विज्ञापन
विज्ञापन
दीर्घकाल से चल रहें मुकदमें होंगे समाप्त, आज ही बुक करें कामाख्या देवी मंदिर में विजय दशमी की विशेष पूजा !
Navratri Special

दीर्घकाल से चल रहें मुकदमें होंगे समाप्त, आज ही बुक करें कामाख्या देवी मंदिर में विजय दशमी की विशेष पूजा !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पैतृक घर के अवशेष देख पसीजा एनएसए अजीत डोभाल का दिल, कहा- गांव में बनाएंगे पुस्तैनी घर, तस्वीरें

नवरात्र पर कुलदेवी की पूजा के बाद एनएसए अजीत डोभाल ने गांव वालों के सामने जाहिर की ये इच्छा

नवरात्र के पावन पर्व पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एनएसए अजीत कुमार ने पत्नी संग अपनी कुलदेवी बालकुमारी देवी की पूजा अर्चना की।

पत्नी संग उत्तराखंड पहुंचे एनएसए अजीत डोभाल, तस्वीरों में देखें उनके दौरे की प्रमुख झलकियां

शनिवार को एनएसए अजीत डोभाल उत्तराखंड के पौड़ी जिले में स्थित अपने पैतृक गांव घीड़ी पहुंचे। यहां उन्होंने नवरात्र के मौके पर अपनी कुलदेवी की पूजा की।

पूजा के बाद वह गांव वालों से मिले और उनका हालचाल जाना। वह यहां अपनी पत्नी के साथ पहुंचे थे और उनका ये निजी दौरा था।

वह करीब ढाई घंटे तक गांव में रुके और ग्रामीणों से बातचीत की। एनएसए बनने के बाद अजीत डोभाल का अपने पैतृक गांव में यह तीसरा दौरा रहा। 

पूजा के बाद एनएसए डोभाल ने ग्रामीणों से बात करते वक्त गांव में अपना घर बनाने की इच्छा भी जताई। उन्होंने चाय की चुस्कियों के साथ ग्रामीणों से बात की। इस दौरान ग्रामीणों ने भी उन्हें अपनी समस्या बताई। ... और पढ़ें

इस बार कड़ाके की सर्दी लाएगा ला नीना, वैज्ञानिक लगा रहे अनुमान, तीन-चार दिन में मौसम लेगा करवट

इस बार मौसम पर ला नीना का प्रभाव रहेगा और कड़ाके की ठंड होगी। हालांकि अभी तापमान सामान्य से अधिक है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि सप्ताह भर बाद मौसम में बदलाव होना शुरू हो जाएगा।

शुष्क मौसम के कारण पिछले चार पांच साल के बाद इस बार अक्तूबर में दिन का तापमान नार्मल से एक से तीन डिग्री ज्यादा चल रहा है। रात का तापमान एक दो दिन से कम हुआ है। मौसम वैज्ञानिकों का मानना है कि तीन-चार साल में ऐसा होता है।

मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के वैज्ञानिक रोहित थपलियाल ने बताया कि एक सप्ताह बाद न्यूनतम तापमान दो डिग्री नीचे जा सकता है। पर्वतीय जनपदों में तीन-चार दिन में हल्की बारिश और ऊंचाई वाली जगहों पर बर्फबारी भी हो सकती है। 
 
... और पढ़ें

शारदीय नवरात्र 2020 : अष्टमी व नवमी आज, मंदिरों और घरों में किया जा रहा कन्या पूजन

शारदीय नवरात्र की अष्टमी व नवमी आज मनाई जा रही है। इस दौरान सुबह से ही घरों और मंदिरों में कन्या पूजन किया गया। अष्टमी सुबह 6 बजकर 57 मिनट तक रही। नवरात्र में कन्या पूजन श्रेष्ठ माना जाता है। वहीं, शुक्रवार को कुछ श्रद्धालुओं ने अष्टमी का व्रत रखा और कन्याएं जिमाई गईं।  

श्री पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर में शनिवार को अष्टमी मनाई जा रही है। 25 की सुबह नवमी कन्या पूजन होगा, साथ ही नवरात्र का समापन होगा। इस दौरान दिगंबर भागवत पुरी, दिलीप सैनी, सुनील अग्रवाल, रामस्वरूप यादव, रिंकू शर्मा, राजकुमार गुप्ता, संजय कुमार गर्ग व अन्य उपस्थित रहे। 

ज्योतिषाचार्य विजेंद्र प्रसाद ममगाईं ने कहा कि अष्टमी की कन्या पूजन सुबह सात बजे तक किया जा सकता है। इसके बाद नवमी तिथि शुरू हो गई है। कन्या पूजन में 09 कन्याओं को भोज व दक्षिणा देना पुण्यकारी होता है। इन कन्याओं को दुर्गा के नौ अवतार के रूप में माना जाता है।
... और पढ़ें

अमर उजाला एक्सक्लूसिव: उत्तराखंड में अब सिंगल यूज प्लास्टिक पर शिकंजे की तैयारी

घरों और मंदिरों में किया गया पूजन
कोरोना काल के ठहराव के बाद अब उत्तराखंड सरकार सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग पर सख्त कदम उठाने की तैयारी में है। पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इसकी नियमावली करीब-करीब तय कर ली है। यह प्रस्ताव जल्द ही कैबिनेट में आएगा।

बोर्ड से मिली जानकारी के मुताबिक सिंगल यूज प्लास्टिक की रोकथाम के लिए विस्तृत दिशा निर्देेश तैयार किए गए हैं। मौजूद व्यवस्था में खासे झोल हैं। अपील की व्यवस्था नहीं है और यह भी स्पष्ट नहीं है कि किस प्लास्टिक को किस तरह से प्रतिबंधित किया जाएगा।

इसी तरह जुर्माने की व्यवस्था पर भी तस्वीर साफ नहीं है। बोर्ड ने इन सब मामलों को देखते हुए व्यापक स्तर पर तैयारी की है। बोर्ड के सूत्रों के मुताबिक मामला कैबिनेट में आएगा और उसमें जुर्माने की दर से लेकर अधिकारियों की जिम्मेदारी, अधिकार आदि तय किया जा सकता है। बोर्ड के सचिव एसपी सुबुद्धि ने नियमावली तैयार किए जाने की पुष्टि की है।
... और पढ़ें

Corona in Uttarakhand: 288 नए संक्रमित मिले, 14 की मौत, 60 हजार के करीब पहुंची मरीजों की संख्या

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 288 नए संक्रमित मिले हैं। तीन दिन के बाद संक्रमित मामलों की संख्या तीन सौ से नीचे रही है। वहीं, 518 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद घर भेजा गया है। कुल संक्रमितों की संख्या 60 हजार के करीब पहुंच गई है। वहीं, 53718 मरीज ठीक हो चुके हैं। 

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, शुक्रवार को 12363 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव मिली है। ऊधमसिंह नगर जिले में सबसे अधिक 62 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। देहरादून में 44, पौड़ी में 41, नैनीताल में 33, रुद्रप्रयाग में 26, हरिद्वार में 17, उत्तरकाशी में 14, बागेश्वर में 13, चमोली में 10, टिहरी में 12, चंपावत में सात, अल्मोड़ा में पांच और पिथौरागढ़ जिले में चार कोरोना संक्रमित मामले सामने आए हैं। संक्रमित मरीजों की संख्या 59796 हो गई है। 


यह भी पढ़ें: 
हरिद्वार : अब 235 बेड का होगा जिला महिला अस्पताल, एनएचएम ने दी स्वीकृति

प्रदेश में आज 11 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। इसमें एम्स ऋषिकेश में दो, दून मेडिकल कॉलेज में एक, हिमालयन हॉस्पिटल में एक, महंत इंदिरेश हॉस्पिटल में दो, जिला अस्पताल ऊधमसिंह नगर में एक, जिला अस्पताल बागेश्वर में एक, सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में दो और एचएनबी बेस हॉस्पिटल श्रीनगर में एक मरीज ने दमतोड़ा है। इन्हें मिला कर मौत का आंकड़ा 979 पहुंच गया है। 
... और पढ़ें

अल्मोड़ा के  इस ‘गुरुकुल’ में तैयार हो रहे सेना के अफसर, निर्धन मेधावी छात्रों को विशेष प्राथमिकता

Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X