्गी पालन में करीब चार लाख रुपये खर्च हो गए लेकिन अब जब मुर्गियां बढ़ी हो गई हैं तो कोरोना वायरस के खौफ से कोई मांस विक्रेता मुर्गियां खरीदने को तैयार नहीं हैं। ऐसे में सरकार को मुर्गी पालकों को मुआवजा देना चाहिए।
... और पढ़ें
पोल्ट्री फार्म में मुर्गियों को दाना खिलाता मुर्गी पालक। पोल्ट्री फार्म में मुर्गियों को दाना खिलाता मुर्गी पालक।

लोगों ने सामान खरीदने में किया सामाजिक दूरी का पालन

रुद्रपुर/पंतनगर। लॉकडाउन में आवश्यक वस्तुओं की खरीद के लिए मिली छूट के तहत राशन, दूध, मेडिकल की दुकानें खुली। लेकिन शुक्रवार की तरह शनिवार को खरीदारी में लोगों ने आपाधापी नहीं की। दुकानों में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए लोगों ने सामान खरीदा। कई जगहों पर निर्धारित समय से पहले ही दुकानें बंद हो गई। लोगों ने राशन, दूध के साथ ही फलों की खरीदारी भी की। इधर, सुबह के समय सब्जी मंडी की कुछ दुकानें खुली थी, जिन्हें बंद करा दिया गया। इधर, पंतनगर में जिला प्रशासन ने वाहनों से फल, सब्जी व राशन घर-घर पहुंचाने की व्यवस्था की है। परिसर में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने वाले नौ दुकानदारों को घरों तक सामान पहुंचाने की अनुमति भी प्रदान कर दी गई है।
जरूरतमंदों को भोजन करा रहे सामाजिक संगठन
रुद्रपुर। शहर के कई सामाजिक संगठन जरूरतमंदों को भोजन मुहैया करा रहे हैं। श्री अग्रवाल सभा के पदाधिकारियों ने कलक्ट्रेट और अन्य जगहों पर कुल 600 पैकेट दिए। राधास्वामी सत्संग के अनुयायियों ने शनिवार को दो हजार भोजन के पैकेट जरुरतमंदों को बांटे। पैदल यात्रा कर रहे यात्रियों को भी सत्संग भवन के गेट नंबर पांच पर भोजन कराया जा रहा है। सेवा करने वालों में भारतभूषण चुघ, हेमंत कालरा, रवि बांगा, रवि वर्मा, अंकित, शैरी बाठला, तरुण अरोरा, मनीष चुघ, चरनजीत कौर आदि थे। शक्तिविहार कॉलोनी में सीपी शर्मा, तजिंदर सिंह विर्क, अमन सिंह, मोहन तिवारी, बीआर आर्य, अपार सिंह, गुरविंदर सिंह, सतवीर सिंह, राजेंद्र बिष्ट, अनुज गुप्ता पैकेट तैयार करने के बाद बांट रहे हैं। वहीं, शनिवार को जवाहर नगर के क्षेत्र पंचायत सदस्य पंकज सिंह कोरंगा ने लगभग 143 श्रमिकों को भोजन कराया। इधर, एसपी सिटी प्रमोद कुमार ने बताया कि यूपी सहित अन्य राज्यों के सैकड़ों लोग जिले के अलग-अलग स्थानों में फंसे हुए हैं। इन लोगों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए किच्छा रोड स्थित राधा स्वामी सत्संग भवन के पास रिलीव सेंटर बनाया गया है। जहां से लोगों को निजी वाहनों को बुक कर उनके घरों तक पहुंचाया जाएगा। एसपी सिटी ने बताया कि लोगों के रहने और खाने की व्यवस्था भी राधा स्वामी सत्संग भवन में की गई हैं।
रुद्रपुर ट्रंचिंग ग्राउंड के पास आवारा पशुओं को चारा खिलाते लोग।
रुद्रपुर ट्रंचिंग ग्राउंड के पास आवारा पशुओं को चारा खिलाते लोग।- फोटो : RUDRAPUR
शांतिपुरी के गोकुल नगर में राशन की दुकान में पहुंचे लोग।
शांतिपुरी के गोकुल नगर में राशन की दुकान में पहुंचे लोग।- फोटो : RUDRAPUR
रुद्रपुर के किराना स्टोर में सामाजिक दूरी बनाकर राशन खरीदते लोग।
रुद्रपुर के किराना स्टोर में सामाजिक दूरी बनाकर राशन खरीदते लोग।- फोटो : RUDRAPUR
... और पढ़ें

प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर किए जारी

कोरोना संक्रमण से निपटने व आम लोगों की सुविधा को देखते हुए अब विशेष परिस्थितियों में ई-पास बनाए जाएंगे। इसके लिए जनपद के तीनों एसडीएम को मोबाइल फोन व सिम निर्गत कर हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं।
जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कोराना वायरस को राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है। वायरस के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए आम लोगों की समस्याओं के लिए तीनों एसडीएम को सेलफोन व सिम प्रदान किए गए हैं। आवश्यक वस्तुओं व आपातकालीन परिस्थितियों में आवाजाही के लिए संबंधित व्यक्ति को तहसील के एसडीएम के हेल्पलाइन नंबर पर व्हाट्स एप के माध्यम से आवेदन कर सकता है। जिलाधिकारी ने बताया कि ई-पास के लिए तहसील के लिए उपजिलाधिकारी को 8534051319, तहसील बसुकेदार व जखोली के लिए 8534051343 व तहसील ऊखीमठ के लिए 8534051335 नंबर जारी किया है।
... और पढ़ें

प्रशासन व पुलिस कर रही जरूरतमंदों की मदद

प्रशासन व पुलिस कर रही जरूरतमंदों की मदद
रुद्रप्रयाग। लॉक डाउन के चलते मजबूर व असहाय हुए लोगों के लिए प्रशासन व पुलिस आगे आई है। लोगों की हर संभव मदद की जा रही है।
कोरोना वायरस महामारी के चलते सरकार द्वारा जारी लॉक डाउन से दैनिक मजदूरी करने वाले व गरीब जनता सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है। पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह ने सभी थाना व चौकी प्रभारियों को भूखे व असहाय लोगों की मदद करने के लिए आगे आने की अपील की है। शनिवार को रुद्रप्रयाग कोतवाली में तैनात आरक्षी कुलदीप मेहरा व आरक्षी लखपत सिंह को सूचना मिली कि जिला मुख्यालय से सटी ग्राम सभा जवाड़ी भरदार में एक गरीब परिवार है जिसके पास खाने के लिए कुछ नहीं है एसे मे पुलिस के जवानों ने मौके पर जाकर पाया कि 9 वर्षीय दीपक व 8 वर्षीय देविका जो अपनी 70 वर्षीय दादी के साथ रहते है। इन बच्चों के पिता विक्षिप्त है। परिवार की हालात को देखते हुए पुलिस ने इस परिवार के लिए आवश्यक वस्तुएं घरेलु खाद्य सामग्री दी गई। इसके अलावा प्रशासन द्वारा भी नगर क्षेत्रों में रह रहे नेपाली, बीहारी अन्य मजदूरों को भी फूड पैकेट बांटे जा रहे है। जिससे कोई भी व्यक्ति भूखा न रहने पाए। डीएम मंगेश घिल्डियाल का कहना है कि लॉक डाउन के चलते ऐसे श्रमिक जिनकी आजिविका प्रभावित हुई है, उन्हें फूड पैकेट बांटे जा रहे है।
जारी-
... और पढ़ें

रुद्रपुर की नेहा ने मां की चिता को दी मुखाग्नि 16-12-58

रुद्रपुर। सामाजिक बंधनों को तोड़ते हुए शुक्रवार को रुद्रपुर की नेहा आनंद ने अपनी मां की चिता को मुखाग्नि देकर समाज में अनोखी मिसाल पेश की। नेहा रुद्रपुर के एक निजी स्कूल में शिक्षिका हैं। वह अपने मां-बाप की तीन पुत्रियों में सबसे छोटी हैं।
किच्छा मार्ग स्थित श्मशान घाट पर शुक्रवार सुबह नेहा ने अपनी मां सुदेश रानी आनंद (60) का रीतिरिवाजों के साथ अंतिम संस्कार किया। उन्होंने मां की चिता को मुखाग्नि देकर समाज में मिसाल पेश की। वहां पर उनके पिता केवल आनंद और समाजसेवी डॉ. रजनीश बत्रा समेत परिजन मौजूद रहे। सभी ने नेहा के इस कदम की सराहना करते हुए कहा कि इससे समाज में एक सकारात्मक संकेत जाएगा।
परिजनों ने कहा कि सुभाष कॉलोनी निवासी सुरेश रानी की तबियत कुछ समय से खराब थी। उनका एम्स समेत कई अस्पतालों में इलाज चला। बृहस्पतिवार रात को उनका निधन हो गया। उनकी पुत्रियों में दो का विवाह हो चुका है। तीसरी पुत्री नेहा एक स्कूल में पढ़ाती है। वहां अशोक आनंद, अनिल आनंद, संत बाबा कृपाल सिंह, दिलीप कुमार, साहिल आनंद, विजय आनंद, रोशन लाल आदि थे।
... और पढ़ें

डीएम के निर्देश के बावजूद खुली दुकानें, पुलिस ने बंद कराईं

रुद्रपुर। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बृहस्पतिवार की रात को लॉकडाउन में लोगों की सहूलियत के लिए नई व्यवस्था लागू करते हुए शुक्रवार से सुबह सात से एक बजे तक आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खोलने के आदेश जारी किए थे। इधर, देर रात डीएम डॉ. नीरज खैरवाल ने जिले में आवश्यक सामानों की डोर टू डोर सप्लाई के चलते दुकानों को बंद रखने के निर्देश जारी किए थे।
शुक्रवार को दोनों आदेशों को लेकर व्यापारियों के साथ ही लोगों में भी संशय रहा। इसके चलते सुबह सात बजे जहां कुछ व्यापारियों ने दुकानें खोल दी, वहीं सब्जी मंडी में भी खुल गई। इसके चलते बड़ी संख्या में लोग दुकानों में खरीदारी करने के लिए उमड़ गए। गुड़ मंडी में भी फलों की ठेलियां लग गई थीं। सूचना पर बाजार चौकी प्रभारी होशियार सिंह पुलिसकर्मियों के साथ पहुंचे और उन्होंने दवा की दुुकानों को छोड़कर अन्य दुकानों को बंद करा दिया। पुलिस के पहुंचते ही सब्जी मंडी में अफरातफरी मच गई।
इंचार्ज ने दुकानदारों ने बिना अनुमति दुकान खोलने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी। मंडी में सब्जी लेने आए लोगों को भी पुलिसकर्मियों ने डिलीवरी वैन से सब्जी लेने की बात कहकर लौटा दिया। मेडिकल स्टोरों के आगे बनाए गए सफेद घेरों में खड़े होकर लोगों ने दवा ली। इसके अनुपालन के लिए पुलिसकर्मी भी तैनात रहे।
मंडी समिति में कम पहुंचे सब्जी विक्रेता, आढ़ती नाराज
रुद्रपुर। मंडी समिति बिगवाड़ा में फल और सब्जी खरीदने के लिए लग रही भीड़ को रोकने के लिए पुलिसकर्मियों ने आम लोगों को मंडी में नहीं जाने दिया। सिर्फ नगर निगम से जारी पासधारकों को ही मंडी में प्रवेश दिया गया। इसके चलते बेहद कम संख्या में आए दुकानदार ही आढ़तियों से फल और सब्जी ले गए। बड़ी मात्रा में सब्जी और फल का स्टॉक रहने से आढ़तियों का पारा चढ़ गया।
गुस्साए व्यापारियों ने व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय जुनेजा को मंडी बुला लिया और बैठक की। एसोसिएशन अध्यक्ष राजीव मिढ्ढा ने आरोप लगाया कि नगर निगम की ओर से वास्तविक दुकानदारों को पास ही जारी नहीं किए गए हैं। जिन लोगों को पास जारी हुए हैं, उनमें से अधिकतर फल, सब्जी का कारोबार ही नहीं करते हैं।
पास जारी करने से पहले उनसे दुकानदारों के संबंध में कोई जानकारी नहीं ली गई। तय हुआ कि नगर निगम और प्रशासन की ओर से सहयोग नहीं मिलने पर रविवार से फल और सब्जी के थोक विक्रेता मंडी को बंद रखेंगे। इस संबंध में सभी ने हस्ताक्षर कर एसडीएम को पत्र भेज दिया है। मेयर रामपाल ने बताया कि निगम की ओर से 300 लोगों को सब्जी और फल के पास जारी हुए हैं।
प्रशासन की मंशा व्यापारियों के सहयोग से लोगों तक आवश्यक सामान पहुंचाने की है और इसको लेकर कार्य चल रहा है। सब्जी और फल आढ़तियों की ओर से मंडी बंद करने की सूचना नहीं है। अगर ऐसा निर्णय लिया गया है तो व्यापारियों से बातचीत कर मामले को सुलझाया जाएगा। प्रशासन की ओर से सहयोग किया जा रहा है। - मुक्ता मिश्रा, एसडीएम।
राशन के पैकेट देखते ही लेने को दौड़े लोग
रुद्रपुर। लॉकडाउन होने के बाद नैनीताल हाईवे पर सड़क किनारे रह रहे लोहे के औजारों का सामान और सिलबट्टे बेचने वाले लोगों पर भूख का संकट मंडराने लगा है। शुक्रवार को पुलिस टीम के साथ एसपी सिटी देवेंद्र पिंचा ने गरीब परिवारों को राशन बांटा। राशन में दाल, चावल व चीनी आदि के खाद्य पदार्थ शामिल था।
पहले तो झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले लोग पुलिस की गाड़ी को देखकर डरने लगे। बाद में जब पुलिस के जवानों ने उन्हें राशन देने के लिए उनकी झोपड़ी की तरफ कदम बढ़ाए तो वह लोग खुशी से फूले नहीं समाए। कुछ परिवारों को राशन नहीं मिलने पर बच्चे सहित महिलाएं एसपी सिटी की गाड़ी के पीछे दौड़ने लगी। इसके बाद रात में राशन मिलने के आश्वासन पर वे माने।
आपातकालीन स्थिति के लिए जारी होंगे ई चालान
रुद्रपुर। कलक्ट्रेट में बनाए वॉर रूम में वाहन पास के लिए लग रही लोगों की भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने ई-पास जारी करने का फैसला लिया है। वाहन पास के लिए कलक्ट्रेट आने के बजाय मोबाइल पर ही व्हाट्सएप पर भेजे विवरण की जांच कर प्रशासन ई-पास जारी करेगा। इसको लेकर प्रशासन ने व्हाट्सएप नंबर 93897-48445 और 93897-68009 जारी किया है। ई-पास व्यवस्था लागू करने के साथ ही कलक्ट्रेट गेट पर पास बनवाने आ रहे लोगों को सुरक्षाकर्मियों ने रोकते हुए व्हाट्सएप पर आवेदन करने की बात कहकर लौटा दिया।
ओसी कलक्ट्रेट नरेश दुर्गापाल ने बताया कि जिले के भीतर या फिर राज्य से बाहर जाने वाले वाहनों को अपरिहार्य स्थिति में ही पास जारी किया जा रहा है। अब पास के लिए दिए गए व्हाट्सएप नंबर पर प्रार्थना पत्र देना होगा। इसमें प्रार्थी का नाम, वाहन संख्या, आपातकालीन स्थिति का विवरण, मोबाइल नंबर, आधार नंबर/पहचान पत्र देना होगा।
प्रार्थना पत्र की जांच के बाद अगर जरूरी हुआ तो ई-पास जारी किया जाएगा। इससे कलक्ट्रेट में पास लेने के लिए लोगों की भीड़ नहीं होगी और पास के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। बताया कि आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई या अन्य कार्यों के लिए संबंधित एसडीएम से ही अनुमति लेनी होगी।
जिले से बगैर जांच के न निकल पाए कोई वाहन
रुद्रपुर। लॉकडाउन के मद्देनजर शुक्रवार को एसपी सिटी देवेंद्र पिंचा ने रुद्रपुर के मुख्य चौराहों के साथ ही यूपी बॉर्डर और आसपास के क्षेत्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पुलिस कर्मियों को निर्देश दिए कि बगैर जांच के कोई भी वाहन जिले से न निकल पाए। साथ ही गंभीर मरीजों को लेकर जा रहे वाहन चालकों को बेवजह रोककर किसी की जान को जोखिम में न डाला जाए।
एसपी सिटी ने यूपी बॉर्डर पर वाहनों की चेकिंग के दौरान झुंड बनाकर खड़े लोगों से उन्होंने सामाजिक दूरी बनाए रखने को कहा। इंद्रा चौक पर पुलिस कर्मियों की चेकिंग में मिल रही शिकायत पर उन्होंने ड्यूटी पर तैनात सभी सीपीयू, पुलिस व पीएसी कर्मियों की संक्षिप्त बैठक लेकर चेकिंग में सख्ती बरतने को कहा। डीडी चौक पर बिना अनुमति के हल्द्वानी से आने वाले एक वाहन चालक को उन्होंने कड़ी फटकार लगाई।
साथ ही सीपीयू को उक्त वाहन सीज करने के निर्देश दिए। एसपी सिटी ने चौराहे पर बिना अनुमति के खाद्य सामग्री बांट रहे लोगों को भी नसीहत दी कि सड़क पर घूमकर लॉकडाउन का उल्लंघन न किया जाए। डीडी चौक पर बिना अनुमति के दर्जनों बाइक अैर कार सवार इधर से उधर घूमते नजर आए। पुलिस के हत्थे चढ़ने पर उन्हें लाठियां भांजकर उठकबैठक कराई गई। इसके अलावा मोहल्लों में घूम रहे लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी गई।
संदिग्ध केमिकल ला रही कार सीज
रुद्रपुर। गदरपुर से संदिग्ध केमिकल लेकर आ रही कार को इंद्रा चौक पर ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मियों ने पकड़ लिया। ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज मनीष शर्मा ने बताया कि बिबरा फॉर्म बिलासपुर निवासी गुरप्रीत सिंह कार (यूपी 06 एएल 7949) में संदिग्ध केमिकल लेकर आ रहा था। पूछताछ के दौरान वह टीम को संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया। उन्होंने बताया कि कार को सीज कर दिया गया है।
रुद्रपुर में मंडी समिति में हो रहे दिक्कतों को लेकर बात करते आढ़ती।
रुद्रपुर में मंडी समिति में हो रहे दिक्कतों को लेकर बात करते आढ़ती।- फोटो : RUDRAPUR
रुद्रपुर के मंडी समिति आढ़त पर लगा सब्जियों का ढेर।
रुद्रपुर के मंडी समिति आढ़त पर लगा सब्जियों का ढेर।- फोटो : RUDRAPUR
रुद्रपुर के सब्जी मंडी में सब्जी खरीदने को मची होड़।
रुद्रपुर के सब्जी मंडी में सब्जी खरीदने को मची होड़।- फोटो : RUDRAPUR
... और पढ़ें

पंतनगर थाने से फरार ठगी का आरोपी गिरफ्त से बाहर

संवाद न्यूज एजेंसी  रुद्रपुर। पंतनगर थाने से फरार हुआ ठगी का आरोपी 10 दिन बाद भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। कोरोना वायरस के बीच पुलिस की व्यवस्था का फायदा आरोपी को सीधे तौर पर मिल रहा है। ऐसे में उसके देश छोड़कर भागने की आशंका से मना नहीं किया जा सकता है।  बीते दिनों धारचूला निवासी अक्षय कुमार ओली अपने साथ अल्मोड़ा के बयारी गांव निवासी विनोद कुमार पांडे को लेकर पंतनगर विवि के सुरक्षा विभाग में पहुंचा था, जहां उसने सुरक्षा अधिकारी को बताया था कि विनोद ने उससे पंत विवि में पुस्तकालय सहायक पद पर नियुक्ति के लिए 1.26 लाख रुपये लिए थे। इसके बाद विनोद ने उसे फर्जी नियुक्ति पत्र भी दे दिया था। नियुक्ति फर्जी होने पर उसने विनोद से अपनी दी हुई रकम वापस मांगी। तीन माह बाद विनोद ने उसको 56 हजार रुपये लौटाये। 16 मार्च को 70 हजार रुपये देने के लिए विनोद ने उसे पंतनगर में बुलाया था। पैसों को देने में आनाकानी करने के बाद मामला विवि के सुरक्षा विभाग तक पहुंच गया। कुलपति डॉ. तेज प्रताप के निर्देश पर सुरक्षाधिकारी आरसी जोशी ने विनोद कुमार पांडे को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। तहरीर देने के बाद उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। पूछताछ के दौरान विनोद पानी पीने के बहाना बनाकर फरार हो गया था। ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर एसएसपी बरिंदरजीत सिंह ने तत्काल प्रभाव से कांस्टेबल वीरेंद्र व गणेश को सस्पेंड कर दिया था। पुलिस ने हल्द्वानी, रुद्रपुर, अल्मोड़ा तक आरोपी की तलाश में दबिशें दी लेकिन उसका पता नहीं चल सका। पंतनगर थाना प्रभारी अशोक कुमार ने बताया आरोपी की तलाश जारी है। कोरोना वायरस के चलते ड्यूटी में कुछ असर पड़ा है।  ... और पढ़ें

जिला प्रशासन के सहयोग से लोगों को पहुंचाया गया गंतव्य तक

जिला चिकित्सालय में उपचार कराने पहुंचे चमोली जनपद के सीमावर्ती गांव लोहागंज के लिए पैदल सफर कर रहे लोगों को जिला प्रशासन ने अपने गंतव्य तक पहुंचाया गया है। लोहाजंग निवासी मादोराम के बेटे का हाथ फैक्चर हो गया था। 108 के जरिये जिला चिकित्सालय रुद्रप्रयाग लाकर उसका उपचार किया गया। बच्चे के हाथ पर प्लास्टर होने के बाद चिकित्सकों ने उन्हें घर भेज दिया, लेकिन घर जाने के लिए उन्हें कोई वाहन नहीं मिलने से वह पैदल ही निकल पड़े। इसी बीच ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर उनके जाने की सूचना मिलने पर जिलाधिकारी ने वाहन भेज उन्हें गंतव्य तक पहुंचाया। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि स्वास्थ्य संबंधी उपचार या किसी कारणवश बाजारों में फंसे लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाना प्रशासन की जिम्मेदारी है। ... और पढ़ें

कोरोना के लक्षण मिलने पर हेल्पलाइन पर करें संपर्क

रुद्रपुरl जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग सतर्क है। यदि किसी व्यक्ति कोरोना वायरस से जांच कराना चाहता है तो वह स्वास्थ्य विभाग के हेल्प लाइन नंबर 05944-246590 पर संपर्क कर सकता है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम उक्त व्यक्ति में कोरोना से सम्बंधित सभी जांच करेगी l जिले में कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारियों व सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए सीएमओ कार्यालय में बनाए गए कंट्रोल रूम में लगातार लोगों के फोन आ रहे हैं। एसीएमओ डॉ. अविनाश खन्ना ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की विदेश से लौटे और कोरोना वायरस पीड़ित के संपर्क में आए लोगों की जांच कर उन्हें क्वारेंटाइन कर रही है। इसके साथ ही यदि किसी व्यक्ति में कोरोना वायरस जैसे लक्ष्मण नजर आते हैं तो वह हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकता है। इसके बाद उसका जिला अस्पताल में जांच कर सैंपल जांच के लिए हल्द्वानी लैब भेजा जाएगा। कोरोना वायरस के सामान्य लक्षण सर्दी, जुकाम, खांसी व गले में खराश आदि हैं। जरूरी नहीं है कि जिसमें यह लक्षण नजर आएं वह कोरोना वायरस से संक्रमित हो। सैंपल रिपोर्ट के आधार पर ही इसका पत चल सकता है। उन्होंने कहा कि जिले में अभी साढ़े 11 हजार से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग हो चुकी है, लेकिन किसी व्यक्ति में कोरोना की पुष्टि नहीं हुई है। ... और पढ़ें

एनएच- 87 और एनएच-74 हाईवे को किया वन-वे

रुद्रपुर (ऊधमसिंह नगर)। जिले में लॉकडाउन होने के बाद राष्ट्रीय राजमार्गों को वन-वे कर दिया गया है। इससे चार पहिया वाहनों की आवाजाही रोकने के साथ ही जांच की जा रही है। बेवजह घूमने वालों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। नेशनल हाईवे 74 और 87 को चार पहिया वाहनों की आवाजाही रोकने और वाहनों की जांच करने के लिए हाईवे के एक साइड को बैरिकेडिंग कर दिया गया है। वहीं, इंदिरा चौक स्थित सिर गोटिया मोहल्ले में जाने वाली 7 गलियों को मोहल्ले के लोगों ने स्वयं से बैरिकेडिंग, गेट व बांस के बल्ले लगाकर रोक दिया है। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सामाजिक दूरी बनाने में ही भलाई है। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us