विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

क्वारंटीन किए गए युवक की शुगर अटैक से मौत

चमोल गांव में क्वारंटीन किए गए युवक की तबियत बिगड़ने पर उसे जौलीग्रांट अस्पताल रेफर किया गया, जहां बीती शाम उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। चिकित्सकों ने युवक की मौत का कारण शुगर अटैक बताया है। युवक की मौत से चमोल गांव में मातम पसर गया है। मृतक अपने पीछे बूढ़े माता-पिता, पत्नी, एक बेटा और दो बेटियों को छोड़ गया है।
भिलंगना ब्लॉक के चमोल गांव निवासी दर्मियान सिंह रावत (36) पुत्र गब्बर सिंह रावत रूद्रपुर ऊधम सिंह नगर में एक होटल में नौकरी करता था। लॉकडाउन के चलते वह 12 मई को अपने गांव पहुंचा था। जहां उसे गांव के समीप ही एक निजी विद्यालय में क्वारंटीन किया गया था। गांव के हर्षमणि उनियाल ने बताया कि 17 मई रविवार शाम चार बजे दर्मियान की पत्नी उसे चाय देने गई थी तो दर्मियान बेहोश पड़ा हुआ था। पत्नी के बताने के बाद प्रधान हीरामणि जोशी और परिजन दर्मियान को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलेश्वर ले गए। यहां प्राथमिक उपचार के बाद भी जब युवक को होश नहीं आया तो चिकित्सकों ने उसे हायर सेंटर जौलीग्रांट रेफर कर दिया। सोमवार शाम को जौलीग्रांट में उपचार के दौरान युवक ने दम तोड़ दिया। मंगलवार को परिजन दर्मियान का शव लेकर चमियाला पहुंचे, जहां उसका अंतिम दाह संस्कार किया गया। दर्मियान की अपने वृद्ध माता-पिता की एकलौती संतान थी। इस घटना के बाद से परिवार के सदस्य गहरे सदमे में है।
- दर्मियान सिंह में कोरोना संक्रमण के कोई भी लक्षण नहीं थे। युवक की जांच की गई तो शुगर बढ़ा हुआ मिला। शुगर अटैक के कारण ही युवक की मौत हुई है। -डा.श्याम विजय, चिकित्साधिकारी
- क्वारंटीन सेंटर में रह रहे युवक में कोरोना संक्रमण के कोई भी लक्षण नहीं थे। इसलिए सैंपल नहीं लिया गया। डॉक्टरों ने युवक की मौत का कारण अटैक पड़ना बताया है। -राजेंद्र सिंह राणा, तहसीलदार बालगंगा
... और पढ़ें

Lockdown in Uttarakhand: क्वारंटीन किए गए युवक की उपचार के दौरान मौत, परिवार का था इकलौता चिराग

उत्तराखंड के टिहरी स्थित घनसाली में चमोल गांव में क्वारंटीन किए गए एक युवक की उपचार के दौरान मौत हो गई है। युवक 12 मई को रूद्रपुर ऊधमसिंहनगर से अपने गांव पहुंंचा था। डाक्टर ने युवक की मौत का कारण शुगर बढ़ जाने से अटैक बताया है। इस घटना के बाद चमोल गांव में मातम पसरा हुआ है। मृतक युवक बूढ़ा माता-पिता का एकलौता चिराग था। बेटे  के चले जाने से वृद्व माता-पिता, पत्नी और तीन नादान बच्चे बेसहारा हो गए।

भिलंगना ब्लॉक के चमोल गांव निवासी दर्मियान सिंह रावत (36) पुत्र गब्बर सिंह रावत रूद्रपुर ऊधमसिंहनगर होटल में नौकरी करता था। लॉकडाउन में वह 12 मई को अपने गांव पहुंचा था। जहां उसे गांव के समीप ही एक निजी विद्यालय में क्वारंटीन किया गया था। गांव के हर्षमणि उनियाल ने बताया कि 17 मई की शाम चार बजे के लगभग दर्मियान की पत्नी सुषमा देवी उसे चाय देने गई थी। युवक स्कूल के कमरे से बेहोश पड़ा हुआ था। ग्राम प्रधान हीरामणि जोशी और परिजन उसे उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलेश्वर ले गए।
... और पढ़ें

बीजों का संग्रह करने पर गगन को मिला अवार्ड

बीजों का संग्रह करने के लिए अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर उत्तर प्रदेश बुक ऑफ रिकॉडर्स की ओर से वानिकी महाविद्यालय रानीचौरी के बीएसएस कृषि विज्ञान (ऑनर्स) द्वितीय वर्ष के छात्र गगन त्रिपाठी को एक्ट्राऑर्डनेरी कलेक्शन अवार्ड 2020 से सम्मानित किया गया है।
दुर्लभ बीजों सहित विभिन्न चीजों के संग्रह के लिए उत्तर प्रदेश बुक ऑफ रिकॉर्डस हर साल होनहार छात्रों, शोधार्थियों को सम्मानित करता है। इस वर्ष एक्ट्राऑर्डनेरी कलेक्शन अवार्ड 2020 के लिए वानिकी महाविद्यालय रानीचौरी के छात्र गगन त्रिपाठी को चुना गया है। गगन के पास संकटग्रस्त प्रजातियों के बीजो का भंडार है। उनके पास बिलोबा जिसे लिविंग फॉसिल भी कहा जाता है के अलावा पनेला, करणवाश्रम वृक्ष के बीजों का पर्याप्त कलेक्शन हैं। गगन ने अपने घर में ही इन बीजों के संग्रह करके रखा है। बताया कि बादाम की नौ प्रजातियों के बड़ी मुश्किल से मिलने वाले बीज टेक्सास, कैलिफोर्निया, पेपर सेल, नोन परील, कृष्टोमोर्टो, आईएक्सएल, नॉन परिल, नी प्लस अल्ट्रा सहित 200 वन्य प्रजातियों के बीज भी उनके पास उपलब्ध हैं। अवार्ड मिलने पर महाविद्यालय के डीन प्रो. वीपी खंडूड़ी, डा. अरविंद बिजल्वाण, कीर्ति कुमारी, डा. अमोल वशिष्ठ आदि ने खुशी जताई है।
... और पढ़ें

चारधाम परियोजना: चंबा शहर के नीचे सुरंग बनकर तैयार, केंद्रीय मंत्री गडकरी ने किया ऑनलाइन निरीक्षण

बीआरओ(सीमा सड़क संगठन) ने प्रतिष्ठित चारधाम परियोजना(ऑलवेदर रोड) के तहत ऋषिकेश-धरासू हाईवे (एनएच-94) पर घनी आबादी वाले चंबा शहर के नीचे सुरंग निर्माण में सफलता हासिल कर ली है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने टनल के दोनों छोर आर-पार होने पर वीडियो कॉन्फेंसिंग के माध्यम से बीआरओ के अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है।

उन्होंने कहा कि चारधाम परियोजना से उत्तराखंड में दुनिया भर के सैलानियों की सालभर चहलकदमी बनी रहेगी, जिससे राज्य वासियों के लिए रोजगार के नए द्वार खुलेंगे। नितिन गडकरी ने कहा कि ऑल वेदर रोड परियोजना का काम जल्द पूरा होने के बाद चारधाम यात्रा सुगम हो सकेगी। केंद्रीय मंत्री ने बीआरओ को निर्माण कार्य तय तिथि तक पूरा करने के भी निर्देश दिए।
... और पढ़ें
टनल का ऑनलाइन निरीक्षण करते नितिन गड़करी टनल का ऑनलाइन निरीक्षण करते नितिन गड़करी

खेत में जा रहे युवक पर जंगली सुअर ने किया हमला

प्रतापनगर भदूरा पट्टी के पोखरी गांव का एक युवक जंगली सुअर के हमले में गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे उपचार के लिए सीएचसी (सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र) चौंड ले जाया गया। जहां उसकी गंभीर हालत देखते हुए उसे जिला अस्पताल बौराड़ी रेफर कर दिया गया।
घटना मंगलवार सुबह करीब नौ बजे की है। पोखरी गांव निवासी सिदिलाल (36) पुत्र राजेंद्र लाल घर के नजदीक ही अपने खेतों में जा रहा था। अचानक जंगली सुअर ने उस पर पीछे से हमला बोल दिया।
परिजनों की मदद से युवक को गंभीर अवस्था में उपचार के लिए चौंड लाया गया। डॉ. प्रतीक मल्होत्रा ने बताया कि सुअर के हमले में युवक के पीठ और हाथ पर गंभीर चोटेें आई हैं। वन विभाग की टीम ने अस्पताल पहुंचकर घायल युवक का हालचाल जाना। डीएफओ (प्रभागीय वनाधिकारी) टिहरी डॉ. कोको रोसे ने बताया कि घायल युवक के परिजनों को 4500 रुपये की आर्थिक सहायता दी गई है। संवाद
... और पढ़ें

800 स्वयं सेवक तैयार करेगा युवा कल्याण विभाग

अब जिले के प्रत्येक क्वारंटीन सेंटर में सुरक्षा और सैनिटाइजर करने का जिम्मा पीआरडी जवान संभालेंगे। यह व्यवस्था आज से ही लागू कर दी गई है। पहले चरण में डीएम मंगेश घिल्डियाल ने मुनिकीरेती पालिका क्षेत्र के क्वारंटीन सेंटरों में 70 पीआरडी जवानों की तैनाती करने का अनुमोदन दे दिया है। डीएम ने युवा कल्याण विभाग को 800 स्वयं सेवकों को दक्ष करने को कहा।
पंचायत भवन, स्कूलों, होटलों और धर्मशालाओं में बनाए गए क्वारंटीन सेंटरों की लचर व्यवस्था पर नवनियुक्त डीएम मंगेश घिल्डियाल ने नाराजगी व्यक्त की है। क्वारंटीन सेंटरों और आइसोलेशन केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम और नियमित सैनिटाइजर करने लिए उन्होंने युवा कल्याण अधिकारी डा. मुकेश चंद्र डिमरी को दो-दो पीआरडी जवान तैयार करने के निर्देश दिए। रविवार को डीएम ने अधिकारियों के साथ मुनिकीरेती क्षेत्र में बनाए गए क्वारंटीन सेंटरों का निरीक्षण किया। नगर पालिका मुनिकीरेती की मांग पर डीएम ने मौके पर ही 70 पीआरडी जवानों की तैनाती करने का अनुमोदन दे दिया। पॉजिटिव केस आने के बाद की जाने वाली कांटेक्ट ट्रेसिंग एक ही दिन में पूरी करने के लिए डीएफओ डा. कोको रोसे को नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी दी गई है।
... और पढ़ें

बाहरी राज्यों से जिले में पहुंचे 2865 प्रवासी

जिले में सोमवार को बाहरी राज्यों से कुल 2865 प्रवासी पहुंचे। इनमें से 1665 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग कर उन्हें उनके गांव स्थित क्वारंटीन सेंटर पहुंचाया गया। दिल्ली, मुंबई समेत अन्य कंटेनमेंट जोन से आए बाकी लोगों को मुनिकीरेती में ही रोक लिया गया। बता दें कि बीती दो अप्रैल से सोमवार शाम तक जिले में कुल 26,130 प्रवासी पहुंच चुके थे।
64 सैंपल जांच को भेजे
सीएमओ डा. मीनू रावत ने बताया कि सोमवार को कुल 64 लोगों के सैंपल जांच को भेजे गए है। इससे पहले भेजे गए 37 सैंपल में से केवल एक की ही रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बाकी 36 नेगेटिव हैं। बताया कि अब तक जिले में कुल 520 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं, जिनमें से 385 सैंपलों की जांच रिपोर्ट आनी बाकी है।
रेड जोन से आने वाले मुनिकीरेती में होंगे क्वारंटीन
अब रेड जोन से आने वाले प्रवासियों को मुनिकीरेती में ही संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा। डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि 14 दिन की क्वारंटीन अवधि पूरी होने के बाद ही प्रवासियों को उनके गंतव्य तक जाने की इजाजत होगी।
तहसीलवार काउंटर लगाने के निर्देश
डीएम मंगेश घिल्डियाल ने एडीएम शिवचरण द्विवेदी को मुनिकीरेती में ही कैंप कर क्वारंटीन संबंधी व्यवस्थाएं बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रवासियों की सुविधा के लिए मुनिकीरेती में तहसीलवार काउंटर लगाकर संबंधित क्षेत्रों के ग्राम प्रधानों के फोन नंबरों की भी सूची चस्पा किए जाने को कहा।
... और पढ़ें

नवनियुक्त डीएम घिल्डियाल ने किया कार्यभार ग्रहण

नवनियुक्त जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने रविवार को कार्यभार ग्रहण कर लिया। इसके बाद उन्होंने स्वास्थ्य विभाग और जिले के अधिकारियों से कोरोना संक्रमण की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि टीम भावना से कोरोना के खिलाफ जंग लड़ी जाएगी।
आईएएस अधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने रविवार को जिलाधिकारी के रूप में कार्यभार ग्रहण किया। कहा कि कोरोना संक्रमण से उत्पन्न समस्याओं का समाधान, प्रवासियों को सुरक्षित घर तक पहुंचना और गांव लौटे प्रवासियों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करना उनका पहला लक्ष्य है। अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्होंने कोरोना संक्रमण का फीडबैक लिया। कहा कि कोविड-19 के कारण उत्पन्न हुई समस्याओं को प्राथमिकता से हल किया जाए। उन्होंने सीएमओ डॉ. मीनू रावत से कोरोना अपडेट, अब तक किए गए उपायों, सैंपलिंग की जानकारी, कोविड-19 के बचाव के उपकरण सहित कई जानकारी लीं। डीएम ने कहा कि कोरोना के कारण पैदा हुई स्थिति से बाहर आने के लिए सामूहिक प्रयास किए जाएंगे। इस मौके पर सीडीओ अभिषेक रूहेला, डीएफओ डा. कोको रोसे व एडीएम शिवचरण द्विवेदी उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के परिवार सहित आठ के खिलाफ मुकदमा

क्वारंटीन नहीं रहने पर पुलिस ने एक व्यक्ति के खिलाफ आपदा प्रबंधन एक्ट और बीमारी फैलाने का मुकदमा दर्ज किया है। गोदडी गांव की प्रधान सोनिका देवी चौहान की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। उधर, देवप्रयाग थाने में भी दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। उधर, चिन्यालीसौड़ में भी होम क्वारंटीन का पालन नहीं करने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व उसके परिवार के साथ ही दो अन्य प्रवासियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।
प्रधान की ओर से थाने में दी गई तहरीर में बताया गया है कि गांव का बृजमोहन सिंह उसकी पत्नी और बेटी 16 मई को दिल्ली से आए थे। उन्हें गांव के स्कूल में संस्थागत क्वारंटीन किया गया था, लेकिन क्वारंटीन अवधि पूरा होने से पहले ही बृजमोहन क्वारंटीन सेंटर से भागकर अपनी पत्नी और बेटी को लेकर गांव में आ गया है। समझाने बुझाने पर उसने गाली गलौज की। थानाध्यक्ष विनोद राणा ने बताया कि प्रधान की तहरीर के आधार पर बृजमोहन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल वह पत्नी और बेटी के साथ गांव से दूर छानी (गोशाल) में क्वारंटीन है। उधर, देवप्रयाग थाना प्रभारी महिपाल रावत ने बताया कि भुटली निवासी पशुपति और गुदाण निवासी मानवेंद्र को अन्य प्रदेशों से आने के कारण अपने अपने गांवों में क्वारंटीन किया गया है, लेकिन वह क्वारंटीन रहने के बजाय बाहर घूम रहे थे। सरकारी आदेशों की अवहेलना करने पर उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है।
वहीं, चिन्यालीसौड़ ब्लॉक स्थित बनकोट गांव की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सरिता रतूड़ी बीते 20 मई को अपने पति ओमप्रकाश एवं बेटे अमन के साथ दिल्ली से गांव लौटी थी। सभी को गांव में ही पंचायत घर में क्वारंटीन किया गया, लेकिन वह दूसरे दिन ही परिवार सहित घर चली गई। शिकायत मिलते ही राजस्व विभाग ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया। इसी गांव के दो अन्य प्रवासी शशि भूषण एवं निर्मला देवी के खिलाफ भी क्वारंटीन नियमों का उल्लंघन करने पर मुकदमा दर्ज किया गया। बीते 15 मई को जम्मू से लौटे दोनों प्रवासियों को भी पंचायतघर में क्वारंटीन किया गया था, लेकिन वे वहां से घर चले गए थे।
उधर, देवाल में भी दो लोग दमन से ताजपुर गांव पहुंचे। राजस्व पुलिस ने दोनों को क्वारंटीन सेंटर भेजा। पटवारी प्रमोद नेगी ने बताया कि ग्राम प्रहरी की सूचना पर दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

कंटेनमेंट जोन से आए 1131 प्रवासी सीमा पर रोके

टिहरी जिले में शनिवार को बाहरी प्रदेशों, राज्य के अन्य जिलों से पहुंचे 1435 प्रवासियों की स्क्रीनिंग कर उन्हें गांवों और शहरों में क्वारंटीन किया गया है। जबकि मुंबई और बंगलूरू के कंटेनमेंट जोन से लौटे 1131 लोगों को थर्मल स्क्रीनिंग और रैंडम सैंपल लेने के लिए जिले की सीमा मुनिकीरेती में रोका गया है।
दो अप्रैल से लेकर अब तक जिले में 23265 प्रवासी अपने गांवों को लौट चुके हैं। सीडीओ एवं नोडल अधिकारी कोविड-19 अभिषेक रूहेला ने बताया कि कंटेनमेंट जोन से आ रही प्रवासियों को जिले की सीमा में रैंडम सैंपल समेत अन्य स्वास्थ्य जांच के लिए रोका जा रहा है। शनिवार को 148 सैंपल जांच को भेजे गए।
क्वारंटीन सेंटर में रह रहे 148 के सैंपल भेजे
नई टिहरी। लॉकडाउन के दौरान जिले से अब तक कुल 407 लोगों के सैंपल जांच को भेजे गए हैं, जिनमें से छह लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। 78 सैंपलों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग को 323 सैंपलों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। शनिवार को क्वारंटीन सेंटर में रह रहे लोगों के 148 सैंपल जांच को भेजे गए।
... और पढ़ें

क्वारंटीन पीरियड पूरा करने के बाद भी नहीं हो रही जांच

थौलधार ब्लाक में कटखेत की प्रधान अमिता देवी ने बताया कि उनके गांव में चार लोगों का 14 दिन का क्वारंटीन पीरियड शुक्रवार और शनिवार को पूरा हो गया था। इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी गई, लेकिन कोई भी उनके स्वास्थ्य की जांच करने नहीं आया, जिससे उन्हें बगैर जांच के ही अपने घर जाना पड़ा है। यही स्थिति महेड़ा गांव में भी है। वहां के प्रधान दिनेश चंद ने बताया कि उनके गांव में भी तीन लोग क्वारंटीन पीरियड पूरा करने के बाद बगैर स्वास्थ्य जांच के ही अपने घर गए हैैं। प्रधानगणों ने स्वास्थ्य विभाग की इस लापरवाही पर रोष जताते हुए क्वारंटीन सेंटरों में रह रहे लोगों की भी नियमित स्वास्थ्य जांच कराने की मांग की है। सीएचसी के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. धर्मेंद्र उनियाल ने कहा कि क्वारंटीन सेंटर जाने से पहले सभी लोगों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है। उसके बाद किसी में कोई लक्षण दिखते हैं, तो उसके स्वास्थ्य की जांच कराई जाएगी। ... और पढ़ें

नए सत्र में भी एनसीसी शुरू होने की उम्मीद नहीं

नए शिक्षा सत्र 2020-21 में भी श्रीदेव सुमन विवि से संबद्ध राजकीय महाविद्यालयों और स्ववित्त पोषित कॉलेजों में एनसीसी शुरू होने की उम्मीद नहीं है। क्योंकि एनसीसी निदेशालय से विवि को सीटें आवंटित नहीं हो पाई है। अब विवि के अधिकारी लॉकडाउन खुलने के बाद एनसीसी निदेशालय को दोबारा से प्रस्ताव भेजने की बात कहकर जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ रहे हैं।
श्रीदेव सुमन विवि 2012 में अस्तित्व में आ गया था। गढ़वाल मंडल के सभी 52 राजकीय महाविद्यालयों के अलावा 132 स्ववित्त पोषित कॉलेज श्रीदेव सुमन विवि से संबद्ध है, लेकिन संबद्ध कॉलेजों में एनसीसी शुरू करने के मामले में विवि प्रशासन एक कदम भी आगे नहीं बढ़ पा रहा है। विवि से संबद्ध कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राएं लगातार एनसीसी शुरू करने की मांग उठाते आए हैं। क्योंकि एनसीसी प्रमाणपत्र धारक छात्र-छात्राओं को विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं और भारतीय सेना में भर्ती होने पर वेटेज अंक मिलते हैं।
छात्रों की मांग पर गत वर्ष विवि प्रशासन ने संबद्ध सभी कॉलेजों से सीटों का प्रस्ताव मांगा था। विवि की ओर से एनसीसी निदेशालय को दो हजार सीटें आवंटित करने का प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन निदेशालय को प्रस्ताव भेजने के बाद विवि प्रशासन ने खास दिलचस्पी नहीं दिखाई। विवि प्रशासन की इस लचर कार्य प्रणाली का खामियाजा छात्र-छात्राओं को भुगतना पड़ रहा है।
एनसीसी निदेशालय को दो हजार सीटें विवि को आवंटित करने का प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन जवाब नहीं आया। कुलपति ने दोबारा प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए हैं। लॉकडाउन खुलने के बाद विवि दोबारा से एनसीसी निदेशालय को पत्राचार करेगा।
-डा. हेमंत बिष्ट, क्रीड़ा समन्वयक श्रीदेव सुमन विवि
... और पढ़ें

कोविड-19 प्रबंधन टास्क फोर्स समिति गठि

जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन ने कोविड-19 प्रबंधन टास्क फोर्स समिति का गठन किया है। समिति में 13 जिला स्तरीय अधिकारियों को शामिल कर उन्हें कोरोना संक्रमण काल में जरूरी उपाय और शासन की ओर से निर्गत आदेशों के क्रियान्वयन करने की जिम्मेदारी सौपी गई।
डीएम डा. वी षणमुगम ने बताया कि टास्क फोर्स समिति में जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के अलावा डीएफओ टिहरी वन प्रभाग, सीएमओ, एसडीएम सदर, डिप्टी सीएमओ, सीएमएस जिला अस्पताल, जिला आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी, जिला होम्योपैथिक अधिकारी, जिला मलेरिया अधिकारी, एपिडेमियोलॉजिस्ट, सीएमओ टीएचडीसी अस्पताल बीपुरम और जिला युवा कल्याण अधिकारी शामिल हैं। डीएम ने टास्क फोर्स समिति को कोविड-19 की गाइड लाइन के अनुसार कांटेक्ट ट्रेसिंग, कंटेनमेंट जोन का निर्धारण, प्रश्नगत क्षेत्र को प्रतिबंधित करने, सैंपलिंग और टेस्ट रिपोर्ट का मैनेजमेंट, ट्रीटमेंट के लिए उच्च चिकित्सा संस्थान से समन्वय, ट्रीटमेंट के बाद रोगी को अवमुक्त करने की कार्रवाई सहित परिवहन व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। ब्यूरो
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us